July 16, 2024
bhabhi-ne-call-boy-se-bur-chudai-krwai-part-2

आज की कहानी में पढ़ें : भाभी ने कॉल बॉय समझ कर मुझ से भाभी ने बुर चुदाई करवाई पार्ट-2

हेलो दोस्तो, मेरा नाम जतिन है, और मेरी उमर 25 है। मैं दिल्ली से हूं. अगर कोई दिल्ली और नोएडा या कहीं और जगह से है, और अगर सेक्स में दिलचस्पी हो, तो मैसेज करे मेल पे। और कोई लेस्बियन लड़की है, और उसको लेस्बियन लड़की चाहिए, तो भी मेल पे मैसेज कर सकता है। और फीडबैक जरूर देना।

पिछली कहानी में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने सोहनी को नंबर दिया, और फिर उसने मुझे कॉल करके बात की। फिर उसने मुझे मिलने के लिए उसके घर पर बुलाया। वाहा वो मेरे साथ फ़्लर्ट करने लगी। और हां दोस्तों, सोहनी के बारे में बता दूं। उसका फिगर 36-32-34 है. उसके स्तन बहुत ही रसीले हैं, मानो के आम जैसे।

पिछला भाग पढ़े:- भाभी ने कॉल बॉय समझ कर मुझ से भाभी ने बुर चुदाई करवाई पार्ट-1

अब मेरे बारे में बता दूं। मेरा नाम जतिन है, और मेरी उमर 25 है, और मैं एमएनसी में काम करता हूं। मेरी बॉडी भी काफ़ी हॉट है, और लंड का साइज़ 6.5 इंच है।

मैं: हां आज तुझे रंडी की तरह चोदूंगा. पूरी नंगी करके चोदूंगा. अगर आज तेरा बाप भी आ गया, फिर भी उसे सामने चोदूंगा रंडी को।

फिर मैं उसके स्तन मसलने लगा, और होठों पर चुंबन करने लगा। दोस्तों क्या बताउ कि क्या होंथ द उसके। पूरी माल लग रही थी. ऐसा मन कर रहा था, कि होठों को काट के खा जाउ। उसके होंठ मानो गुलाब के फूल की तरह नरम-नरम थे। उसकी कमर गदरायी हुई थी.

अगर कोई देख भी ले, तो भी वही उसका स्पर्म छूट जाएगा। क्या बताउ दोस्तों, क्या माल लग रही थी भाभी। उफ्फ्फ भाभी का गदराया हुआ बदन. हाय-हाय ऐसा मन कर रहा था, कि आज इसके सारे छेदों में मेरा स्पर्म भर दो।

मैं: भाभी तुम बहुत हॉट और सेक्सी लग रही हो। बॉलीवुड की हीरोइन भी तुम्हारे सामने फेल है जानेमन।

भाभी: भाभी नहीं सोहनी बुलाओ तुम.

फिर मैं ज़ोर-ज़ोर से स्तनों को दबाने लगा, और निपल्स को लॉलीपॉप की तरह चुनने लगा। मेरी जिहब बाहर निकल कर पागलों की तरह चूस रहा था।

भाभी: आह्ह धीरे करो, आज ही सब चूस लोगे क्या?

मैं: अरे सोहनी, मेरा मन तो कर रहा है कि घोड़ी बना के यहीं चोद दू तुझे। और ऐसा चोदु कि कल सुबह तू चलने के लायक ना रहे। घोड़ी बना के कमर पकड़ के रंडी की तरह। एक हाथ स्तन पर, दूसरा हाथ गले पर, मेरा लंड तुम्हारी चूत फाड़ता हुआ, और तुम्हारी गर्दन पर चुंबन करते हुए। सोचो सोहनी, आज तुम कैसे चुदोगी आह्ह।

भाभी: आह्ह ओह्ह जानेमन ऐसी बातें करते हो. मैं कहि यहीं न झड़ जाउ। मेरी चूत गीली नहीं पूरी भर चुकी है। अब ना तड़पाओ. दाल दो तुम्हारा खड़ा लंड, और फाड़ दो इस रंडी चूत को। बहुत दिनों से नहीं चुदी है. प्लीज जतिन, प्लीज जतिन, चोदो मुझे घोड़ी बना के चोदो। अब और इंतज़ार नहीं कर सकती मैं।

फिर मैं सोहनी को उठा के बिस्तर पर ले गया, और वहां जाकर फेंक दिया। फ़िर उसके ऊपर जा कर किस करने लगा। वो मुझे किस करने लगी, और मैं एक हाथ से उसकी चूत मसलने लगा। वो सिस्कारियां लेने लगी.

भाभी: जतिन ऐसे ही चोदो. और करो ना जान.

फिर मैंने एक-दम से मेरी 2 उंगलियां उसकी चूत में डाल दी। इसे वो उछल पड़ी और चिल्लाई-

भाभी: आह्ह ओह्ह धीरे जतिन.

पर मैंने उसकी परवा ना करते हुए उंगलियां तेजी से अंदर-बाहर करने लगा।

मैं: अब धीरे-धीरे नहीं. तुझे रंडी की तरह चोदना था ना, ले अब। मेरे लोडे से पहले मेरी उंगलियों का मजा चख। ले छिनाल, रंडी बहनचोद.

भाभी: मादरचोद अपनी बहन को भी ऐसे ही चोदता है क्या? कितनी ताक़त है तेरे अंदर. ये लंड बहुत तगड़ा है. आज तक ऐसा लंड मुझे कभी नहीं मिला। चोदो, और ज़ोर से चोदो. मेरी गांड फाड़ दो. खून निकाल दो मादरचोद साले.

मैं: बहन का तो पता नहीं पर तुझे बहन की लोड़ी बना के जरूर चोदूंगा। आज तुझे सारा सुख दूंगा. ऐसा सुख जो तेरे पति ने भी कभी तुझे दिया नहीं होगा। चोद मेरे लंड से, और ले मजा. जब तक तुम जैसी औरतों की ऐसे ना छोड़ो, तब तक तुम लोगों को मजा कहां आता है। लेले और ले. आज तुझे कुतिया बना के चोदूंगा. बाल पकड़-पकड़ के चोदूंगा आह्ह सोहनी.

भाभी: हा चोद और ज़ोर से चोद. छुट चाहे फट जाये, खून निकल जाये, पर तू रुकना नहीं। चोद डाल इस रंडी चूत को. मादरचोद साले, कुतिया की तरह चोद. दिखा आज तेरे अंदर कितनी ताकत है। दिखा तेरी मर्दंगी आज.

फिर मैंने सोहनी को लिटा दिया, और जाँघों पर किस करने लगा। उसके स्तनों के निपल्स को पिंच करने लगा। फ़िर उसकी चूत पर चाटना चालू किया। आह, क्या चूत थी उसकी. मजा ही आ गया मुझे. गुलाबी दाना था उसका. मैं तो कुत्ते की तरह चाट रहा था उसकी चूत को।

भाभी: आह्ह ऐसे ही चाटो ना जान, चाटो. चाट-चाट कर साफ कर दो. प्लीज़ मत छोड़ो मुझे, आज मेरी चूत को चाट-चाट कर साफ़ कर दो जतिन।

मैं उसकी चूत चाट रहा था, और एक उंगली डाल कर अंदर बाहर भी कर रहा था आह। फिर मैं उठा, और उसको किस किया, घोड़ी बनाया, और मेरा लंड सेट करने लगा।

भाभी: और मत तड़पाओ प्लीज़ जतिन, अब डाल भी दो ना।

मैं: नहीं जान, आज तुझे नहीं चोदूंगा।

भाभी: अरे क्यों, प्लीज जतिन. मुझे जहां चोदना है चोदो, पर चोदो. मुझे और मत तड़पाओ. रंडी की तरह चोदो. मार-मार कर चोदो, पर चोदो अपनी रंडी को।

इतना बोलते ही मैंने उसकी चूत में एक दम से लंड डाल दिया। इसे वो चीख उठी, और ज़ोर की आवाज़ निकाल दी जतिन की।

मैं: ले अब ले. आज तू गई रंडी.

फिर मैंने धीरे-धीरे स्पीड तेज़ की, और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा। कुछ 5 मिनट में चोदने के बाद मैंने पोजीशन चेंज की, और फिर मिशनरी में लाया उसको। उसके बाद मैंने उसे लंड चुसवाया. फिर लंड थोड़ा चटवाने के बाद फिर से सेट किया, और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा।

भाभी: चोदो जान, और चोदो. फाड़ दो इसे. अब ये चूत तुम्हारी ही है.

फिर वो शेक करने लगी, और बोलने लगी: मैं झड़ने वाली हूं।

उसके बाद वो चिल्लाते हुए झड़ गई। उसका चिल्लाना देख कर मैं भी झड़ गया। लेकिन उसके मुँह में। फिर कुछ देर तक हम ऐसे ही लेते रहेंगे। हमने पूरी रात 3-4 राउंड किये.

ये मेरी कहानी है. अब अगले हिस्से में पढ़ें कि कैसे मैंने उसकी एक दोस्त को पटाया, और फिर हमने तीनो ने Threesome sex किया।

क्या भाभी ने बुर चुदाई करवाई पार्ट2 कहानी पर फीडबैक जरूर देना, और कोई लड़की या भाभी या आंटी और कोई लेस्बियन हो, वो मैसेज कर सकते हैं मेरी आईडी पर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escort

This will close in 0 seconds