July 9, 2024
Janmdin pr Chhoti behan ki chudai

आज की में पड़े जन्मदिन पर छोटी बहन की चुदाई करके दोस्त ने जन्मदिन का तोफा दिया और छोटी बहन की विर्जिनिटी तोड़ दी।

मेरा आप सभी प्रिय चूतधारी और लंडधारी पाठकों को नमस्कार। आशा है कि आप मेरी पिछली कहानी को पढ़ कर आनन्द ले चुके है। और ये मेरी सगी बहन की जिंदगी में घटी सच्ची घटना है। जब उसने मुझसे ये बात शेयर की, तो मुझे उस लड़के पर बहुत गुस्सा आया। गुस्सा तो आया पर वो हाथ ना आया।

मैंने सोचा कि ये कहानी मुझे सांझा करनी चाहिए। दरअसल बात तब की है, जब सोनिया बारहवीं पास करके इंजीनियरिंग करने को बोली। तो उसका दाखिला मेरठ के एक जाने-माने कालेज में हो गया। मैं और सोनिया दोनो खुले विचारों के हैं, क्योंकि दोनों ने पहली चुदाई जयपुर में की थी। तब से सोनिया मेरी और मेरे लंड की दीवानी थी। फिर हमने दूसरी बार चुदाई गांव मे खेत में की थी। जल्द ही वो कहानी भी आपके सामने प्रस्तुत करूंगा।

सोनिया दिखने में गोरी-चिट्टी, 5 फीट 11 इंच की भारी भरकम शरीर वाली लड़की है। उसके फिगर की बात करूं तो 32-28-32 का होगा। पपीते के आकार की एक-दम टाईट चूचियां, पतली कमर, कद्दू जैसी गांड और गठीला छरहरा बदन, और गदराई जवानी जिसे देख अच्छे अच्छे मुट्ठ मार देते थे।

गांव में तो बड़े बुजुर्ग भी सोनिया की चुदाई को लेकर बात करते थे, कि किस्मत वाला होगा वो जिससे ये साली चुदेगी। कोई-कोई अंकल बोलते थे कि अगर ये मुझे मिल जाए तो मैं आफिस की छुट्टी लेलूं, और इसे जी भर कर चोदूं और अपनी रानी बना कर रखूंगा। बहुत लोग बहुत कुछ कहते थे। पर मैं सीधे कहानी पर आता हूं।

कालेज में सोनिया का पहला दिन था। सोनिया ने ब्लैक कुर्ती और ब्लू जींस पहन रखा था। जिसमें सोनिया को देख कर उसके फिगर का अंदाजा कोई भी लगा सकता था। तो क्लास में पहुंचते ही सब आपस में बात कर रहे थे, और एक-दूसरे के बारे में पूंछ रहे थे।

लड़के सभी लड़कियों से बात कर रहे थे, पर किसी की इतनी हिम्मत नहीं थी कि कोई सोनिया से बोल सके। क्योंकि वो इतनी सुन्दर दिखती है कि कोई भी यही सोचता कि इसका तो ब्वायफ्रेंड होगा ही। वो दिन वैसे ही बीत गया।

फिर धीरे-धीरे 9-10 दिन बीत गए, और सोनिया भी थोड़ा बहुत सबसे बात करने लगी थी। तभी एक दिन नोटिस आया कि फ्रेशर पार्टी होने वाली थी। फिर एक दिन क्लास में सीनियर आए तो सबसे सब कुछ पूछे कि तुम कुछ परफार्म करना चाहते हो सब अपना बताए कि करना है नहीं करना है, पर सोनिया शांत थी।

तभी अंकित नाम का एक सीनियर सामने आया जो बहुत अमीर और खतरनाक लड़का था कालेज का। उसने सोनिया का नाम पूंछा तो सोनिया ने बताया। फिर कुछ बातें करके सब चले गए।

दूसरे दिन शाम को रोहित सोनिया से मिला और बोला: तुम Readxstories बनने के लायक हो। तुम इतनी सुन्दर हो कि ऐसे ही जीत जाओगी। पर सोनिया तैयार नहीं हुई और फिर सोनिया रोहित से दूर भागने लगी।

फिर फ्रेशर पार्टी के दिन सब लड़कियां कोई लहंगा, कोई साड़ी, कोई कुछ कोई कुछ पहन कर निकली, और सब लड़के लड़कियों पर लाईन मार रहे थे। क्योंकि अभी नहीं बनी गर्लफ्रेंड तो चांस कम रहता था बनने का, क्योंकि सभी पट जाती है। फिर सोनिया भी ब्लैक साड़ी में निकली। भाई साहब क्या कहर ढा रही थी। अधिकतर की नजर सोनिया पर चली गई।

फिर जब रोहित ने देखा तो उसके मुंह से अपने आप तारीफ निकलने लगा: हाय क्या कमर है, यार और फिगर तो देखो।क्या गदराई जवानी है यार एक-दम रपचिक माल है। भाभी मिल गयी तुम सबको रे (रोहित तेज से बोला)।

तभी उसका दोस्त शुभम बोला: क्या माल पसन्द किए हो बे, एक-दम मजा बांध देगी।

रोहित ने तुरन्त बोला: ये मेरी वाली है तुम सब अपनी ढूंढ लो। और अब इसे कोई नहीं देखेगा।

तभी शुभम बोला: क्या यार रोहित, देखने भी नहीं दोगे यार, चोदने थोड़ी ना रहा हूं उसे। चोदना तुम ही भाई।

तभी सभी बोले: हां रोहित भाई, तुम चोदो, खाओ, पर हम सब को देखने से मना ना करो यार।

तभी रोहित बोला: अगर दोस्त ना होते तुम सब तो अब तक मार देता। पर आगे से ध्यान रहे ये शब्द मत बोलना उसे।

तभी शुभम बोला: भाई अभी तो तेरी हुई भी नहीं और अभी से हक जमा रहा है। देख कहीं कोई और ना ले जाए।

तभी रोहित बोला: इतनी किसी की हिम्मत नहीं कि कोई उसके पीछे पड़े। और सब को बता दो कि उसे कोई भी पटाने की कोशिश ना करे। वो रोहित की अमानत है।

फिर धीरे-धीरे वक्त के साथ सोनिया और रोहित की दूरियां कम होने लगी। क्योंकि रोहित सोनिया की इन्डायरेक्टली हमेशा मदद करता था। और ये बात सोनिया को पता थी। और खुदा की रहमत तो देखो सेशनल टेस्ट में सोनिया और रोहित एक ही सीट पर बैठे थे। तो रोहित ने सोनिया को मैथ्स का एक प्रश्न बताया, जो सोनिया को नहीं आ रहा था‌। तो सोनिया ने उस दिन थैंक्यू बोला।

और फिर हर टेस्ट में दोनो हंस-हंस कर बातें करते और नजदीकियां बढ़ती गयी। फिर एक दिन सोनिया को रोहित ने चाय पर बुलाया और वो चली गयी। तो उस मोबाईल नम्बर शेयर हुआ और दोनों अब बातें करने लगे। रोहित बीच-बीच में फ्लर्ट भी करता था, तो सोनिया मुस्कुरा देती थी।

अब रोहित को एहसास होने लगा कि सोनिया पट गयी थी, और कुछ दिन में सोनिया का जन्मदिन आ गया। रोहित ने एक बड़ी पार्टी दी और सोनिया को एक खूबसूरत सा ड्रेस गिफ्ट किया और फिर केक खिलाया और डिनर साथ में किया।

रोहित को अब लगने लगा कि सोनिया अब खुल गयी थी, अब मौका था उसे प्रपोज करने का। तभी एक लड़का जिसे खुद रोहित ने बोला था ऐसा करने को, तांकि वो सोनिया की नजर में हीरो बने, उस लड़के ने सोनिया को प्रपोज कर दिया। सोनिया गुस्से में उसे एक थप्पड़ मार दी और फिर अपसेट हो गयी। तो रोहित सोनिया को सांत्वना देने लगा, और फिर सोनिया को कंधे से पकड़ कर उसे बोला-

रोहित: चलो रूम पर चलते हैं।

फिर सोनिया को कंधे पर पकड़ कर अपनी कार तक लाया और कार का गेट बन्द कर दिया और बोला-

रोहित: चलो कहीं घूमने चलते हैं।

और कार से सोनिया को मसूरी लेकर निकल गया। सोनिया भी बिना कुछ सोचे समझे उसके साथ चली गयी, उसे नहीं पता था कि आगे उसके साथ क्या होने वाला था।

फिर मसूरी जाकर रोहित ने एक होटल में रूम बुक किया और बोला: अभी यहीं सो जाते हैं सुबह घूमने चलते हैं।

तो सोनिया बोली: तुम कितना ख्याल रखते हो। मैं चाहती हूं मेरा पति तुम्हारे जैसा ही रहे।

रोहित ने मौका देख बोला: मुझे ही बना लो।

तो सोनिया बोली: तुम पागल हो।

और गुड नाईट बोल कर सोने जाने लगी। तभी रोहित उसके पास आया और गले मिलने के लिए आगे बढ़ा, तो सोनिया भी थैंक्स फार एव्रीथिंग बोल कर गले मिलने लगी। तब तक रोहित ने अपना होंठ सोनिया के होंठ पर रख दिया, और सोनिया ने तुरन्त मुंह हटा लिया।

फिर वो रूम से बाहर आई और टैक्सी बुक करके कालेज आ गयी। अब रोहित और सोनिया की बातें बंद थी, और दूरियां बढ़ने लगी थी।

1 महीने बाद रोहित का बर्थडे था, तो रोहित के दोस्तों ने और लड़कियों ने भी बहुत समझाया तो वो मान गयी, और रोहित से बात की। फिर बर्थडे वाले दिन सोनिया को रोहित ने इन्वाईट किया, और इधर रोहित शुभम से बोला-

रोहित: कुछ भी हो सोनिया को उस दिन चोदना है किसी भी कीमत पर। उसका वीडियो भी बनाएंगे।

तो शुभम बोला: मेरा क्या फायदा?

तो रोहित समझ गया और बोला: एक बार मैं उसे जी भर कर चोद लूं। फिर तुम भी चोद लेना।

तो शुभम मान गया और दोनों ने फ्लैट में हिडेन कैमरा फिट करवा दिया। जन्मदिन वाले दिन सोनिया कुर्तो और जींस पहनी थी। एक-दम जवानी झलक रही थी, पर उसे क्या पता कि आज उसकी जवानी लूटी जाएगी, और उसके जिस्म को नोचा जाएगा, और आज वो कली फूल बनेगी। इसका अंदाजा केवल रोहित और शुभम को था।

अब केक काटा गया और फिर रोहित ने केक काटने के बाद सबसे पहले सोनिया को खिलाया। फिर सोनिया के चेहरे पर केक लगाने के लिए हाथ बढ़ाया तो सोनिया अपना चेहरा छुपाने लगी, और रोहित ने जबरदस्ती लगाने को सोचा, तो रोहित के हाथ सोनिया के मखमली पपीते के आकार के बूब्स पर चले गए और केक कपड़े के ऊपर ही लग गया। तो सोनिया गुस्सा हो गयी।

फिर वहां पर आए सभी दोस्त केक वगैरह खाकर जाने लगे। पर सोनिया अभी भी गुस्से में थी, और फिर सभी अपने-अपने हास्टल और अपार्टमेन्ट में चले गए। चूंकि सोनिया को रोहित ही अपार्टमेन्ट तक छोड़ता, तो वो अभी रूम में थी। फिर रोहित ने खाना निकाला और सोनिया से माफी मांगी और फिर सोनिया को मना कर खाना खिलाया। तब तक रात के 11 बज गए थे।

फिर सोनिया ने बोला: मुझे भी छोड़ दो मेरे अपार्टमेंट तक।

तो रोहित बोला: हां कुछ देर रूको, छोड़ देता हूं।

फिर सोनिया शान्त होकर बैठ गयी, और मौका देख कर रोहित ने सोनिया को प्रपोज कर दिया। तुरन्त सोनिया को फिर गुस्सा आ गया और बोली-

सोनिया : तुम पागल हो क्या? मुझे प्यार पर भरोसा नहीं।

तभी रोहित सोनिया के कंधे को पकड़ कर कुछ समझाने को सोचा, तो सोनिया ने बिना कुछ सोचे रोहित को एक थप्पड़ जड़ दिया।

तो रोहित ने बोला: बहुत अच्छा गिफ्ट दी हो आज मेरे जन्मदिन पर।

और उसके आंख में मगरमच्छ के आंसू आ चुके थे। क्योंकि रोहित का प्लान पहले से ही फिक्स था कि अगर पहला प्लान फ्लाप हुआ तो दूसरा, नहीं तो तीसरा। पर रोहित का दूसरा प्लान काम करने लगा और सोनिया कुछ देर सोची और फिर रोहित से कान पकड़ कर माफी मांगने लगी।

वो बोली: मैंने जान-बूझ कर ये नहीं किया।

इतना सुनते ही मौका देख कर सामने खड़ी सोनिया को रोहित कस कर पकड़ लिया, और अपने सीने से चिपका लिया, और अपना होंठ उसके होंठ पर रख दिया।

अब जैसे ही सोनिया रोहित की जकड़ से छूटने का प्रयास करने लगी, तो उसके बूब्स रोहित के सीने पर गुदगुदी करने लगे, और ये चीज रोहित को अच्छी लगी, और वो सोनिया को फिर से अपनी तरफ खींच लिया और कस कर जकड़ लिया। फिर वो सोनिया के होंठों का रसपान करने लगा। पर सोनिया रोहित के चंगुल से छूटने की नाकाम कोशिश कर रही थी।

फिर रोहित ने अपने दोनों हाथ सोनिया की गांड पर रख दिया और सोनिया को हल्का सा नीचे से उठा कर अपनी ओर खींचा, ताकि सोनिया को उसके मोटे खड़े लंड का एहसास हो। पर जैसे ही रोहित ने सोनिया को हल्का सा उठाया, रोहित के लंड को सोनिया की मांसल जांघों का एहसास हुआ, तो रोहित के लंड ने एक झटका देकर जोरदार सलामी दी।

इसके आगे क्या हुआ, वो आपको कहानी के अगले पार्ट में पता चलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escort

This will close in 0 seconds