July 9, 2024
paison ke badle bahan chudai

हेलो दोस्तों, मैं तुषार वापस आ गया हूं अपनी पैसो के बदले बहन की चुदाई की कहानी का दूसरा और आखिरी पार्ट लेके। उम्मीद है आप सब ने पिछला हिस्सा पढ़ा होगा। अगर नहीं पढ़ा, तो खुश जाके पहले उसको पढ़े।

पिछला भाग पढ़े:- पैसो के बदले बहन की बुर चुदाई भाग-1

पिछले हिस्से में आप सब ने पढ़ा था, कि मेरे अंदर अपनी बहन के लिए वासना भरी पड़ी थी। फिर किस्मत ने मुझे वासना को मिटाने का एक मौका दिया। मेरी बहन के हाथो किसी आदमी का एक्सीडेंट हो गया, और मैंने उसको पुलिस स्टेशन से छुड़वाने के लिए पैसे दिए।

फिर मैंने उसको पैसे वापस करने के लिए 2 दिन का समय दिया। 2 दिन बाद उसने कहा कि उसके पास पैसे नहीं हैं, तो मैंने उसको पापा को सब बताने की बात कही। फिर जब उसने मुझे गले लगाया तो मैंने उसका नुकसान दबा दिया।

वो मेरी नियत ख़राब हो गई। उसके बाद मैंने उसके सामने 2 रास्ते रखे, कि हां तो वो पैसे वापस दे, नहीं तो मैं पापा को बता दूंगा। हां वो मुझे उसके साथ सेक्स करने दे। अब आगे बढ़ते हैं.

मैं 2 रास्ते तमन्ना (मेरी बहन) के सामने रख चुका हूं। उसके चेहरे पर परेशानी थी, और वो सोच रही थी कि वो क्या करे। वो मुझसे चुदना नहीं चाहती थी. लेकिन वो भी नहीं चाहती थी कि पापा को पता चल जाए।

मैने फिर ज्यादा इंतजार नहीं किया। उसकी खामोशी को मैंने हा समझा, और उसको अपनी बाहों में भर कर अपने होठों से मिला दिया। अब मैं उसे पसंद करने लगा, और वो मुझे खुद से दूर करने की कोशिश करने लगी। मेरी पकड़ उसके जिस्म पर मजबूत थी, इसलिए वो मुझसे दूर नहीं कर पाई।

किस करते हुए मैंने उसकी गांड भी दबानी शुरू कर दी। लगातर 5 मिनट मैंने उसके लिए चुना, और फिर हमारी किस टूटी। किस इतनी ज़बरदस्त थी, कि हम दोनो हनफ रहे थे। तभी वो बोली-

तमन्ना: भैया आप गलत कर रहे हो। मैं आपकी बहन हूं.

मैं: तुम ऐसा क्यों सोच रही हो? क्या वक्त तुम एक औरत हो, और मैं मर्द। तो चलो वही करते हैं जो औरत और मर्द करते हैं।

तमन्नाः नहीं भैया…

इसे पहले वो आगे कुछ बोलती, मैंने अपने होठों पर फिर से उसके होठों पर लगा दिये। अपनी बहन के होठों को चूस कर मुझे बड़ा मजा आ रहा था। कितना रस भरा पड़ा था उसके होठों में ये मैं ही जानता हूं, जिसने चुना था।

फिर मैंने पहले ही चुना था, उसको अपनी बाहों में उठा लिया, और बिस्तर पर ले गया। मैंने उसको बिस्तर पर पटक दिया, और उसके ऊपर आके उसकी गर्दन पर चुंबन करने लगा। तमन्ना आह आह कर रही थी, और उसने अब विरोध करना बंद कर दिया था। शायद वो गरम हो चुकी थी।

फिर मैं किस करते हुए उसके पेट पर आया, और उसका टॉप उठा कर ऊपर से निकल दिया। अब तमन्ना मेरे सामने जींस और काली ब्रा में थी। क्या मस्त सेक्सी बदन था उसका. मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी, और अब उसके सेक्सी रस के प्याले मेरे सामने थे।

उसके स्तनों को देखते ही मैं उन पर झपट पड़ा। मैं पागलों की तरह उसके स्तन चुनता हूं और निपल्स काटता हूं। वो बस आह्ह आह्ह करे जा रही थी मुह साइड में करके। कुछ देर स्तन चूमने के बाद मैं नीचे चल पड़ा।

पहले मैंने उसके पालतू जानवर को चाटा और चूमा। फिर उसकी नाभि में मैंने जिभ डाल कर उसको चुना। जब भी मैं उसकी नाभि में जिभ डालता, तो वो अपना पेट एकदा लेती। वो चाहती तो नहीं थी, लेकिन जो भी हो रहा था, उसको उसका मजा जरूर आ रहा था। ये बात तब भी साबित हो गई जब मैंने उसकी जींस उतारी।

नभी चूमने के बाद मैंने उसकी जींस का बटन और ज़िप खोली, और खींच कर निकाल दिया। उसने आसमानी रंग की पैंटी पहनी थी, और पैंटी चूत वाली जगह से गीली हुई पड़ी थी। ये सबूत था, कि उसको भी गर्मी चढ़ चुकी थी, बस अब उसके खुद से हा बोलने की देर थी।

उसकी गिली चूत के ऊपर की पैंटी पर कुछ देर जीब फिरआने के बाद मैंने अपनी जीब उसकी पैंटी के साइड से उसकी चूत में डालने की कोशिश की तो

तमन्ना एकदम से मचल उठी और उसकी हल्की सी चीख निकल गई तमन्ना बोली भैया अब देर मत करो अब बस तुम डाल दो मुझसे रुका नहीं जा रहा जल्दी करो

फिर मैंने अपने दांत से खींच कर उसकी कच्ची उतार दी और उसकी चुत पर अपनी जीभ लेकर टूट पड़ा इतनी प्यारी गुलाबी चुत मैंने हाथ से पहले कभी नहीं देखी थी यहां तक कि मेरी बीवी की भी चुत ऐसी नहीं है जितनी प्यारी उसकी चुत है मैंने अपनी जीत को सिधा उसकी चूत के ऊपर तेज तेज से चटाना शुरू किया तो तमन्ना मचल गई और उसका मुंह निकलने लगे वाह बोली आप बस करो बस करो लिख मत करो सिधा मुझे छोड़ दो यह चूत लैंड की ही प्यासी है करीब 20 मिनट तक मैंने तमन्ना की चूत को चाटा और उसकी चूत का जो पानी निकला उसे पी गया उसकी चूत का पानी थोड़ा खा रहा था पर ऐसी गुलाबी चूत से तो कुछ भी निकले वाह भी ही जाऊं एफआईआर मैंने उसकी चूत पर छोटी-छोटी निकल गई एफआईआर मैंने उसके बच्चों को दबाया और उसके ऊपर एक गया

फिर मै बिस्तर से नीचे उतरा, और अपने कपड़े उतारने लगा। जैसा ही मेरा लंड कपड़ों से बाहर निकला, तो मेरा लंबा और मोटा लंड देख कर तमन्ना घबरा गई। वो फिर से मना करने लगी, लेकिन मैं कहा सुनने वाला था। मैं उसके ऊपर आके लंड उसके मुँह के पास लेके आया, और उसके मुँह में लंड घुसा दिया।

अब उससे रहा नहीं जा रहा था. उसने अपना हाथ मेरे सर पर रखा, और उसको अपनी चूत में दबाने लग गई। बड़ी स्वाद होती है बहन की चूत दोस्तों। कभी अपनी बहन की चूत चाट कर देखना। इसमे फीलिंग हाय अलग आती है। अब मेरी बहन चुदने के लिए बिल्कुल तैयार थी।

फ़िर मैं ज़ोर-ज़ोर से उसके मुँह को चोदने लगा। वो सांस नहीं ले पा रही थी, और मुझे इसमें मजा आ रहा था। कुछ देर उसका मुँह चोदने के बाद मैं नीचे उसकी टैंगो के बीच आया, और उसकी चूत पर लंड सेट किया। उसकी चूत अभी सील बंद थी, तो मैंने ज़ोर का धक्का मार कर आधा लंड अंदर घुसा दिया।

चूत की सील टूट गई, और खून निकलने लगा। लेकिन मैंने बिना परवा किये 5-6 धक्के और दिये, और पूरा लंड उसको अन्दर घुसा दिया। फिर मैं रुक गया, और उसने हमें चुना, ताकि वो चिल्लाए नहीं। कुछ देर में जब वो नॉर्मल हुई, तो मैंने लंड उसकी चूत में अंदर-बाहर करना शुरू कर दिया।

पहले-पहले तो उसको दर्द हो रहा था। लेकिन फिर उसको मजा आने लगा। वो आह्ह आह्ह करके मजे से चुद रही थी, और किस में भी पूरा साथ दे रही थी। मैंने 15 मिनट में अपनी बहन को उसी पोजीशन में चोदा। इस बीच उसका 4 बार पानी निकल आया। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला, और उसको हिलाते हुए माल की पिचकारी अपनी बहन के पेट पर निकाल दी। उस दिन के बाद से मेरी बहन मेरे लंड की मुरीद हो गई। अब मैं जब चाहे उसको चोदता हूँ।

दोस्तों ये पैसो के बदले बहन की चुदाई की कहानी यहाँ ख़तम होती है। अगर आपको कहानी पढ़ने में मजा आया हो, तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। पैसो के बदले बहन की चुदाई की कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद

अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी है? लेखक को खुश करने के लिए अपना फीडबैक जरूर दें, कमेंट सेक्शन में जरूर लिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escort

This will close in 0 seconds