July 16, 2024
Soti hui bahan ki chudai

आज की कहानी में पड़े : नशे में सोती हुई बहन की चुदाई करके चूत में वीर्य झाड़ दिया।

अपनी सोती हुई बड़ी बहन के शरीर के साथ खिलवाड़ करने वाला 19 साल का मोहित दिल्ली  के साकेत का रहने वाला है। मोहित अपनी बहन के शरीर को कामुक नज़रो से देखता था। मौका मिलने पर मोहित  ने की सोती हुई बहन की चुदाई। मोहित ने अपनी चुदाई कहानी में बताया की नशे में सोती हुए सेक्सी बहन को देखकर मन में वासना जागी और बुर चुदाई करने से अपने शरीर को नहीं रोक पाया मोहित।

मैं 12वीं कक्षा में था जब गर्मियाँ चल रही थीं। भीषण गर्मी के कारण मैं घर से बाहर नहीं निकला. मेरी बड़ी बहन एक शॉपिंग मॉल में काम करती थी।

मेरी बहन बहुत ही नाजुक स्वभाव की थी. वह दिल की साफ़ और अच्छी सोच वाली थी। जब माँ घर पर नहीं होती थी तो वह मेरा बहुत ख्याल रखती थी।

मैं भी अपनी बहन से बहुत प्यार करता था लेकिन उम्र के साथ जवानी भी बढ़ती जा रही थी। कभी-कभी मैं अपनी ही बहन के शरीर को देखकर कामुक हो जाता हूँ।

मैं जानता हूं कि मेरी बहन को इतनी गंदी नजरों से देखना अच्छी बात नहीं है, लेकिन सिर्फ मेरी ही नहीं बल्कि मेरी बहन की भी उम्र और जवानी बढ़ रही थी.

मेरी बहन लंबी और सुडौल हो गई थी और उसके लहराते सुगंधित बाल उसे और भी सुंदर बनाते थे।

जब वह अपनी शॉपिंग मॉल ड्रेस पहनती थी तो वह सबसे ज्यादा सेक्सी लगती थी।

उसकी काली टाइट जीन्स उसकी जाँघों को और भी निखार रही थी। उसकी गांड की गोलाई देख कर मेरा मन कर रहा था कि जाकर उससे चिपक जाऊं.

शॉपिंग मॉल की वह टाइट लाल टी-शर्ट मेरी बहन के मुलायम स्तनों को बड़ा दिखा रही थी।

टी-शर्ट में से झाँकते उन दो मोटे और सख्त स्तनों को देख कर मेरा मन अपनी बहन का दूध पीने का हो गया।

जब वह अपने स्तनों और कूल्हों को हिलाते हुए घर से बाहर निकलती थी तो मैं उसे देखता ही रह जाता था। फिर वह बाथरूम में जाता और कल्पना करता कि उसकी बहन उसके लिंग को सहला रही है।

एक दिन अचानक दोपहर को मेरी बहन शॉपिंग मॉल से आ गयी. माँ ने पूछा क्या हुआ तो बहन बोली मैंने आज हाफ डे लिया है बहुत थक गयी थी.

नहाने के बाद मेरी बहन ने गर्मियों के हल्के और छोटे कपड़े पहने और आराम करने के लिए अपने कमरे में चली गई।

मां- मोहित बेटा, मैं सूट सिलवाने जा रही हूं, घर का ख्याल रखना और अपनी बहन के लिए नींबू पानी बनाना, वह बहुत थक गई है.

मैंने हाँ कह दिया और माँ घर से बाहर चली गयी. घर पर मैं और मेरी बड़ी बहन ही थे.

अपना लंड खड़ा करने के लिए हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें!!

मैंने नींबू पानी बनाया और अपनी बहन के कमरे में गया.

मेरी बहन तब तक सो चुकी थी लेकिन उसे देखकर मेरा लंड फिर से जागने लगा.

मेरी बहन ने हल्के कपड़े की शॉर्ट्स पहनी थी. मुझे उसकी गोरी और मोटी गांड साफ़ दिख रही थी. साथ ही उसने ब्रा भी नहीं पहनी हुई थी जिसके कारण मुझे टी-शर्ट में से उसके स्तन दिख रहे थे।

मैंने नींबू पानी का गिलास मेज पर रखा और अपनी बहन को गौर से देखने लगा.

उसके बदन को देख कर मुझे लग रहा था कि मेरी बहन सिर्फ चोदने के लिए ही बनी है.

मैंने धीरे से अपना एक हाथ उसके स्तन पर रख दिया और हल्के-हल्के मसलने लगा।

उसके हाथों के उस कोमल एहसास ने मेरे लिंग को और भी सख्त बना दिया। मैंने अपना दूसरा हाथ अपनी बहन की शॉर्ट्स में डाल दिया.

उसकी गांड और स्तन दोनों ही एक जैसे मुलायम थे. मैं उसके बदन को छूते हुए अपना लंड हिलाने लगा.

उसके बदन से आती भीनी भीनी खुशबू मेरी वासना को हद से ज्यादा बढ़ा रही थी. मैंने अपना हाथ उसकी पैंटी में डाल दिया और उसकी चूत को सहलाने लगा.

मेरी बहन की चूत पर बहुत सारे बाल उगे हुए थे लेकिन मुझे इससे कोई परेशानी नहीं थी। मैं तो बस अपनी हवस मिटाना चाहता था.

उसकी चूत को सहलाते-सहलाते मेरी बहन की चूत से चिपचिपा तरल पदार्थ निकलने लगा.

उसकी चूत पूरी गीली और मुलायम हो गयी. मैंने धीरे से अपनी बहन की शॉर्ट्स और पैंटी उतार दी और उसकी चिकनी और मलाईदार चूत में उंगली करने लगा।

जैसे ही मैं अपनी बहन को चोद रहा था, वह नींद में जोर-जोर से सांस लेने लगी।

फिर अचानक उसने करवट बदल ली और मैं रुक गया.

मैं डर गया और सोचने लगा कि अगर वह जाग गई और मुझे यह सब करते हुए देख लिया तो क्या होगा?

लेकिन उसकी चूत से टपकते रस ने मुझे मोहित कर लिया. मैं फिर से उसकी चूत में उंगली करने लगा और साथ में अपना लंड भी हिलाने लगा.

मेरी बहन नींद में मुस्कुरा कर मुझे सेक्स करने का निमंत्रण देने लगी.

मैं धीरे से अपनी बहन के पीछे लेट गया और धीरे-धीरे अपना लंड उसकी गुलाबी चूत में डालने लगा।

उसकी चूत के गर्म अहसास ने मुझे अपने कूल्हे हिलाने पर मजबूर कर दिया। मैंने अपने लिंग को शाफ्ट के साथ अंदर-बाहर करना शुरू कर दिया और मेरी बहन नींद में कराहने लगी, “आअहह मम्म आअहह।”

मेरा जोश बढ़ गया और मैंने अपनी बहन को पकड़ लिया और तेजी से चोदने लगा.

तभी मेरी बहन की आँखें फैल गईं और उसने मेरा हाथ अपने स्तनों पर देखा।

मुझे पता ही नहीं चला कि वो जाग रही है और मैं उसे चोदता रहा.

मैं अपनी बहन की चूत को जो चुदाई का मजा दे रहा था, उसकी वजह से मेरी बहन भी मेरा साथ देने लगी.

जब वो आगे पीछे होने लगी तो मुझे एहसास हुआ कि वो जाग रही है.

ये देख कर मैंने अपने कूल्हे हिलाना बंद कर दिया और दिमाग़ सुनने लगा. यह सोच कर मेरे हाथ ठंडे हो गए कि अब मेरी बहन क्या करेगी? और अगर पापा-मम्मी को पता चल गया तो?

तभी मेरी बहन ने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी टी-शर्ट के अन्दर डाल दिया और अपने मम्मे मुझसे दबवाने लगी.

वो धीमी और शर्मीली आवाज़ में बोली, रुक क्यों गये, मुझे तो अच्छा लग रहा था.

उस वक्त मुझे समझ नहीं आया कि क्या करूं. फिर मेरी बहन अपनी गांड को आगे-पीछे करने लगी और मेरे लंड को चोदने लगी.

ये सब देख कर मेरा लंड फिर से फूल गया और मैं अपनी बहन के मम्मों को पकड़ कर जोर जोर से दबाने लगा और उसकी चूत चोदने लगा.

चुदाई के दौरान मेरी बहन ने एक बार भी पीछे मुड़कर नहीं देखा और अपने शरीर को बेजान करके अपनी रसीली गांड मुझसे चुदवाती रही.

दीदी (धीमी आवाज में)- अह्ह्ह अह्म्म्म अह्ह्ह.

मेरी बहन के मुँह से ‘आह’ के अलावा कोई शब्द नहीं निकला. वह जानती थी कि एक भाई-बहन सेक्स नहीं कर सकते लेकिन उसकी रसीली चूत ने उसे भी मजबूर कर दिया।

कोई 15 मिनट बाद मैं झड़ने वाला था. मैंने अपना लंड उसकी चूत से बाहर निकाला और जैसे ही मैं झड़ने वाला था, मेरी बहन ने अपने पीछे वाले हाथ से उसे पकड़ लिया और हिलाने लगी.

मेरे सख्त लिंग पर वो बड़ी-बड़ी नसें मेरी बहन को उसके हाथों में ऐसा अहसास दे रही थीं कि वो कभी नहीं भूलेगी।

मेरा सारा माल उसकी गांड पर चिपक गया और वो उसे सहलाने लगी.

उत्तेजना कम होने के बाद मुझे होश आया और मुझे समझ आया कि मैंने क्या किया है।

मैं जल्दी से उसके पास से उठा और अपनी पैंट ऊपर करके चला गया।

मुझे समझ नहीं आ रहा था कि अब क्या करूं और कैसे अपनी बहन से नजरें मिलाऊं.

एक घंटे बाद मेरी माँ घर आई और शाम का नाश्ता बनाने लगी। उसने पूछा, “क्या तुम्हारी बहन जाग गई?” जाकर देखो। अगर वह जाग गई है तो उसे यहां भेज दो, भूखी होगी. ,

मुझे जाने से डर लग रहा था. मैंने धीरे से दरवाज़ा खोला और देखा कि मेरी बहन उसी पोजीशन में लेटी हुई थी और मैं उसे चोद रहा था। उसकी गोरी गांड पर मेरा सारा वीर्य सूख चुका था और वो उसी पोजीशन में सो रही थी.

कहीं माँ उसे इस तरह न देख लें, मैंने धीरे से उसकी पैंटी ऊपर खींची और उसकी शॉर्ट्स वापस पहन ली और माँ से कहा कि वह अभी भी सो रही है।

उस दिन के बाद से मैंने और मेरी बहन ने करीब 2 महीने तक एक-दूसरे से न तो बात की और न ही कभी देखा।

आज भी हम जरूरत पड़ने पर ही बात करते हैं. ये थी मेरी बहन की सेक्स कहानी. अगर मेरी सोती हुई बहन को चोदने से आपको उत्तेजना महसूस हुई हो तो कमेंट में जरूर बताएं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escort

This will close in 0 seconds