May 21, 2024
mama ki girlfriend ko choda

नमस्ते मित्रो, मैं आप सबका चहेता गुड ब्वॉय, सिंपल सीधा साधा मिडिल क्लास फैमिली का लड़का।

आज जी कहानी में पड़े: मामा की गर्लफ्रेंड को चोदा और अपनी रखेल बना लिया

आपने मेरी पहली कहानी पढ़ी होगी, सेक्सी भाभी की टाइट बुर की चुदाई हो गई।
दोस्तो, आज मैं आपको जो गांव की लड़की की चूत चुदाई की कहानी बताने जा रहा हूं वो एक सच्ची घटना पर आधारित है।

जुलाई का महीना था, बारिश हो रही थी।

बादलों से भी पानी टपक रहा था और हमारे पप्पू लाल से भी।
खैर छोड़ो।।।आप तो समझ ही गये होंगे।

आज मामा हमारे घर आने वाले थे।
उनकी उम्र लगभग 25 की होगी, मेरी उम्र 19 की।
हम दोनों एक दूसरे के दोस्त की तरह थे।

मैं उन्हें लेने स्टेशन गया।
वहां से वापस आते समय मामा ने पहले कुछ खरीदारी की और घर पर खाने-पीने के लिए मिठाइयां आदि भी खरीदीं।

मेरे मामा फ़ौज में हैं इसलिए उन्हें कम ही छुट्टियाँ मिलती हैं; हम जब भी मिलते हैं तो वह हमारे घर जरूर आते हैं।
वो हमारे घर क्यों आता था इसका मतलब मुझे बाद में समझ आया।

खैर।।। मामा घर आये। फिर हम सबने खाना खाया और बातें करने लगे।

कुछ देर बाद रात गहराने लगी तो हम सब सो गये।

सुबह है।

मामा फ़ौज में हैं तो सुबह 4 बजे उठकर दौड़ने का नियम है।
वह दौड़ता हुआ चला गया।

जबकि हम सभी रोजाना की तरह 8 बजे तक सोते रहते हैं।

इस तरह जब तक मामा घर पर रहे, हम दोनों ने खूब मजे किये।
मैं भी उसके साथ इधर उधर घूमने चला गया।

दिन ऐसे कट रहे थे जैसे पानी के बिना प्यासे हों।

एक दिन की बात है।
मेरे भाई के हाथ में मेरा फोन था, वह गेम खेल रहा था।

मुझे कुछ जरूरी काम करना था तो मैंने मामा का फोन लिया और बात करने के बाद मामा के व्हाट्सएप पर चला गया।

मैंने वहां एक मैसेज पढ़ा, जिसमें लिखा था ‘गुड मॉर्निंग बाबू।।।’
मैसेज पढ़कर मैं दंग रह गया।

जहाँ तक मैं जानता था, मेरे मामा सरल स्वभाव के थे। ना तो उसकी कोई गर्लफ्रेंड थी और ना ही वो ऐसे स्वभाव का था।

फिर मैंने पूरी चैट अपने मोबाइल में ट्रांसफर कर ली और आराम से पढ़ने लगा।

उस चैट को पढ़ने के बाद मुझे पता चला कि मामा जिस लड़की से बात कर रहे थे वह हमारे गांव की ही है।
लेकिन यह कौन है यह नहीं पता।
क्योंकि उसमें सिर्फ नंबर लिखा था, नाम नहीं।
ना ही फोटो डीपी में शामिल किया गया।

बस चैट में बात हो रही है।
दोनों एक दूसरे का हालचाल पूछ रहे थे।

एक जगह मामा ने अनजान लड़की से सेक्सी तस्वीर भेजने को कहा लेकिन लड़की ने मना कर दिया और तस्वीर नहीं भेजी।

दोनों सेक्स चैट करने लगे।

तब लड़की ने अपने मामा से पूछा- आप कब जा रहे हैं?
इस पर मामा ने जवाब दिया- जब तुम मुझे दे दोगे तो मैं अगले दिन चला जाऊंगा।

लड़की- क्या दूं?
मामा- वही तो मैं पूछ रहा हूं।

लड़की- पिकअप नहीं देंगे।
मामा- मैं ले लूँगा।

लड़की: अगर मैं नहीं दूंगी तो तुम क्या करोगे?
मामा- मुँह में दूँगा।

लड़की- हाँ ठीक है दे दो।।। मैं भी देखूँगी तुम मेरे मुँह में कैसे दोगे!

मामा- सच में तेरे मुँह में डालूँगा!

लड़की: हाँ, कृपया इसे आज़माएँ। मैं भी देखूंगा।

इस तरह की चैट चल रही थी।
मुझे समझ नहीं आ रहा था कि ये दोनों लड़ रहे थे या मजा कर रहे थे।

मैं चैट को आगे पढ़ने लगा।
लड़की बोली- ठीक है कल तैयार रहना। मैं सुबह ठीक चार बजे अपने घर के सामने तुमसे मिलूंगा। जैसे हम रोज मिलते हैं।

अरे भाई।।। अब पता चला कि मामा सुबह 4 बजे क्यों जाते हैं।
चैट पढ़ने के बाद मैं भी सो गया।

अगली सुबह मामा 4 बजे उठ कर घर से बाहर चले गये।
मैंने भी तय कर लिया था कि मुझे पता लगाना है कि वो लड़की कौन है।

मैं भी उसके पीछे हो लिया।

फिर मैंने जो देखा तो मेरे होश उड़ गए, मेरे दिल पर बिजलियाँ गिरने लगीं और बादल गरजने लगे।

मैंने देखा कि मेरे मामा की बड़ी बेटी, जिसकी उम्र 23 साल है, मेरे मामा के पास थी।

मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मेरे मामा का हुक मेरी बहन से अच्छा होगा।
फिर दोनों एक दूसरे को लिप किस करने लगे।

मैंने तुरंत अपनी जेब से फोन निकाला और उन दोनों का वीडियो बनाने लगा।

मेरे मामा की लड़की का नाम मुस्कान है।
वो बैठ गयी और मेरे मामा का लंड निकाल कर अपने मुँह में लेने लगी।
यहां एक वीडियो बनाया जा रहा था।

ठीक है मामा मुँह में देने की बात कर रहे थे।

मैं हंसने लगा कि मेरी बहन भी कह रही थी, ‘हां हां, मुंह में दे दे।।। मैं भी देखूंगी कि तू मेरे मुंह में कैसे देता है।।।’

उन दोनों को लंड चूसते देख मुझे अजीब तो लगा, लेकिन मेरे अंदर की हवस भी जागने लगी।

कुछ देर तक मामा मेरी बहन के सिर को अपने लिंग पर दबाते रहे और मेरी बहन मामा का पूरा लिंग अपने मुँह में गले तक लेकर चूसती रही।

मैंने भी तय कर लिया था कि अब चाहे कुछ भी हो जाए, मैं मुस्कान दीदी की चूत और गांड चोद कर ही रहूंगा।

मेरे मामा की प्रेमिका मेरी बहन निकली।
इस कारण मामा हर बार छुट्टियों में मेरे घर आते थे।

कुछ देर बाद मेरी बहन मामा का हाथ पकड़कर उन्हें घर के अंदर ले गई।
अब मैं बेबस था क्योंकि मुझे कमरे के अन्दर का नजारा नहीं दिख रहा था। मैं उदास होकर घर वापस आया और बाथरूम में गया, वीडियो देखा, हस्तमैथुन किया और सो गया।

फिर उसी दिन शाम को मामा जाने की तैयारी करने लगे।

मैं मामा को स्टेशन पर छोड़कर वापस घर आ गया।

ऐसे ही कुछ दिन बीत गये।
मैं बस दीदी और मामा की सेक्स वीडियो देखता रहता था और अपना लंड हिलाता रहता था।

मुस्कान दीदी का बदन दूध जैसा सफ़ेद था; उसके फूले हुए स्तन, सेक्सी कूल्हे और उसके रसीले होंठ देख कर मेरा साँप फुंफकारने को तैयार हो गया।

मेरी मुस्कान काफी हद तक मेरी बहन से मिलती-जुलती थी।

एक दिन मैंने उसे फोन किया और कहा- दीदी, मैं तुम्हें कुछ दिखाना चाहता हूं।
उसने कहा- दिखाओ, क्या दिखाना चाहते हो?

फिर मैंने उसे उसका वीडियो दिखाया, जिसमें वो मेरे मामा का लंड मुँह में डाल कर चूस रही थी।
ये देख कर वो अचानक से डर गयी और बोली- यार, प्लीज ये सब किसी को मत बताना। तुम जो कहोगे, मैं करूँगा।

जब मैंने यह सुना तो आश्चर्यचकित होकर बोला- इससे मुझे क्या लाभ होगा?
मुस्कान दीदी बोलीं- मैंने कह दिया है कि भाई तुम जो कहोगे मैं वो करूंगी, लेकिन किसी को बताना मत।

ये कहते हुए उसने अपना हाथ मेरी जांघों के जोड़ पर फिराया।
मैं समझ गया कि दीदी मुझे चूत देने के लिए तैयार हैं।

फिर मैंने भी हाँ में सर हिलाया और उससे कहा कि कल सुबह 4 बजे घर के सामने तैयार रहना। मैं मामा की जगह आऊंगा।

वो हाँ में सिर हिलाते हुए चली गयी।

अगली सुबह मैं 4 बजे उसके घर के पास आ गया।

वह बहुत ठंडी सुबह थी। हल्की बारिश हो रही थी लेकिन माहौल बहुत गर्म था।

वह घर से बाहर निकली और बोली- तुमने मुझे अभी क्यों बुलाया?
मैंने कहा- मैं भी वो सब करना चाहता हूँ जो आप मामा के साथ करती थीं।

उसने ना में सिर हिलाया।

मैंने कहा- अगर तुम्हें ना ही कहना था तो तुमने कल हाँ क्यों कहा।
वो बोली- क्या तुम अपनी बहन के साथ ये सब करना चाहते हो?

मैंने कहा- भाई-बहन तो दिल से माने जाते हैं, ये तो बस एक रिश्ता है। लेकिन चूत और लंड का एक ही रिश्ता होता है और वो है सेक्स का रिश्ता।
फिर कुछ पल सोचने के बाद वो मान गयी।

उसने मेरा हाथ पकड़ा और मुझे अपने घर ले गई।
जल्द ही हम दोनों उसके बिस्तर पर आ गये।

मैंने उसके रसीले होंठों पर अपने होंठ रख दिये और उसे चूमने लगा।

पहले तो वो सहयोग नहीं कर रही थी लेकिन कुछ देर बाद उसे भी मजा आने लगा।
कुछ ही पलों में गांव की लड़की बहुत कामुक हो गई और सहयोग करने लगी।

मैं अपना हाथ मुस्कान के कूल्हे पर ले गया और जोर-जोर से दबाने लगा।
वाह क्या मखमली मुलायम गांड थी मेरी बहन की।

बहन की गांड की मालिश करने के बाद मैंने उसका टॉप उतार दिया।
उसने नीचे ब्रा नहीं पहनी थी।
इसका मतलब शायद यह था कि वह भी यही चाहती थी, वह सिर्फ दिखावा कर रही थी।

फिर मैं मुस्कान के एक बूब को अपने मुँह में लेकर चूसने लगा।
मुस्कान का आधा बूब मेरे मुँह में था, वो कराह रही थी।

मैंने धीरे से उसका लोअर उतार दिया।
अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी खड़ी थी।

मैं घुटनों के बल बैठ गया और मुस्कान की एक टांग उठा कर मुस्कान की चूत में अपनी जीभ रगड़ने लगा।

वो बहुत कामुक हो गयी थी, उसे भी वासना का आनन्द मिल रहा था।
कुछ ही देर में दीदी की चूत से रस बहने लगा।
मैंने भी उसकी चूत का रस पी लिया और चाट कर साफ कर दिया।

वो इतनी गर्म हो गयी थी कि लंड लेने की इच्छा करने लगी थी।

जब मैं अपना लंड अपनी बहन की चूत में रगड़ रहा था तो वो ‘लंड पेलो जल्दी पेलो।।।’ बोलने लगी।

अब मैंने गांव की लड़की की चूत में अपना लंड सैट किया और पूरी ताकत से एक जोरदार झटका दे दिया।

मुस्कान दीदी के मुँह से आह आह की आवाजें आने लगीं।
मैंने उसका मुँह बंद कर दिया ताकि कोई जाग ना ​​जाये।

अब मैं जोर जोर से अपना लंड दीदी की चूत में पेल रहा था।
वो भी जोश में आ गयी थी और लंड को अपनी चूत में लेने के लिए अपनी गांड हिलाने लगी थी।

कुछ देर बाद मैंने अपना लंड गाँव की लड़की की चूत से बाहर निकाल लिया।
वो मेरी तरफ देखने लगी।
उसे लगा कि मेरा लिंग स्खलित हो गया है।

जब उसने मेरी तरफ देखा तो मैंने उससे मुझे मुँह में लेने को कहा।
वो घुटनों के बल बैठ गयी और मैंने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया।

मैंने उसका सिर पकड़ लिया और अपना लिंग अन्दर-बाहर करने लगा।
कुछ ही देर में लंड का यौवन फूटने लगा और उसने अपना सारा रस मुस्कान दीदी के मुँह में छोड़ दिया।

इस तरह दीदी मेरे लंड की गुलाम बन गयी।
उसे मेरा लंड पसंद आ गया था और वो मुझसे चुदवाने के लिए मचलने लगी थी।

अब मुस्कान दीदी मुझसे रोज मिलने लगीं।
कृपया प्रार्थना करें कि हमारे बीच का प्यार इसी तरह बना रहे।’

जोखिम से नाम बनता है
चूतें प्यार से बनी होती हैं

इन चंद पंक्तियों के साथ मैं आपसे विदा लेना चाहता हूं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds