May 21, 2024

पिछला भाग – Bahan Ki Chut Ki Chudai भाग-1

नमस्कार दोस्तों आप की काजल readxxstories.com पर भाई बहन Hindi Sex Story के अगले भाग में आपका स्वागत करती हूँ। 

जैसे की आप सब को मेरा नाम पता ही होगा, राहुल। और मेरी उम्र 24 साल की है।

मैं दिल्ली के Malviya Nagar का रहने वाला हु।

और समय बर्बाद ना करते हुवे चलिए कहानी को शुरू करते है Bahan Ki Chut Ki Chudai 2 

जब मेरी बहन ने मुझे स्माइल पास किया तो मैं अचानक से डर गया, और इधर-उधर देखने लगा। मैं उठ कर जाने लगा,

लेकिन मेरी बहन ने मुझे रोक लिया और कहा –

बहन: भाई मेरे पैरो में बहुत दर्द हो रहा है। मेरी मालिश तो कर दो.

वो ऐसे ही बिना कपड़ों के लेटी रही, और मैंने गरम तेल से उसकी मालिश करनी शुरू की। जब मैं उसके नरम पैरो पर हाथ फेर रहा था, तो मेरा लंड पूरी तरह से तन कर खड़ा हो चुका था।

तभी मेरी बहन ने कहा: भाई थोड़ा सा ऊपर से मालिश करो। मैंने अपना हाथ ऊपर की तरफ किया, और आहिस्ता-आहिस्ता उसकी पूरी टाँग की मालिश करने लगा।

अब मेरी बहन आंखें बंद कर के “आह आह हम्म आआह” की आवाज निकाल रही थी। बीच-बीच में मैं अपना हाथ उसकी रसीली चूत ( Rasili Chut ) पर भी रख देता था,

तो वो एके हल्की सी आआह भारती। मैं बहुत ज्यादा गरम हो चूका था, और अपनी बहन को चोदने के लिए तैयार था। और वो भी चूत चुदाई ( Chut Chudai ) करवाने के लिए तैयार थी.

तभी फिर डोरबेल बजी, और मैं एक-दम से घबरा गया सीमा भी घबरा कर उठ गई। मैंने आवाज लगा कर पूछा –

मैं : कोन है?

तो आगे से अम्मी-अब्बू बोले: दरवाजा खोलो.

उनकी आवाज सुन कर हम एक-दम घबरा गए। सीमा ने कपड़े पहने, और मैं बाहर दरवाजा खोलने के लिए चला गया। अम्मी अब्बू के आने के बाद हम सब सोने के लिए अपने-अपने कमरे में चले गये।

लेकिन मुझे नींद कहा आनी थी। ऐसी ही सारी रात खुली आँखों से गुज़र गई, जिस वजह से मैं सुबह देर से उठा। मैं सुबह उठा तो सीमा अम्मी के साथ नाश्ता बनवा रही थी।

मैं भी किचन में मदद करने के लिए चला गया, और बहाने से अपनी बहन को टच करता रहा।

इस पर वो हर दफा हल्की सी स्माइल पास कर देती थी। ऐसे ही जब बहन को चीनी का डिब्बा चाहिए था, लेकिन वो ऊपर की शेल्फ पर था, और उसका हाथ भी नहीं लग रहा था,

तो मैंने उसको उठा कर ऊपर की तरफ किया, जिसकी वजह से उसकी शर्ट स्लिप हो कर ऊपर की तरफ हो गई, और उसके पिंक निपल्स ( Pink Nippal ) वाले स्तन मेरे मुँह के सामने आ गए।

तब मुझे पता चला कि उसने ब्रा नहीं पहनी थी। मैंने भी इस मौके का फायदा उठाया, उसके स्तनों को काट दिया। उसके मुँह से हल्की सी आआह निकल आई।

इस पर अम्मी ने पूछा: क्या हुआ?

तो मैंने अम्मी के देखने से पहले उसको नीचे उतार दिया। फिर हम सब टेबल पर बैठ कर नाश्ता करने लगे।

लेकिन हम चार लोग थे, और कुर्सियाँ तीन थीं। एक कुर्सी की मरम्मत हो गई थी।

तो सीमा मज़ाक करते हुए मेरी गोदी में बैठ गई, और मुझसे कुर्सी के लिए लड़ने लगी। मैं भी कुर्सी से नहीं उठ रहा था, और वो भी मेरी गोदी में बैठी थी।

तो अम्मी अब्बू भी हंसने लग गए, और हमने ऐसे ही नाश्ता शुरू किया।

लेकिन मेरा ध्यान नाश्ते की तरफ नहीं बल्कि अपनी बहन पर है। उसने कल वाली सलवार ही पहन ली थी, क्योंकि वो सूखी थी। मेरा लंड भी तन चुका था.

मैंने सीमा को थोड़ा सा उठाते  हुए अपना लंड अपनी पैंट से बाहर निकाल लिया, और नाश्ते के परांठे से थोड़ा तेल अपने हाथ पर लगा कर अपना हाथ नीचे की तरफ ले गया।

फिर अपने लंड को उसकी चूत पर लगा कर अपना लंड उसकी चूत के अंदर डालने लगा।

अब मैंने उसकी एक चुटकी काटी जिसकी वजह से वो उछली, और मेरा पूरा 7 इंच का लंड उसकी चूत में चला गया। और उसकी आँखों से आँसू निकल आये।

ये देख कर अम्मी ने हमसे पूछा-

अम्मी: क्या हुआ?

तो उसने कहा: खाने में मिर्ची ज़्यादा है।

फिर वो मुझसे लड़ने के लिए बार-बार हिलने लगी, और मेरा लंड उसके अंदर-बाहर होने लगा। तकरीबन 5 मिनट के बाद मैंने अपना गरम पानी उसकी चूत में छोड़ दिया,

और वो भी नाश्ता करने के बाद टॉयलेट से वॉशरूम की तरफ चली गई। और फिर मैंने भी अपनी पैंटको  एडजस्ट कर ली।

फिर मैं कॉलेज के लिए तैयार हो गया। रेडी होते हुए मैंने अपनी बहन को मैसेज किया-

मैं: मेरा आज दिल नहीं कर रहा कॉलेज जाने का।

थोड़ी देर बाद उसका जवाब आया: अम्मी को क्या बोलोगे? वो डाटेंगी.

मैंने कहा: क्यों ना हम कॉलेज के बहाने आज फिल्म देखें?

तो उसने भी हामी भर दी. फ़िर तकरीबन 2:00 बजे हम तैयार हुवे घर से कॉलेज के लिए निकल आये। लेकिन हम कॉलेज नहीं गए, बाल्की सिनेमा फिल्म देखने चले गए। मूवी बहुत पुरानी थी,

और हॉल भी लगभग खाली था। हम दोनों कॉर्नर की सीटों पर जाके बैठ गए।

मूवी देखते हुए मैं अपनी बहन के ऊपर हाथ फेर रहा था, और वो भी मुझे कुछ भी नहीं कह रही थी।

मैंने पहले उसके कंधे पर हाथ रखा, और दूसरे हाथ से उसके स्तनों की मालिश करने लगा।

थोड़ी देर बाद वो भी गरम हो चुकी थी। उसने मेरे खड़े लंड को बाहर निकाला, और उससे खेलने लगी। मैं भी उसके स्तन के साथ खेलता रहा। हम फिल्म से काफी बोर हो गए थे।

इसलिए उठ कर बाहर निकल आये और एक पार्क में जा कर बैठ गये। ये पार्क बहुत सुनसान था, और रात भी हो चुकी थी काफ़ी।

तो मैंने पार्क में ही अपनी बहन के स्तनों को मसलना शुरू कर दिया। पहले तो उसने मना किया पब्लिक प्लेस है यहां नहीं।

लेकिन फिर वो भी मान गयी. और हम दोनों पागलों की तरह एक दूसरे को चूमने लगे।

मैंने उसके रूपट्टे को झाड़ियों के पीछे ज़मीन पर बिछा दिया, जहां से हमें कोई भी देख ना सके। और फिर मैंने उसकी कमीज को ऊपर करके उसके स्तनों को चूमना शुरू किया।

फिर उसकी सलवार के सुराख को थोड़ा ज्यादा बड़ा किया। जब मैंने अन्दर देखा, तो उसने अब भी पैंटी नहीं पहनी थी।

वो भी आज पूरी तैयारी  के साथ आई थी मुझसे अपनी चूत चटाई( Chut Chatai ) करवाने के लिए।

मैंने जल्दी से चूत को जोर जोर चाटने लगा और वो भी मेरा साथ देने लगी। और मेरे सर को अपनी चूत में गुसा रही थी।

और उसके बाद मैंने अपने बैग में से लोशन की बोतल निकाली, और अपने लंड पर लगा कर उसकी गरम चूत में डाल कर उसको चोदने लगा।

जब भी मेरा पानी निकलने लगता है, मैं रुक जाता हूं। ऐसे ही मैंने तकरीबन 30 मिनट तक उसकी चुदाई की। फिर मैंने उसको घोड़ी बनने को कहा। लेकिन वो डर गई और बोलनी लगी-

बहन: मेरी गांड में मत डालना.

मैंने भी उसे कहा: पीछे से चूत में डालूंगा।

लेकिन उसके घोड़ी बनने के बाद मैंने अपने लंड पर ज्यादा लोशन लगाया, और एक झटके में अपना पूरा लंड उसकी गांड के सुराख में डाल दिया। वो ज़ोर-ज़ोर से चिल्लाने और रोने लगी।

मैंने उसके मुँह पर हाथ रखा, और 10 मिनट तक उसकी गांड की चुदाई ( Gand Ki chudai ) करता रहा । फिर 10 मिनट के बाद अपना सारा पानी उसकी गांड में निकाल दिया। फ़िर मैंने उसके कपड़े ठीक किये और अपने भी।

लेकिन उससे हिला भी नहीं जा रहा था। मैंने उसको उठा कर बाइक पर बैठाया, और घर जा कर सब से छुपते हुए उसको उसके कमरे में जा कर लिटा दिया।

तक़रीबन 1 हफ़्ते तक उसको बहुत दर्द हो रहा है। उससे चला भी नहीं जा रहा। अम्मी भी परेशान हो रही थी, लेकिन मैंने बात घुमा दी।

दोस्तों उम्मीद है कि आपको मेरी कहानी पसंद आई होगी।

तो दोस्तों xxx कहानी कैसी लगी कॉमेंट जरूर करे। ऐसे और sexystories hindi पड़ने के लिए readxxstories.com पर जाए.
फिर मिलते है एक और नई Real hindi sex Story के साथ।
तब तक के लिए अलविदा दोस्तों।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds