June 25, 2024
Bhabhi Ke Sath Forplay

नमस्कार दोस्तों मैं रितिका अपने एक और Hindi Sex Story में आपका स्वागत करती हूँ। आप ये कहानी readxxstories.com पे पढ़ रहे है।

इस कहानी के लेखक है – ललित और उनकी कहानी पड़ोस वाली भाभी के साथ फोरप्ले ( Bhabhi Ke Sath Forplay ) के बाद बुर की चुदाई का मजा

नमस्ते, मैं दिल्ली, से ललित हूं। मैं 25 साल का लड़का हूं। आज मैं आपको मेरी Real Hindi Sex Story बताने जा रहा हूँ।

कॉलेज की पढाई के लिए मैं दिल्ली में रहने आया। मेरे कमरे के सामने एक नवविवाहित जोड़ा रहता था। शायद 1 से 1.5 साल पहले शादी हुई होगी उनकी।

भैया का नाम अमित है, और वो भाभी का नाम नेहा था। दोनों की उमर लगभाग सेम ही थी।

26 साल के थे दोनों. भाभी के बारे में बताऊ तो वो उनका फिगर 34-30-36 था। रंग रूप से थोड़े सावले पर गजब दिखते थे।

भैया एक कंपनी में काम करते थे। भैया की नौकरी का समय 2 शिफ्ट में था। एक दिन की शिफ्ट और एक रात की शिफ्ट।

हम दोनों पार्टनर गांव से आएं थे पढाई के लिए। तो भैया हमें छोटे भाई की तरह ट्रीट करते थे। जब भी लड़ाई होती थी तो भैया हमेशा मुझे घर पर बुला कर खाना खिलाते थे।

भैया को मिलने में मैं अक्सर जाया करता था। एक दिन जब मैं भैया से मिलने गया घर पर तो मुझे आवाज़ आई।

भाभी अपने दोस्त से कॉल पर बात कर रही थी।

“इन्हें सेक्स के बारे में तो कुछ पता ही नहीं है, ना फोरप्ले, ना किसिंग, ना बूब किस, ना पुसी लिकिंग।

बस पैंट खोली अपना लंड मेरी चूत में डाला दो 2 मिनट आगे पीछे किया फिर निकाल दिया अपना वीर्य मेरी चूत में।”

ये सुनकर मैं समझ गया भाभी अपनी शादी शुदा जीवन से सुखी नहीं है।

फिर उस दिन मैंने फैसला किया कि मैं भाभी को सुख दूंगा। मैंने प्लान बनाना शुरू किया कि क्या किया जाए और क्या नहीं।

मैं पहले भाभी के अच्छी किताबों में आने का प्रयास करने लगा।

भाभी को मदद करने लगा जैसे बाजार से सामान लेक देना। एक दिन भाभी घर में काम करते-करते गिर गई।

भैया अपनी कंपनी के काम से 3 दिन पुणे गए थे।

तो उन्हें मदद के लिए मुझे बुलाया। देखा तो उनको कमर में दर्द हो रहा था।

पैरो में भी मोच आ गई थी. मैं उन्हें तुरंत पास वाले हॉस्पिटल में ले गया। तो डॉक्टर ने कुछ दवा दी और औषधीय तेल दिया मालिश करने के लिए।

हम जब घर आये तो मैंने भाभी के लिए नाश्ता बनाया और भाभी को दवा भी दे दी।

और उनको मालिश का बोला की कर लो. पर वो शुरू से ही मना करने लगी । बहुत मनाने के बाद वो मान गए। और बोलने लगे कि भैया को मत बताना।

मैं हा बोलकर शांत बैठ गया। भाभी को बोला कि टी-शर्ट और शॉर्ट्स में आ जाए वर्ना ड्रेस को तेल लग जाएगा।

तो भाभी मेरी से आगे थी. उन्होंने सिर्फ ब्रा और पैंटी में आ गई।

कहने लगी, “मालिश करने के बाद तू चले जाना।” काले रंग की ब्रा और नीले रंग की पेंटी थी भाभी की।

बूब्स का तो बस बाहर आना ही बाकी रह गया था।

क्लीवेज भी इतनी गहरी दिख रही थी बस उसे देखते ही मेरे लंड को सलामी दे दी उसे।

मेरे लंड के बारे में बोलू तो 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है। भाभी उल्टा लेटने के बाद में उनके कमर पर मालिश करने लगा।

मालिश करते करते भाभी को पूछा, “आपकी पीठ में मालिश करू?

” तो भाभी हा बोली. तो मैं पूरी तरह से मालिश करने लगा। पर ब्रा की लेस बीच में आने लगी तो मैंने भाभी को ब्रा निकालने का पूछा।

भाभी ने एक दम से ही हां बोल दिया। अब मेरा लंड भी अपनी हरकत कर रहा था।

मेरी पैंट में तंबू जैसा उबर आ गया था। मैं कभी भाभी के गर्दन पर कंधे से कंधा मिलाकर कमर तक आ जाता हूं। ऐसा ही पैटर्न मैंने रखा था।

भाभी को पूछा कैसा लग रहा है. तो वो बोली कि जादू है मेरे हाथों में।

जब भी मैं प्लैंक की और जाता तो सामने हाथ डाल कर साइड से स्तन पर हाथ फिराता हूँ। हमेशा ऐसा ही करते एक दो बार बूब्ज़ दबाया।

तो भाभी अचानक मुड़ी और मुझे अपने पास खींच लिया। मुझे चूमने लगी.

भाभी के ऊपरी होंठ पर मेरा निचला होंठ था। हम दोनो मस्त किस कर रहे थे।

वो किस 10 मिनट तक चली. किस करते करते मैं भाभी के स्तन भी दबाने लगा।

भाभी के पाने की ख़ुशी इतनी थी। बूब्स ज्यादा ही जोर से दबाने लगा।

भाभी को मजा आने लगा. किस जब तोड़ी हमने तो भाभी ने मुझे गले लगाया।

वो 5 मिनट भाभी किसी ब्रम्हानंद की प्राप्ति हुई ऐसे गले लगाती रही।

फिर हमने किस किया और उनके होंठों के होते हुए कान तक गया। गर्दन पर किस करने लगा वहा से।

जैसे ही नेक पे किस की मैंने भाभी एकदम से हड़बड़ा गई मानो कि करंट दौड़ा हो पुरे बॉडी में।

किस करते-करते मैं भाभी के बूब्स तक आ गया। एक बूब्स को किस करने लगा और दूसरे को दबाने लगा।

भाभी ने आहे भरना शुरू हो गया था। फिर कुछ 5 मिनट बाद साइड चेंज की।

इस बार जोर जोर से बूब्स चूसने लगा भाभी फिर से पगला उठी।

चूस भी ऐसे रहा था मैं मानो कि ये आंखरी बार जिसे मैं चूस रहा हूं। बूब्स चूसने करने के बाद मैं नीचे सीधी भाभी के टांगो अंगुठे के पास आया।

वाह भाभी का अंगूठा चूसा. कुछ देर अंगूठा चूसने के बाद मैं टांगों पर जांघों पर चुंबन करने लगा और धीरे-धीरे पैंटी तक पहुंच गया।

पैंटी को देखा तो गिली हो चुकी थी। पैंटी को निकाला और चूत को चाटने लगा।

भाभी के मुख पर एक अलग ही संतुष्टि दिखाई दी। मनो कितने सालो से प्यासी हो। 

मैंने नाभि के ऊपर किस किया और भाभी को लिप्स पर किस करने लगा।

अब बारी भाभी की थी वो उठी और मुझे बिस्तर पर लिटा दिया। मुझे चूमने लगी.

लिपकिस के साथ ही कभी गर्दन पर किस करती मेरा शर्ट निकाल फेका। 

फिर भाभी ने मुझे किस करते हुए मेरे पैंट की और देखी।

मेरी पैंट और अंडरवियर निकाल फेकी. मेरे लंड को देख कर ही भाभी अचंभित हो गयी। मैंने पूछा कि क्या हुआ तो भाभी बोले कि इतना बड़ा।

मैंने वीडियो में देखा है तुम्हारे भैया का तो यह बहुत छोटा है।

भाभी मुझे किस देने लगी तो भाभी को बोला इसे मुँह में लो। पर भाभी ने मना कर दिया. उन्हें बार-बार बोलने के बाद भी उन्हें मुंह में नहीं लिया।

मैंने ज्यादा देर न करते हुए मेरा लंड भाभी की चूत पर रखा और अंदर डालने लगा।

फिर मैंने एक जोर का झटका मारा तो आधा लंड अंदर चला गया।

भाभी जोर से चिल्लाई और बोली की इस बहार निकालो मैंने तुरंत ही भाभी को किस करने लगा।

जब भाभी सेटल हो गईं तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी। रूम में सिर्फ 2 ही आवाज आ रही थी।

एक तो पच पच और दूसरी भाभी की मधुर सी भाभी को हमने 10 मिनट तक चोदा बाद मे भाभी को डॉगी स्टाइल में चोदने लगा। भाभी बिच एक और झड़ी है।

भाभी डॉगी पोजीशन में मैंने उन्हें और 10 मिनट तक चोदा।

जब मेरा होने आया तो भाभी को पूछा कि कहा निकालु तो भाभी बोली कि मेरा भी होने वाला है तो अंदर ही निकालो। तो मैं और भाभी साथ में झड़े।

झड़ने के बाद हम दोनो ऐसे ही बिस्तर पर लेटे रहे।

मैं- भाभी कैसा लग रहा है.

भाभी – बहुत अच्छा लग रहा है. पहली बार मैंने ऐसा सुख पाया है जीवन में। जी करता है कि आपसे ही चुदु

भाभी ने दराज खोला और 5000 रुपये दिए।

मैने भाभी फिर से पूछा – क्यू मुझे दे रहे हो?

भाभी- अरे ऐसे भी मैं जिगोलो को बुलाने वाली थी आज रात. तो ऐसा समझूंगी कि तुम ही हो वो।

उसके बाद मैंने और भाभी ने बहुत बार सेक्स किया। भाभी ने अपने दोस्त से भी मुझे जिगोलो बनाकर मिलावा । उनको भी मैंने संतुष्ट किया। और उन्होंने भी मुझे 10000 दिए.

मेरा सेक्स और रहने का गुज़रा होने लगा और भाभी के मजे हो गए।

इस कहानी में यहीं तक मिलते हैं अगले किसी और चुदाई से भरी Free Hindi Sex Kahani में तब तक के लिए अपना ध्यान में रखें और पढ़ते रहे ReadXStories.Com धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Dehradun Call Girls

This will close in 0 seconds