May 21, 2024
Chhoti bahan ki bur Chudai

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम मोहित है। आज में आप लोगों को एक छोटी बहन की बुर चुदाई कीकहानी सुनाने जा रहा हूँ। मेरी 2 बहने है और मेरी पहली बहन जिसका नाम प्राची है और वो 21 साल की है। दोस्तों मैंने अपनी बड़ी बहन प्राची की चुदाई की?

आज की कहानी में पड़े: छोटी बहन को होटल में ले जाकर कुतिया बनाकर चोदा और छोटी बहन की बुर चुदाई करके उसे अपनी पर्सनल रंडी बना लिया।

लेकिन में आप लोगों को मेरी छोटी बहन माया की चुदाई की दास्तान सुनाने जा रहा हूँ। ऐसा नहीं है कि में माया को शुरू से पसंद करता था, में तो प्राची को पसंद करता था, लेकिन हम लोगों के साथ ऐसी स्थिति बन गई कि मेरी माया के साथ भी चुदाई हो गई।
दोस्तों ये कहानी बिल्कुल सच्ची है. ये तब की घटना है जब मैंने प्राची को चोदा था. ये घटना करीब 2 महीने पहले की है, मेरी दूसरी बहन जिसका नाम माया है, वो 19 साल की है. दोस्तो, मेरी उम्र 26 साल है और मैं नागपुर में रहता हूँ।

मेरी बहन माया (19 वर्ष) जो हॉस्टल में पढ़ती है। यह नागपुर से लगभग 200 किलोमीटर दूर है। अब माया की छुट्टियाँ शुरू होने वाली थीं तो वो घर आने वाली थी, तभी उसने कॉल करके बताया कि वो अपनी सहेली के साथ ट्रेन से आएगी.

वैसे जब भी माया की छुट्टियाँ शुरू होती थीं तो मैं उसे लेने चला जाता था। अब जिस दिन माया आने वाली थी मैं घर पर ही था और उसके आने का इंतज़ार कर रहा था. तभी तभी फोन आया कि माया ट्रेन से नहीं आ रही है.

चूँकि उसकी सहेली किसी रिश्तेदार के घर गयी है तो मुझे माया को ले जाना पड़ेगा। अब उस समय करीब 3 बजे थे और माया का हॉस्टल घर से करीब 200 किलोमीटर दूर था.

अब अगर मैं ट्रेन से जाता तो देर हो जाती और उस दिन हॉस्टल में रुकना पड़ता, इसलिए मैंने मां से कहा कि मैं माया को लेने कार से जाऊंगा, तब मां ने मुझे आदर दिया, फिर मैं उसके साथ निकल पड़ा. कार और मुझे माया मिल गईं। हॉस्टल पहुंचने में करीब 4 घंटे लग गए.

उस वक्त करीब 7 बजे थे और जैसे ही मैं वहां पहुंचा तो मैंने देखा कि मेरी प्यारी बहन माया हॉस्टल के बाहर खड़ी होकर मेरा इंतजार कर रही थी, क्योंकि हॉस्टल की सभी लड़कियां जा चुकी थीं.

फिर जैसे ही मैं पहुंचा तो वो आकर मुझसे लिपट गई और बोली कि भाई मुझे लगा था कि आप नहीं आओगे. फिर मैंने कहा कि में तो आने वाला था, लेकिन तुमने मना कर दिया था और तुमने कहा था कि तुम एक दोस्त के साथ आओगे. फिर उसने माफ़ी मांगी

तो मैंने उसे फिर से गले लगा लिया. अब जब माया मुझसे लिपट रही थी तो उसके स्तन मेरी छाती से दबे हुए थे, तो मुझे लगा कि माया पूरी तरह से सेक्सी हो गई थी, उसके स्तन बहुत कसे हुए और बड़े लग रहे थे।

अगर आप भी अपनी कहानी इस वेबसाइट पर सार्वजनिक करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके अपनी कहानी हमें भेज सकते हैं, हम आपकी जानकारी को गोपनीय रखते हुए आपकी कहानी अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित करेंगे।

अब मेरा लंड खड़ा होने लगा था, फिर मैंने जल्दी से हॉस्टल से माया का बैग लिया और कार में रख दिया और हॉस्टल वार्डन से इजाजत लेकर हम दोनों घर के लिए निकल गये. उस दिन माया ने फुल स्कर्ट और हाफ टॉप पहना था

जिससे वह गजब की खूबसूरत लग रही थीं. माया के मम्मे उसके टॉप में दबे हुए थे, जिससे वो बहुत टाइट लग रहे थे. अभी हम 50 किलोमीटर ही चले थे कि सड़क पर जाम लग गया.

फिर मैंने जाकर पूछा कि ये जाम क्यों है? तो वहां मौजूद लोगों ने बताया कि आगे एक ट्रैक और बस के बीच टक्कर हो गई है और रास्ता बंद हो गया है, करीब 4-5 घंटे बाद ही ये रास्ता खुलेगा. तो मैंने सोचा, लगता है रात यहीं कहीं गुजारनी पड़ेगी.

फिर मैंने ये बात जाकर माया को बताई और मम्मी-पापा को भी फोन पर बता दी. तो उन्होंने कहा कि अगर तुम्हें आज वहां कहीं कोई होटल मिल जाए तो वहीं रुक जाना, वैसे भी रात काफी हो गई है और कल सुबह वहां से चले जाना.

फिर मैंने कहा कि ठीक है और फिर मैंने गाड़ी वापस मोड़ ली और पास के शहर में होटल ढूंढने लगा. उस समय रात के करीब 9 बज रहे थे तो जल्द ही हमें एक होटल दिखा। अब हमें रुकना ही था तो किसी भी तरह के होटल से काम चल जाता.

फिर मैंने वहां जाकर रूम मांगा तो हमें रूम मिल गया, हालांकि वहां लड़कियों के साथ जाना मना था, लेकिन जब मैंने कहा कि वो मेरी बहन है तो उन्होंने कुछ नहीं कहा और फिर मैंने कार से अपना बैग निकाला और माया के घर गया. एक साथ होटल के कमरे में गये.

फिर मैंने माया से कहा कि तुम फ्रेश हो जाओ, तब तक मैं खाने के लिए कुछ ढूंढता हूँ. फिर मैं होटल गया और खाना मांगा, लेकिन छोटा होटल है तो उसने कहा कि यहां खाना नहीं मिलेगा, इसलिए मैं बाजार में खा लूंगी. लेने गया था.

फिर मैं बाज़ार से कुछ खाने को लाया और अपने लिए एक वाइन की बोतल और एक बोतल लिम्का की भी खरीद ली, क्योंकि मैं बिना कोल्ड ड्रिंक के वाइन नहीं पीता।

फिर जब मैंने कमरे से बाहर आकर दरवाज़ा खोला तो देखा कि माया फ्रेश हो चुकी थी और नहाने की वजह से उसके बाल गीले थे और उसने बहुत पतली स्लीवलेस नाइटी पहनी हुई थी, जिसकी वजह से उसकी पेंटी और ब्रा थोड़ी-थोड़ी दिख रही थी।

फिर जैसे ही मैंने उसे देखा तो मेरा लंड खड़ा होने लगा. अब मैं सोचने लगा कि मेरी बहन मेरी गर्लफ्रेंड क्यों नहीं है? तो तभी मेरे दिमाग में एक आइडिया आया, मैंने सोचा कि क्यों ना आज रात माया से अपने लंड की प्यास बुझाई जाए?

फिर मैंने खाना टेबल पर रखा और फ्रेश होने चला गया और वापस आकर खाना खाने बैठ गया. अब मैंने माया को नहीं बताया था कि मैं वाइन लाया हूँ और मैं कभी-कभी वाइन पीता हूँ इसलिए मैं चुपके से बाहर गया और एक पैग वाइन खरीद लाया. उसे बनाकर पिया और अंदर आ गये.

फिर हम दोनों खाना खाने लगे, इतने में मैंने माया से पानी लाने को कहा तो मैंने तुरंत उसकी कोल्ड ड्रिंक में एक पैग डाल दिया. फिर माया पानी लेकर आई और हम खाना खाने लगे.

फिर जब माया ने कोल्ड ड्रिंक पी तो उसे कुछ शक हुआ, लेकिन उसने मुझसे कहा कि भाई यह अजीब लग रहा है, तब मैंने उससे कहा कि हाँ शायद पुरानी होने की वजह से ऐसा लग रहा है.

फिर हमने खाना शुरू किया और खाने के बाद मैंने एक पैग और लिया, अब तक मेरा मूड ठीक हो चुका था, फिर जब मैं कमरे में वापस आया तो देखा कि माया पर भी वाइन का असर हो रहा था और वह लड़खड़ा रही थी। था।

फिर उसने मुझसे कहा कि उसका सिर घूम रहा है, तो मैंने कहा कि शायद उसे ऐसा महसूस हो रहा है क्योंकि वह थका हुआ है, तुम बिस्तर पर लेट जाओ और लेटे हुए ही बातें करो. फिर माया बिस्तर पर लेट गई और जैसे ही माया बिस्तर पर लेटी तो उसकी नाइटी सरक कर उसकी जाँघ तक पहुँच गई।

अब उसे नशे के कारण कुछ समझ नहीं आ रहा था. फिर जैसे ही मैंने उसे देखा तो मुझे नशा सा होने लगा और मैं उसकी गोरी टांगों को देखने लगा और एक हाथ से अपने लंड को पैंट के ऊपर से मसलने लगा.

तो इस पर माया ने कहा, क्या देख रहे हो भाई? तो मैंने कहा कि माया क्या तुम एक बात बताओगी? उसने कहा नहीं, तो मैंने कहा कि तुम आज गजब की खूबसूरत लग रही हो.

फिर वो ख़ुशी और शरमाते हुए बोली, “भैया, आप भी मुझे छेड़ते रहते हो?” और बोला मैं कहाँ ज्यादा सुन्दर हूँ? प्राची दीदी तो और भी खूबसूरत हैं. फिर मैं उसके पास गया और उसके पैर सहलाने लगा.

कहा कि देखो तुम कितनी खूबसूरत हो और अपने हाथ भी दिखाने लगी. फिर मैंने उससे पूछा कि उसका चक्कर आना बंद हुआ या नहीं? तो उसने कहा नहीं. फिर मैंने कहा कि तुम कोल्ड ड्रिंक पी लो हो सकता है तुम ठीक हो जाओ.

तो मैं एक कोल्ड ड्रिंक लाया और उसे दी, लेकिन देने से पहले मैंने उसमें आखिरी पैग डाल दिया। तभी माया ने हल्के नशे में होने के कारण कोल्ड ड्रिंक समझकर पूरी पूरी पी ली। अब उसे पूरा नशा सा होने लगा था.

फिर मैंने टीवी चालू किया और स्टार मूवी चला दी और फिर माया से बात करने लगा. अब मैं भी पूरे मूड में आ गया था. अब हम दोनों लेटे हुए थे और टीवी देख कर बातें कर रहे थे.

तभी मैंने देखा कि टीवी पर एक सीन आ रहा था जिसमें एक लड़का एक लड़की को किस कर रहा है तो मैंने देखा कि माया उस सीन को बड़े ध्यान से देख रही थी. फिर मैंने माया से पूछा- माया, सच-सच बताओ क्या तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है?

या क्या आप किसी को पसंद करते हैं? तो वो बोली- नहीं भैया, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है. फिर मैंने सोचा कि मुझे कुछ करना चाहिए, क्योंकि माया अब पूरे मूड में थी, लेकिन में अचानक कुछ नहीं कर सका और मुझे पहले उसे उत्तेजित करना पड़ा.

तो मुझे एक विचार आया. फिर मैंने उससे पूछा कि माया तुम्हारे शरीर पर तिल कहां-कहां हैं? तो उन्होंने बताया कि काफी जगह है. फिर मैंने भी कहा कि मेरे पास भी बहुत जगह है और फिर में उसे तिल दिखाने लगा.

फिर मैंने सबसे पहले अपनी शर्ट खोली और अपनी पीठ पर का तिल दिखाया और फिर अपनी पैंट खोली और तौलिये पर आ गया और अपनी जाँघों पर का तिल दिखाने लगा, क्योंकि अब माया पूरी तरह से नशे में थी, इसलिए वह अलग तरह से व्यवहार कर रही थी।

अब वो मेरी तरफ देख रही थी और हंस रही थी, तभी मैंने कहा कि तुम भी दिखाओ, तो उसने अपने हाथ पर तिल दिखाया. फिर मैंने कहा और दिखाओ? तो उन्होंने कहा कि मेरी जांघ पर एक और तिल है. तो मैंने तुरंत कहा कि लेट जाओ.

में चेक करूँगा और फिर मैंने धीरे से उसकी नाइटी को उसकी जाँघों तक ऊपर उठाया और उसकी नाइटी को ऊपर करते हुए में उसके पैरों को भी सहला रहा था, तभी मैंने देखा कि मेरे ऐसा करने की वजह से वो कांप रही थी और अपनी आँखें बंद करके मज़े ले रही थी. था।

फिर मैंने उसकी नाइटी को कमर तक उठाया और देखा कि उसने सफेद रंग की पेंटी पहनी हुई थी. अब में अपना आपा खो रहा था तो मैंने तुरंत माया से कहा कि माया तुम बहुत सुंदर हो, क्या मुझे तुम्हें किस करना चाहिए?

तो इस पर वो कुछ नहीं बोली और बस मेरी तरफ देखती रही. फिर मैंने तुरंत उसके पैरों को चूमना शुरू कर दिया और उसके पैरों को सहलाने लगा. अब इधर माया आधी नशे में थी और मुझे नहीं-नहीं कह कर रोक रही थी.

वो भी आआह, आआह, आआह की आवाजें निकाल रही थी. अब नशे की वजह से वो सिर्फ मुँह से ही बोल रही थी, लेकिन उसके हाथ उसका साथ नहीं दे पा रहे थे, जिस वजह से वो मुझे रोक नहीं पा रही थी.

आगे की कहानी अगले भाग में तब तक के लिए इंतजार कीजिए यह छोटी बहन की बुर चुदाई की कहानी पढ़ने के लिए धन्यवाद….

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds