May 14, 2024
Chudai Ka Khel

हेलो दोस्तों, आपकी रितिका आप सभी के लिए फिर से हाजिर हूं एक नई Hindi Sex Story लेकर।

इस कहानी के लेखक है – नीतू और कहानी है – बॉयफ्रेंड और उसके बाप के साथ मेरी चूत चुदाई का खेल ( Chudai Ka Khel )

हेलो दोस्तों, मेरा नाम नीतू है. ये मेरी नई Free Hindi Sex Kahani है, मैं  कॉलेज के फाइनल ईयर में थी।

तब मेरा फिगर 34-30-34 था. मैं दिल्ली में गर्ल्स हॉस्टल में रहती थी. मेरा अपने एक्स बीएफ से ब्रेकअप हो चुका था।

मेरा नया बीएफ शुशांत रोजाना मेरी चूत और गांड को ठोकता था। मुझे भी नये लंड लेने में बहुत मज़ा आ रहा था। एक दिन शाम को 7 बजे शुशांत का कॉल आया।

शुशांत: कैसी है मेरी जान?

मैं: ठीक हू. इस टाइम कैसे कॉल किया?

शुशांत: बस याद आ रही थी तेरी.

मैं: झूठे कहीं के.

शुशांत: सच में. अच्छा सुन ना. घर पर अकेला हूं. तू आ जा, खूब मस्ती करेगा।

मैं: क्यो? अंकल आंटी कह गए?

शुशांत: मम्मी को मामा के घर जाना पड़ा कोई इमरजेंसी आ गई थी। पापा बिजनेस ट्रिप पर गए हैं। 3 दिन मैं अकेला हूं घर पर।

मैं: आज दिन में ही तो मेरी चूत मारी है यार।

शुशांत: तो क्या हुआ? आ जा ना सारी रात उछाल उछाल के लूंगा तेरी.

मैं: अब तो देर रात हो गई. अब कैसे आऊंगी?

शुशांत: मैं पिक कर लेता हूँ तुझे।

मैं: ठीक है 30 मिनट में आ जाना। मैं तैयार हो जाती हूं.

मैं जींस टॉप दाल के रेडी हो गई। शुशांत ने मुझे हॉस्टल के बाहर से पिक कर लिया।

मैंने कार में बैठ कर उसको किस किया। उसने मेरे चूचो को दबाना शुरू कर दिया।

मैं (उसका हाथ चूचो से हटा के): यहां शुरू मत हो। घर जा के करना ये सब.

शुशांत: ठीक है जान.

हम 15 मिनट में उसके घर पूछ गए। जैसे ही घर के अंदर गए, उसने मुझे पीछे से पकड़ के दीवार के साथ लगा लिया। और मेरा टॉप निकल दिया.

मुझे उसका लंड अपनी गांड के ऊपर महसूस हो रहा था। उसने मेरी ब्रा के अंदर हाथ डाल के मेरे दोनों चूचे पकड़ लिए। और सिर्फ गर्दन पर किस करने लग गया।

शुशांत: आई लव यू नीतू।

मैं भी तुमसे प्यार करती हूँ.

ये बोल के उसने मेरी ब्रा निकाल दी. मुझे पलट के मेरे चुचे चूसने लग गया।

मैं: रूम में चलो ना प्लीज.

वो कुछ नहीं बोला.

मैं: शुशांत. प्लीज रूम में चलो ना.

शुशांत (मेरी जींस ओपन करते हुए): क्या हुआ?

मैं: मुझे यहां शर्म आ रही है.

शुशांत: मुझसे क्या शर्म?

ये बोल के उसने मेरी जीन और पैंटी निकाल दी।

मैं: प्लीज रूम में चलते हैं.

शुशांत (अपना लंड बाहर निकाल के): एक बार इसको किस दे दे फिर चलते हैं अंदर।

मैं (हंसते हुए): ये हमेशा किस के नाम पर मेरे मुँह में घुस जाता है।

ये बोल के मैं घुटनो पर बैठ गई और उसका लंड चूसने लग गई। 10 मिनट चूसने के बाद वो मुझे उठा के कमरे में ले गया।

उसने मुझे बिस्तर पर लिटाया। मैं तो नंगी थी ही वो भी नंगा हो गया। और मेरे ऊपर लेट गया. उसने कंडोम लगाया और सीधे ही मेरी चूत चुदाई ( Chut Chudai ) शुरू कर दी।

11 बजे तक वो सिर्फ 2 राउंड ले चूका था। हम दोनो ही थके हुए थे।

मैं: मुझे प्यास लगी है.

शुशांत: फ्रिज में से पानी ले लो।

मैं: नंगी कैसे जाउ? मेरे कपड़े तो बाहर पड़े हैं.

शुशांत: यहा कौन है? चली जाओ.

मैं नंगी ही किचन में चली गई। और फ्रिज में से पानी पीने लग गई। तभी किसी ने सामने वाला दरवाजा खोला। मैंने ध्यान से देखा तो शुशांत के डैड थे।

मुझे समझ नहीं आया क्या करू. और डर के मारे मैं वही फ्रीज हो गई। मैं वहा पूरी नंगी खड़ी थी।

उसके पापा मेरे पास आये। अपना फ़ोन खोला और मेरी तस्वीरें क्लिक करने लगे। मैने एक हाथ से अपने चूचे कवर किये एक हाथ से अपनी चूत।

मैं: हेलो अंकल. मैं नीतू.

उनके पिता (मेरी तस्वीर क्लिक करते हुए): अच्छा तुम नीतू हो? शुशांत ने बताया था तुम्हारे बारे में

मैं: आप मेरी तस्वीर क्यों क्लिक कर रहे हैं? बंद करो।

उनके पिता: ताकि तुम्हारे माता-पिता को बता सकूं कि क्या कर रही हो तुम यहां।

मैं (रटे स्वर में): नहीं अंकल. कृपया। मैंने तो मना किया था शुशांत को। वो माना ही नहीं और मुझे यहां ले आया।

उसके पिता: और तू आ गई चूत मरवाने के लिए?

मैं: प्लीज़ ऐसे मत बोलिये. मैं उससे प्यार करती हूं और वह भी मुझसे प्यार करता है।

उनके पिता: वो तो तेरे माता-पिता ही बताएंगे तुझे।

मैं: प्लीज़ अंकल.

उसके पिता (मेरे चूचो से मेरा हाथ हटा के): क्या उम्र है तेरी?

मैं: 22

उसके पिता: इतनी कम उम्र में इतने मोटे मोटे चूचे? शुशांत से पहले भी चुदी है ना और लड़को से?

मैं: नहीं.

उसके पिता: शुशांत ने बताया था कि तेरा बीएफ पहले भी था।

मैं: हा. पर उसके साथ कुछ किया नहीं।

उनके पिता (मेरा चूचा पकड़ते हुए): नाटक मत कर अब। चल अब मेरे रूम में.

मैं: नहीं. कृपया।

उसके पिता: हां तो मेरे कमरे में चल नहीं तो तेरी तस्वीरें वायरल कर दूंगा।

मैं: प्लीज मैं तो कहना चाहता हूं कि आपकी बहू जैसी है। अगर शुशांत को पता लग गया तो क्या होगा?

उसके पिता: उसको सब पता है। उसकी आखिरी गर्लफ्रेंड भी चुदी थी मुझसे। अब तेरा नंबर है.

वो मेरा हाथ पकड़ के अपने कमरे में ले गये।

उनके पिता (लंड बाहर निकाल के): चूस इसको। (मेरे चूचो पर हाथ फेरते हुए) नीतू आज तू चुदेगी तो पक्का। आराम से दे दे. दोनों एन्जॉय करेंगे.

मैं कुछ नहीं बोली. अन्होने मुझे बिस्तर पर बिठा दिया। और अपना लंड मेरे होठों पर रख दिया।

मैं: कृपया अन…

जैसे ही मैंने बोलने के लिए मुंह खोला, उन्हें अपना लंड मेरे मुंह में घुसा दिया। मुझे पता लग गया था कि आज नहीं बचूंगी मैं। शुशांत के पापा मेरी चूत मार के ही माने गे।

मैंने उनका लंड चूसना शुरू कर दिया।

उसके पिता: प्रोफेशनल के जैसी चुस्ती है, साली।

मैं कुछ नहीं बोली और लंड चूसती रही। 10 मिनट बाद उन्हें अपना लंड मेरे मुँह से निकला और मुझे बिस्तर पर ले लिटाया।

मैं: प्लीज़ कंडोम लगा लेना.

वो कंडोम लगा के मेरे ऊपर आ गये. और लंड मेरी चूत पर रख दिया।

मैं: कृपया आराम से करना.

उनके पिता (मेरे चूचो पर थप्पड़ मारते हुए): शुशांत ने मुझे सब बताया कि कितनी बड़ी रंडी है तू। रोज देती है उसको.

मैं: आप लोग ऐसे बातें भी शेयर करते हो?

तभी उन्हें ज़ोर से झटका मारा और उनका लंड मेरी चूत में घुस गया।

उसके पिता: ये उसका प्लान था तुझे मुझसे चुदवाने का।

फिर उसके पापा ने मुझे ऐसे चोदा कि मैं तो पागल ही हो गई। पहले निचे लिटा कर. फिर कुतिया बना कर. उसने मेरी चूत की धजिया उड़ा दी। मैं 2 बार डिस्चार्ज हो गई पर वो नहीं रुके।

उनका लंड मेरी चूत को फाड़े जा रहा था। मैं ना उनको रोक पा रही थी ना खुद को। 30 मिनट के बाद उनका लंड शांत हुआ और मेरी चूत से बाहर निकला। मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मेरा दिल ज़्यादा धड़क रहा है या मेरी चूत।

मैं थक गयी वही नंगी ही सो गई। अगली सुबह मेरी आँख खुली तो शुशांत वही था।

शुशांत: क्यों, मजा आया ना?

मैं: चुप करो. मुझसे बात नहीं करनी तुमने.

शुशांत: क्यों?

मैं: तुमने प्लान कर चुदवाया ना अपने पापा से?

शुशांत: तो क्या हुआ. मजा आया की नहीं तुझे.

मैं: मजा आया की नहीं वो बात नहीं. तुझे बताना चाहिए था मुझे.

शुशांत: बता देता तो क्या मान जाती तू?

मैं कुछ नहीं बोली.

शुशांत: गुस्सा मत कर. पापा नाश्ता बना रहे हैं. तब तक एक बार चूत देदे।

मैं: मुझे नहीं देनी.

पर उसने मेरी बात नहीं सुनी. वो मेरे ऊपर आ कर मेरी चूत पर टूट पड़ा।

नाश्ते के बाद उसके पापा ने फिर मुझे कुतिया बना लिया। अगले 2 दिन दोनों बाप बेटा ऐसे ही मेरी चूत के साथ खेलते रहें। 2 दिन मैं नंगी ही उनके बिस्तर पर पड़ी रही।

ये Hindi Sex Kahani आप readxxstories.com पर पढ़ रहे थे। उम्मीद करता हूँ आप लोगो को पसंद आयी होगी। 

कहानी कैसी लगी कमेंट में ज़रूर बताये। मिलते अगले किसी दिलचस्प कहानी के साथ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds