May 14, 2024
Daru ke nashe mein girlfriend ki chudai

हेलो दोस्तों, मेरा नाम मोहित है और मैं नोएडा का रहने वाला हूँ।

मेरी उम्र 20 साल है और मैं अभी कॉलेज में बी।एससी। की पढ़ाई कर रहा हूँ। मैं दिखने में ज्यादा सुन्दर तो नहीं हूँ लेकिन मेरा रंग गेहुंआ है और मेरी हाईट 5 फुट 6 इंच है। स्लिम और सेक्सी फिगर है।

मेरे स्तन का साइज़ 28 और कमर 32 है और मेरे नितम्ब 34 और गोल हैं। दोस्तों आज मैंने आप लोगों के सामने अपनी सच्ची कहानी पेश की है और मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को मेरी दारू के नशे में गर्लफ्रेंड की चुदाई की कहानी बहुत पसंद आएगी और आप मेरी कहानी पढ़कर उत्तेजित हो जाओगे।

तो अब आपका समय बर्बाद न करते हुए मैं अपनी कहानी पेश करता हूँ। मेरे घर में मैं, पापा और मम्मी रहते हैं। दोस्तो, मैं आपको बता दूं कि मैं स्कूल के दिनों से ही बहुत बिगड़ैल हो गया था।

स्कूल के दिनों में मेरी मुलाकात कुछ अच्छे दोस्तों से हुई जिन्होंने मुझे सिगरेट पीना सिखाया। एक बार की बात है, हम 9वीं क्लास में थे और मेरी एक दोस्त थी जिसका नाम रानी था।

उसके पिता सिगरेट पीते थे इसलिए एक दिन वह स्कूल में सिगरेट लेकर आई और हम दोनों अच्छे दोस्त थे इसलिए उसने मुझे बता दिया। अब मुझे पता नहीं था कि सिगरेट कैसे पी जाती है? तो मैंने उनसे पूछा कि क्या आप जानते हैं?

यह क्या है और इसे कैसे पीना है? तो वो बोली- हां, मेरे पापा पहले सिगरेट मुंह में डालते हैं और फिर आग जलाकर जोर से खींच लेते हैं। मैंने कहा ठीक है चलो एक बार फिर कोशिश करते हैं।

जब लंच का समय होता है तो सभी बच्चे खाना खाने के लिए बाहर चले जाते हैं, इसलिए रानी और मैंने पहले ही टिफिन खा लिया था और उसके बाद लंच के समय हम बाथरूम में गए, वहां सिगरेट का धुंआ लेते ही मुझे जोर-जोर से खांसी आने लगी। और मेरी आंखों से आंसू आने लगे। मैंने उससे कहा अरे ये क्या है? यह बहुत बेकार है।

मुझे ऐसा लग रहा है जैसे मैं मर जाऊंगा। तो उसने कहा कि देखो ऐसे ही पीते हैं। उसने बहुत अच्छे से सिगरेट पी और ख़त्म कर दी। ये देखकर मैं हैरान रह गया। मैंने स्कूल के बाद सिगरेट का एक पैकेट लिया और सोचा कि मैं घर जाकर धूम्रपान करूँगा।

ऐसा करते करते मैं सिगरेट पीने लगा। जब हम कॉलेज आये तो उन्होंने मुझे पीना भी सिखाया। मेरी जिंदगी ऐसे ही चल रही थी। इसी बीच एक लड़का था जिसका नाम मुकेश है और वो आज भी मेरा बॉयफ्रेंड है।

उन्होंने एनुअल फंक्शन के दौरान मुझे प्रपोज किया।’ अब मुझ पर भी जवानी का नया आकर्षण चढ़ चुका था, इसलिए मैंने भी उसे मना नहीं किया और हाँ में जवाब दे दिया।

जब मैंने यह बात रानी को बताई तो उसे बहुत दुख हुआ। मैंने उससे पूछा कि वह उदास क्यों महसूस कर रही है? तो उसने कहा- पापा का ट्रांसफर दिल्ली हो रहा है। यह सुन कर मुझे भी दुख हुआ क्योंकि वह मेरी लौटी हुई दोस्त थी।

फिर कुछ हफ़्तों के बाद वो चली गयी। हम दोनों एक दूसरे से दूर होने के बाद बहुत रो रहे थे और मैं उसे चोदने स्टेशन भी गया था। खैर, कुछ देर बाद मैं भी धीरे-धीरे सामान्य होने लगा। अब मैं ज्यादा मजा नहीं कर पाता था।

हम दोनों जब भी फोन पर बात करते तो दोनों ऐसे ही रोते, ‘यार, अब जिंदगी में मजे करने का मन नहीं है।’ वो वहां रहकर ब्लू फिल्में देखने लगा और ये बात उसने मुझे भी बताई।

मैंने सोचा कि सारा काम तो कर लिया, अब ये भी करके देखा जाए। जैसे ही मैंने अपने पीसी में ब्लू फिल्में इंस्टॉल कीं। मेरी हालत ख़राब होने लगी। हे भगवान, ये तो ब्लू फिल्म है। मैं पछताने लगा।

उसके बाद मैंने ब्लू फ़िल्में देखना बहुत कम कर दिया। फिर एक दिन उसने मुझे बताया कि उसका एक बॉयफ्रेंड है और वो उसके साथ सेक्स भी कर चुकी है, तो मेरी भी इच्छा हो गई।

एक दिन मैंने अपने बॉयफ्रेंड से पूछा कि तुम कहाँ हो? तो उसने कहा यार मैं अभी अपने दोस्त के घर आया हूँ। फिर मैंने उससे कहा कि यार मैं अभी तुमसे मिलना चाहता हूँ। तो उन्होंने कहा, ठीक है, सदर आ जाओ, हम वहां इंडियन कॉफ़ी हाउस में मिलेंगे। मैंने कहा ठीक है और फोन काट दिया।

मेरी कोचिंग शाम को 6 बजे होती है इसलिए मैं कोचिंग नहीं गया और वहीं चला गया। उसने पूछा आज मिलने का कारण? तो मैंने उससे कहा कि यार मैं तुम्हारे साथ सेक्स करना चाहता हूँ। उनके हाव-भाव देखकर ऐसा लग रहा था जैसे वह इसी दिन का इंतजार कर रहे हों। उन्होंने कहा कि ठीक है लेकिन मेरा घर खाली नहीं रहता।

तो मैंने कहा- कोई बात नहीं, जब मेरा घर खाली होगा तो मैं तुम्हें फोन कर दूंगा। एक बार रात को मम्मी पापा को किसी शादी में जाना था। इसलिए परिवार 8 बजे चला गया और यह बात मुझे अच्छी तरह से पता थी

मेरा परिवार कभी भी 11 बजे से पहले नहीं आता। उसके बाद उनके जाते ही मैंने अपने बॉयफ्रेंड को फोन किया और कहा- मेरा घर खाली है इसलिए तुम आ जाओ। उसने कहा- डार्लिंग, चिंता मत करो, यह तुम्हारे घर के पास ही था।

अभी-अभी तुम्हारे मम्मी-पापा मेरे सामने आये हैं। 5 मिनट में ही वो मेरे घर आ गया। मैंने उसे अन्दर बुलाया और दरवाज़ा बंद कर दिया। फिर उसने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींच लिया और मुझे अपनी बांहों में ले लिया। उसके बाद उसने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये और मेरे होंठों को चूसने लगा।

मुझे भी अच्छा लग रहा था इसलिए मैंने भी उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया। मैं उसके होठों को चूसते हुए उसके शरीर को सहला रही थी और वो मेरे होठों को चूसते हुए मेरे नितंबों को दबा रहा था।

कुछ देर चूमने के बाद उसने मेरा टॉप उतार दिया और मैंने ब्रा नहीं पहनी थी तो उसने तुरंत मेरे स्तनों को अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगा जिससे मेरे मुंह से आहा ऊनंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह की आवाज निकल गयी। । आहा उन्ह उम्ह की मादक कराहें निकलने लगीं।

वो मेरे दोनों दूधों को बारी बारी से जोर जोर से दबा रहा था और चूस रहा था और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कराह रही थी। फिर उसने भी अपने कपड़े उतार दिये और मेरे सामने नंगा हो गया। उसका लंड ज्यादा बड़ा तो नहीं था लेकिन मैं तो बस चुदना चाहती थी।

उसने मेरा लोअर उतार दिया और मुझे लिटा दिया और मेरी पैंटी भी खींच कर उतार दी। अब मैं उसके सामने नंगी लेटी हुई थी। उसने मेरे दोनों पैरों को फैलाया और अपनी जीभ से मेरी चूत को चाटने लगा तो मैं आहा ऊनंह उम्म्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह उमह उंह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए झड़ गयी।

उसने सारा रस चाट लिया और फिर मेरे दोनों दूधों को जोर जोर से दबाने लगा और मेरी चूत को चाटने लगा और मैं आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कराहने लगी। फिर उसने मुझसे अपना लिंग चूसने को कहा तो मैंने तुरंत उसका लिंग अपने मुँह में ले लिया और चूसने और चाटने लगी।

उसके मुँह से आहा ऊनंह उम्म्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा उंह उम्ह की कराहें निकल रही थीं। मैं उसके लिंग को ऊपर-नीचे करते हुए चूस रही थी और उसके लिंग को सहला भी रही थी।

और वो आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए मेरे स्तनों को दबा रहा था। फिर उसने अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और मुझे चोदने लगा।

मैं भी आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह आहा ऊंह ऊम्ह करते हुए कराह रहा था। वो जोर जोर से मेरी चूत को चोद रहा था और मैं भी अपनी चूत को चुदवाने का मजा ले रही थी।

कुछ देर चोदने के बाद उसने अपना वीर्य मेरी चूत पर छोड़ दिया। अब हमें जब भी मौका मिलता है, हम चुदाई करते हैं। उसने एक बार मेरी गांड भी चोदी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds