May 21, 2024
कामुक सेक्सी बहन को चोदा

आज की हिंदी सेक्स कहानी है “बड़ी मम्मी के सामने अपनी कामुक सेक्सी बहन को चोदा” इस कहानी को पढ़ने के बाद आप अपना लंड हिलाने से नहीं रोक पाएंगे।

यह कहानी आज से करीब 1 साल पहले की है जब मैं, मेरी बड़ी मां (ताई) और उनकी बेटी शहनाज हम दिल्ली में एक शादी में गए थे।

आइए आपको बताते हैं शहनाज के बारे में।

उस वक्त वह 19 साल की थीं। वह एक पटाखा है। उसका कद छोटा है लेकिन उसकी गांड बहुत सेक्सी है और उसके स्तन छोटे और बहुत कसे हुए हैं।
मैं छुप छुप कर उसे देखता रहता था लेकिन वो मुझे भाव ही नहीं देती थी।

दिल्ली जाते समय ट्रेन में कुछ ऐसा हुआ कि मेरा हाथ उसकी गांड पर लग गया।
वह कुछ नहीं बोली।

हम सब दिल्ली पहुंचे।
वहां बहुत से लोग आये हुए थे।
हमने नाश्ता किया और बाहर घूमने निकल गये।

बस में बहुत भीड़ थी। मैं, मेरी बड़ी मां और शहनाज़ भी भीड़ में शामिल हो गए।

मैंने सोचा कि मुझे शहनाज़ का अनुसरण करना चाहिए लेकिन ऐसा नहीं हो सका।
एक 40 साल का आदमी उसके पीछे आ गया।
मैं बड़ी मां के पीछे हो लिया।

मैंने देखा कि वो आदमी अपना लंड शेहनाज की गांड में रगड़ रहा था।
उनको देख कर मेरा लंड भी खड़ा होने लगा और बड़ी माँ की गांड को छूने लगा।

मैं थोड़ा पीछे हटने लगा ताकि बड़ी अम्मी को पता न चल जाए कि मेरा लंड उनकी गांड से चिपक कर सख्त हो रहा है।
उधर वो आदमी धीरे धीरे अपना लंड मेरी बहन शहनाज़ की गांड में रगड़ने लगा।

वह कुछ नहीं बोल रही थी।
अचानक आगे सड़क खराब हो गई, जिससे बस झटके खाने लगी।

मेरा लंड भी बड़ी माँ की गांड से रगड़ने लगा।
उधर लिंग रगड़ने से उस आदमी की हिम्मत बढ़ गयी।

वो शहनाज़ के नितंबों को सहलाने लगा।
मुझे वो सब देखकर बहुत बुरा लगा लेकिन मैं कुछ नहीं कर सका।

मेरी बड़ी माँ चमेली को भी पता था कि मेरा लंड खड़ा हो गया है लेकिन बस में इतनी भीड़ थी कि वो कुछ नहीं कर पा रही थी इसलिए कुछ नहीं बोली।

कुछ देर बाद हमारा स्टॉप आ गया।
हम तीनों नीचे उतर गये।

वह शख्स शहनाज को देखकर मुस्कुराने लगा।
शहनाज़ ने भी उन्हें स्माइल दी।

मुझे लगा कि कुतिया मुझसे दूर भाग गई है और इस 40 साल के आदमी का आनंद ले रही है।

मैं उसकी गांड के बारे में सोच कर बहुत मुठ मारता था, उसकी गांड ऐसी थी कि कोई भी उसे देखे बिना नहीं रह सकता था।

बाहर घूमने के बाद हम तीनों दिल्ली के The Manor Hotel में रुके हुए थे उसमें वापिस आ गए।
खाना खाया और शाम को हम एक ही कमरे में सो गये।

हम सब कमरे में आ गये।
वहाँ एक डबल बेड था और हम तीनों को उस पर लेटना था।

शहनाज़ किनारे पर लेटी हुई थी। मेरी बड़ी माँ एक तरफ थी और मैं बीच में था।
आज पहली बार मैं अपनी बड़ी माँ और शहनाज़ के साथ सो रहा था।

रात को एक बजे मेरी आंख खुली।
मैंने देखा कि बड़ी अम्मी मेरी तरफ गांड करके लेटी हुई थीं, शहनाज़ मेरी तरफ गांड करके लेटी हुई थी।

ये देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया।
मैं सोच रहा था कि इस रंडी को चोद दूँ। (कामुक सेक्सी बहन को चोदा)

मैंने हल्के से अपना हाथ उसकी गांड पर रख दिया।
मैं शहनाज़ की गांड को सहलाने लगा।

यहीं से मेरा लंड मेरी बड़ी माँ की गांड से लड़ने लगा। कुछ ही देर में मैं पूरी गर्म हो गयी थी।

मेरा लंड फड़फड़ाने लगा था, मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पा रहा था, बस मेरा मन कर रहा था कि तुरंत ही साली की गांड में अपना लंड डाल दूँ और उन्हें चोद दूँ।

मैं सोते समय लुंगी पहनता हूं।
मैंने लुंगी ऊपर खींची और पैंटी धीरे से नीचे सरका दी।

अब मेरा लंड जोर-जोर से हिल रहा था। मैंने उसे अपने हाथ में पकड़ लिया और बड़ी अम्मी की गांड को देख कर मुठ मारने लगा।

मैंने सोच लिया था कि आज मैं अपनी बड़ी माँ की गांड का मजा लूँगा।
लेकिन बहुत सोचने के बाद भी मुझमें हिम्मत नहीं हुई।

मैं बड़ी अम्मी की गांड पर अपना लंड रगड़ने लगा और कुछ ही देर में उनकी गांड की गर्मी पाकर मेरा वीर्य टपक गया।
तो मैं भी थक गया और अपना अंडरवियर पहना और सो गया।

अगली रात हम तीनों फिर ऐसे ही सो गये।
आज बड़ी माँ नाइटी में थी। शहनाज़ हरे रंग के सलवार सूट में थीं।

कल की तरह मैं दोनों के बीच में था।
मुझे नींद नहीं आ रही थी। मेरा लिंग बहुत सख्त हो गया था। मैं तो शहनाज की गांड देख कर पागल हो रहा था।

करीब 11 बजे मैंने देखा कि वो गहरी नींद में सो गयी थी।
आज मैं अपनी बड़ी मां को भूल गया था और शहनाज़ की जवानी का मजा लेने के मूड में था।

मैं शहनाज़ के करीब चला गया।
वह मेरी ओर मुँह करके लेटी हुई थी, उसके गहरे गले के सूट में से उसके गोरे स्तन बहुत अच्छे लग रहे थे।

मैं उसके स्तन देख कर उत्तेजित होने लगा और उससे चिपक गया।
उसकी गर्म सांसें महसूस होने लगीं।

फिर वो पलटी और अपनी गांड मेरी तरफ कर दी।
मैंने अपना हाथ उसकी गांड पर रख दिया और सहलाने लगा।

वो हल्के से हिली और मैंने अपना लंड उसकी गांड में रख दिया और उसके मम्मे दबाने लगा।
वो अचानक उठी और बोली- भैया, आप क्या कर रहे हैं?

मैंने कहा- चुपचाप मजा लो, नहीं तो बड़ी अम्मी जाग जाएंगी।
वो बोली- मैं मां को बताने जा रही हूं कि तुम क्या कर रहे हो। यहाँ से चले जाओ!

मैंने कहा- चुप रह रंडी… तू उस चालीस साल के आदमी से बस में क्या करवा रही थी, उस वक्त तुझे कुछ नहीं मिल रहा था… मैं तब से सोच रहा हूं कि मेरी बहन जवान हो गई है और उसे भी लंड की जरूरत है। (कामुक सेक्सी बहन को चोदा)

अब वो हंस कर बोली- भैया, क्या आपने वो सब देखा?
में : हाँ रंडी, में तो तुझे लाइन देता था और तू भी जानती थी। यही है ना

“हां भाई, लेकिन मुझे डर था कि कहीं मां देख न लें। ट्रेन में तुमने मेरी गांड दबायी थी, मुझे तभी पता चल गया था कि मुझे तुमसे चुदाई करानी चाहिए, लेकिन मैं डर रही थी।”

दिल्ली में सस्ती और सेक्सी लड़कियां चुदाई के लिए बुक करे:

जबकि मैंने उसके मम्मे दबाते हुए कहा- अब मत डर मेरी बहना!
वो बोलीं- आह भैया, धीरे धीरे करो … लगता है, फिर मेरी आवाज़ से कहीं अम्मी जाग ना जाएं?
मैंने कहा- वो गहरी नींद में है, डरो मत।

अब मैं उसे चूमने लगा।
वो भी साथ देने लगी।

मैं स्वर्ग में विचरने लगा; मेरे सपनों की रानी शेहनाज आज मुझसे चुदने वाली थी।

हम दोनों नंगे हो गये और चादर ओढ़ कर मजे करने लगे।

काफ़ी देर तक चूमने के बाद मैंने उसके स्तनों को चूसना शुरू कर दिया।
वो भी जोश में आ रही थी और अपने मम्मों को हाथ से पकड़ कर मुझसे चुसवा रही थी।

धीरे धीरे मैं उसकी चूत तक आ गया। मैं उसकी चूत को चाटने लगा।
पांच मिनट तक उसकी चूत चाटने के बाद मैंने उससे अपना लंड चूसने को कहा।

लंड देख कर वो आह भरते हुए बोली- भाई ये तो बहुत बड़ा है … मैं इसे अन्दर कैसे ले पाऊंगी?
मैंने कहा- मैं आराम से करूंगा.. तुम बस इसे चूस कर गीला कर दो। आसानी से तुम्हारे छेद में चला जायेगा।

वो लंड चूसने लगी। वह बड़े मजे से लिंग के सिरे को चूस रही थी और लिंग को चाट रही थी।
मैंने कहा- इसे गले तक चूसो!

उसने आधा लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगी।
मेरा लिंग एकदम सख्त हो गया था और झड़ने वाला था।

मैंने कहा- बस भी कर रंडी.. वो झड़ जाएगा।
वो हंसने लगी और बोली- हां तो उतर जा रंडी की औलाद। मैं भी तेरा माल चखूंगी।
मैंने कहा- नहीं, मैं तुम्हें चूत चोदने के बाद जूस पिलाऊंगा।

अब मैं अपना लंड डालने के लिए तैयार हो गया। (कामुक सेक्सी बहन को चोदा)
वो अपनी टांगें फैलाते हुए बोली- आराम से करो भाई।

थोड़ी देर बाद मैंने फिर से उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया।
चूत को चूस कर अच्छी तरह से गीला कर दिया, लंड को सेट किया और बहन की चूत में डालने लगा।

जैसे ही सुपारा अन्दर गया, वो दर्द से चिल्ला उठी- अई अई अई… धीरे भैया।
मैं अपना लंड धीरे धीरे अन्दर डालने लगा।

कुछ ही देर में मैंने अपना पूरा लंड घुसा दिया और अपनी बहन की चूत को चोदने लगा।

सहसा बड़ी माँ पलटीं।
शहनाज फुसफुसाकर बोलीं- भाई, मां चली गई हैं।
मैंने कहा- वो सो रही है और करवट ले चुकी है।

फिर मैं धीरे-धीरे और आराम से उसकी चूत को चोदने लगा।
शहनाज भी मजे से गांड उठा-उठा कर लंड लेने लगी।

करीब 15 मिनट बाद मैं उसकी चूत में ही झड़ गया।
वो बोली- तुम मुझे जूस पिलाने वाले थे?
मैंने कहा- मैं तुम्हें दूसरी बार दूंगा।
वह हंसी।

करीब 10 मिनट तक हम दोनों ऐसे ही लेटे रहे।
वो बोली- भैया, अब हटो, मुझे कपड़े पहनने दो।

मैंने कहा- मेरी रंडी बहन, अब कैसे जाऊं? मैं उस व्यक्ति के बारे में सोचकर हस्तमैथुन करता था जिस पर मैं मोहित था, फिर भी मैंने उसे देखा तक नहीं।

वो बोली- क्या नहीं देखा? सारा पानी निकाल दिया गया… अब क्या बचा है?
‘मैंने अभी तक तुम्हारे शरीर का सबसे आकर्षक हिस्सा भी नहीं देखा है। जो मैंने ट्रेन में दबा लिया था और कल रात इस पर चर्चा की थी।

वो समझ गयी कि मैं उसकी गांड के बारे में बात कर रहा हूँ। वो घबरा गई और बोली- नहीं भैया, मैं आपको चोदने नहीं दूंगी। मैं मर जाऊंगी.. पीछे से नहीं लूंगी। वहां बहुत दर्द होगा।
मैं- देख मेरी जान, जैसे मैंने तेरी चूत चोदी है, वैसे ही मैं तेरी गांड भी चोदूंगा।

वो बोली- वो तो ठीक है भैया, लेकिन मुझे डर लग रहा है।
मैंने कहा- सब आराम से हो जाएगा। तुम बस मेरा लंड चूसो और गीला कर दो!

वो लंड चूसने लगी।
दस मिनट तक लंड चूसने के बाद वो गर्म हो गयी।

मैंने उसे उल्टा लिटाया और तकिया लगा दिया।
उसकी खुली गांड देख कर मेरा लंड सख्त हो गया था।

मैं उसकी गांड चाटने लगा, एक उंगली पर थूक लगाया और उसका छेद थोड़ा सा खोल दिया। अंदर थूक कर गांड को फिसलन भरा बना दिया।
फिर मैंने अपना लंड उसकी बुर में रखा और एक धक्का मारा।

मेरा लंड फिसल गया। (कामुक सेक्सी बहन को चोदा)
मैंने अपना लिंग ठीक से सेट करके अन्दर डालने की कोशिश की लेकिन वो फिर से फिसल गया।

वो बोली- धीरे धीरे देना भाई, इतनी जल्दी क्या है।

मैंने लंड को थूक से गीला किया और फिर से छेद पर सैट किया और एक शॉट मारा।
इस बार एक ही झटके में पूरा लंड उसकी गांड में चला गया।
वह जोर से चिल्लाई।

मुझे डर लग रहा था कि माँ उठ जाएगी।
मैंने उसका मुँह दबा दिया।

वो चिल्लाने लगी- आह भैया, बाहर निकालो … मैं मर जाऊंगी।
मैंने उसका मुँह दबाया और अपना लंड घुसाने लगा।

तभी मेरी बड़ी माँ उठी और इधर उधर देखने लगी।
मैं हाँफकर रुक गया।
कमरे में नाईट बल्ब जल रहा था।

तभी बड़ी माँ ने एक बड़ा बल्ब जलाया और बोलीं- साले, मुझे शक तो था लेकिन मुझे नहीं पता था कि ये रांड भी राजी है। किसी को पता चलेगा तो क्या सोचेगा?

मैंने कहा- बड़ी अम्मी, मैं शहनाज़ से प्यार करता हूँ।
उस वक्त भी मेरा लंड उसकी गांड में घुसा हुआ था।

बड़ी माँ बोलीं- अपना लंड बाहर निकालो, क्या मेरे सामने भी ये सब करोगे?
ये कह कर बड़ी अम्मी हँसती हुई बाथरूम में चली गईं।

बड़ी मां की हंसी से मैं समझ गया कि उनकी तरफ से हरी झंडी है।

मेरा लंड तो शहनाज़ की गांड में था लेकिन मेरी नज़र बड़ी अम्मी की गांड पर थी।
वो अपनी गांड मटकाते हुए जा रही थी

बाथरूम में घुसने से पहले वो मेरी तरफ देखकर मुस्कुराई और अन्दर चली गयी।

मैंने कहा- शहनाज़, तेरी माँ की गांड भी बहुत अच्छी है।
वो बोली- देखो क्या होता है। वापस आकर वह क्या कहती है?

“कुछ नहीं होगा डार्लिंग, अब तुम भी मेरी दुल्हन बनोगी और तुम्हारी माँ मेरी रंडी बन कर चुदेगी।” (कामुक सेक्सी बहन को चोदा)

वो बोली- कैसे?
मैंने कहा- बस देखती रहो। जैसा मैं कहूँगा तुम वैसा ही करोगे न?
वो बोली- मैं आपके लिए सब कुछ करूंगी भैया।

अब मैंने धक्के लगाना शुरू कर दिया।
वो ‘आ उ उ उ…’ करने लगी।

कुछ ही झटकों में मैं उसकी गांड में स्खलित हो गया।
हम उस समय दिल्ली में दस दिनों तक रुके थे।

उस दौरान मैंने अपनी बड़ी मां को शहनाज़ के सामने कैसे चोदा, ये अगली कहानी में लिखूंगा।

आज मैं और शहनाज़ पति-पत्नी बन गये थे और मेरी बड़ी माँ यानि मेरी सास मेरी रंडी बन गयी थी।
हमारे समाज में ये सब चलता रहता है।

शहनाज़ से मेरा एक बच्चा भी है।

अब तो मैं शहनाज़ से ज़्यादा अपनी बड़ी माँ यानि अपनी सास को चोदता हूँ।

तो दोस्तो, आपको मेरी यह चुदाई की कहानी कैसी लगी, जरूर बताएं।

अगर आपको यह कामुक सेक्सी बहन को चोदा कहानी पसंद आई तो हमें कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं।

यदि आप ऐसी और चुदाई की सेक्सी कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “Readxstories.com” पर पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds