May 21, 2024
लिफ्टमैन का लंड चूसने का पहला अनुभव

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम हनी सिंह है और मै लाया हू एक मजेदार चुदाई स्टोरी, आज मै आपको बताने जा रहा हू की मेरा लिफ्टमैन का लंड चूसने का पहला अनुभव , मै दावे के साथ कह सकता हू इसे पढ़कर आपकी पैंट गीली हो जाएगी तो चलिए शुरू करते है बिना किसी देरी के,

डिक सकिंग सेक्स स्टोरी एक बाइसेक्सुअल लड़के के बारे में है। उसे लड़के और लड़कियाँ दोनों पसंद हैं। उसका मन लंड चूसने का हुआ तो उसने लिफ्टमैन का लंड चूस कर अपनी प्यास बुझाई.

मेरा नाम मुनीश है. मैं 24 साल का हूँ। मैं एक साधारण लड़का हूँ लेकिन मुझे सेक्स कहानियाँ पढ़ने का शौक है।

मैं कई सालों से “सेक्स कहानी डॉट readxxstories.com” पर मजेदार और हॉट सेक्स कहानियाँ पढ़ रहा हूँ।
मैं यहां की सेक्स कहानियां पढ़कर बहुत उत्तेजित हो जाता हूं.

यहाँ मुझे अपनी पसंद की कई कहानियाँ पढ़ने को मिलती हैं जिनमें बाइसेक्सुअल और समलैंगिक सेक्स कहानियाँ भी हैं।

चूँकि मैं भी बाइसेक्सुअल हूँ इसलिए मुझे लड़के और लड़कियों दोनों के साथ सेक्स करना पसंद है।

डिक सकिंग सेक्स कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आपको बता दूं कि मैं दिल्ली का रहने वाला हूं.

दिल्ली में लोग बहुत खुले विचारों वाले होते हैं और हर तरह के सेक्स का आनंद लेना पसंद करते हैं, जिसमें रिश्तों में सेक्स, परिवार में सेक्स, समलैंगिक सेक्स, लेस्बियन सेक्स शामिल है।

ऐसे ही एक बार मुझे किसी ने व्हाट्सएप पर कॉल किया.
वह कोई लड़का था जिससे मेरी मुलाकात एक समलैंगिक समूह में हुई थी; वह हस्तमैथुन कर रहा था.

उसे इस तरह हस्तमैथुन करते देख कर मुझे भी उसे देखने में मजा आने लगा.
मैंने भी उसके साथ अपना लंड हिलाया.

फिर ऐसे ही मुझे धीरे-धीरे लिंग को मुँह में लेकर चूसने की इच्छा होने लगी।
लेकिन मैं ये बात किसी को बता नहीं सका.

फिर मैंने वीडियो कॉल पर हस्तमैथुन करना शुरू कर दिया.
मैं कई महीनों तक फोन के जरिए अपनी हवस मिटाने की कोशिश करती रही.

लेकिन समय के साथ मेरी लंड चूसने की चाहत और भी बढ़ने लगी.

एक बार मैं कॉलेज से घर आ रहा था.

उन दिनों मैंने एक बात नोटिस की कि हमारी बिल्डिंग का लिफ्टमैन बदल गया था।
इमारत में एक नया लिफ्टमैन तैनात किया गया था।
उसका नाम मनोज था.

वह यूपी का लग रहा था।
जहां तक मैंने सुना था यूपी के मर्दों के लंड बहुत बड़े यानी लंबे और मोटे होते हैं.

जब से मैंने उस लिफ्टमैन को देखा है, मेरा मन उसका लंड चूसने का करने लगा है.
मैंने तय कर लिया था कि अब मैं अपनी लंड चूसने की प्यास बुझाऊंगा और इस लिफ्टमैन का लंड अपने मुंह में लेकर उसका स्वाद चखूँगा .

तो मैंने क्या किया कि मैं हर दिन घर जाते समय एक लॉलीपॉप खरीदता और बिल्डिंग में प्रवेश करते ही उसे चूसता और फिर लिफ्ट में भी उसे चूसता रहता।

मैं यह सब जानबूझ कर करता था ताकि मैं मनोज को दिखा सकूं कि मैं कैसे लॉलीपॉप को अपने मुंह में लेकर चूस रहा हूं और उसे संकेत दे सकूं कि मैं इसी तरह और चूसना चाहता हूं।
साथ ही लिफ्ट में घुसने के बाद मैं अपनी जींस नीचे सरका लेती थी ताकि मनोज को मेरी गांड की दरार दिख जाए.

मैं उसे लाइन देने में कोई कसर नहीं छोड़ रहा था.

एक बार मैं फोन पर बात करते हुए बिल्डिंग की छत पर पहुंच गया.
मनोज का कमरा उसी छत पर था और सौभाग्य से वह उस समय स्नान कर रहा था।

वहां बाथरूम नहीं था इसलिए वह खुले में नहा रहा था.
उसने केवल एक लुंगी पहनी हुई थी और उस गीली लुंगी में से उसका लिंग उभरा हुआ साफ़ दिखाई दे रहा था।

जब मैंने लंड का साइज़ देखा तो मेरी आँखें खुली रह गईं. लंड 7 इंच लंबा और करीब 3 इंच मोटा था.
ऊपर से उसका शरीर बिल्कुल कसा हुआ था… उसकी छाती बिल्कुल फूली हुई थी और जांघें मोटी थीं!

मैं तो देख कर पागल हो गया.
मेरा दिल उस सांवले लड़के पर आ गया और मैं उसे देखता ही रह गया.

उसने अपनी लुंगी में हाथ डाला और अपने आधे खड़े लंड पर साबुन मलने लगा.

उसे नहीं पता था कि मैं भी वहीं खड़ा हूं.
फिर मैंने सोचा कि अगर उसने मुझे अपनी तरफ घूरते हुए देख लिया तो वो जल्दी से नहाकर बाहर आ जाएगा.
मैंने नज़ारे का लुत्फ़ उठाने की सोची और उस तरफ छुप गया।

लिंग पर साबुन लगाते समय मनोज शायद मूड में आ गया और साबुन लगे लिंग पर मुठ मारने लगा.
ये देख कर मुझे और भी मजा आने लगा.
मेरा लंड भी खड़ा हो गया था.

बाद में, मैंने हस्तमैथुन के उद्देश्य से उसके वीडियो बनाना शुरू कर दिया।
लेकिन वीडियो पूरा रिकॉर्ड नहीं हो सका और बीच में उसने मुझे देख लिया.
उसने अचानक हस्तमैथुन करना बंद कर दिया और फिर साबुन से हाथ धोना शुरू कर दिया.

मनोज ने देखकर भी कुछ नहीं कहा.
फिर मैं भी वहां से आ गया.

आने के बाद मैंने वो वीडियो देख कर हस्तमैथुन किया.
मैंने लगातार तीन बार अपना पानी छोड़ा, तब जाकर मैं शांत हुआ.

लेकिन अब मैं मनोज का लंड चूसने के लिए मरी जा रही था .
मैं बस किसी भी तरह उसका लंड चूसना चाहती था .

2 दिन बाद मैं उस शाम अपने दोस्तों के साथ पार्टी करके लौट रहा था.
काफी समय बीत चुका था।
मुझे लंड चूसने का मन हो रहा था.

मैंने मनोज पर फिर से डोरे डालने की सोची.
तो मैंने लॉलीपॉप लिया और उसे चूसा और लिफ्ट में घुस गया।
मनोज वहीं लिफ्ट में खड़ा था.

मैं उसे हवस भरी नजरों से देख रहा था.
ऐसा लगा मानो मेरे पूरे शरीर में आग लग गयी हो।
मैं जानबूझ कर उसके लंड की तरफ देख रहा था .

फिर मैंने लॉलीपॉप को और ज़ोर से चूसा और उससे कहा- क्यों मनोज , तुम्हें भी यहाँ अकेले अपनी बीवी की याद आ रही होगी?
मेरी बात पर वो थोड़ा शरमा गया और बोला- हाँ करता तो हूँ भाई, लेकिन क्या करूँ, अपने हाथ से ही काम चला लेता हूँ।

मैं बस उसके मुँह से ये सुनना चाहता था और मैंने दिल से कहा- क्या मैं आपकी कुछ मदद कर सकता हूँ? आपके हाथ थक गये होंगे?

वो मेरी बात पर हंसने लगा और बोला- अरे भाई, मजाक कर रहे हो? हम आपसे ऐसा काम क्यों कराएंगे?
तो मैंने कहा- एक तरफ भाई ऐसा कहते हैं, दूसरी तरफ शर्म भी महसूस कर रहे हैं!

मैं देख रहा था कि उसका लिंग उसकी पैंट में आकार लेने लगा था।
मुझे पता चल गया कि अगर मैंने थोड़ी सी कोशिश की तो उसका लंड मेरे मुँह में होगा.

मैंने उसका हाथ पकड़ा और अपने हाथ में लेकर सहलाया और कहा- मुझे आपकी मदद करने में कोई शर्म नहीं है.
ये कहते हुए मैंने उसकी पैंट की चेन में से हाथ ले जाकर उसके लंड को सहलाया.

अब वह थोड़ा डरा हुआ था लेकिन फिर ऐसा लगा जैसे वह इस मामले पर गंभीर हो गया हो.
उसने कहा- क्या तुम सच में बोल रहे हो?
इस पर मैंने उसके पैंट के ऊपर से उसका लिंग पकड़ लिया और सहलाते हुए कहा- तुम्हें अब भी यकीन नहीं हो रहा?

उसके लंड को छूते ही मेरे बदन में आग लग गयी.
उधर उसका लंड भी तनाव में आने लगा.

मैंने कहा- देखो बेचारा अंदर कैसे तड़प रहा है, चलो मैं इसकी मदद करता हूँ!
उसने कहा- अब जा रहे हो?

यह सुन कर मेरा दिल भर आया और मैंने उस पर एहसान जताते हुए कहा- हाँ, मैं अभी तुम्हारे लिए चला जाता हूँ… तुम खुश रहना!

यह सुनते ही उसका लंड अचानक खड़ा हो गया और उसकी पैंट में अलग से तना हुआ तंबू दिखने लगा.
हम बीच में नहीं रुके और लिफ्ट से सीधे छत पर उतर गये।

हम जल्दी से उसके कमरे में पहुँचे और अन्दर जाते ही उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लिंग पर रख दिया।
उसका लंड अब लोहे की तरह सख्त हो गया था.
वो बोला- देखो डार्लिंग, क्या हालत कर दी है इसकी?

अब वह भाईचारे वाली औपचारिकता से बाहर आया और सीधे कामुक अंदाज में बातें करने लगा.
इससे पहले कि मैं हिलती, उसने मेरी शर्ट के बटन खोल दिए, मेरी शर्ट उतार दी और मेरे निपल्स चूसने लगा.

जैसे ही मैंने उसके गर्म होंठों को छुआ, मेरे शरीर में बिजली का करंट दौड़ गया और मैंने अपने स्तनों को आगे कर दिया और उसके सिर को सहलाते हुए उसे अपने निपल्स से दूध पिलाने लगी।

उसका एक हाथ पीछे से मेरी गांड पर आ गया और उसे दबाने लगा और इधर मेरे मुँह से आनंद के कारण कराहें निकलने लगीं- आह्ह… ओह्ह… ओह माय गॉड… स्स्स… आह्ह… हाय… मनोज … आह्ह।

अब मैं अपने आप को रोक नहीं पाई और उसके लिंग को पैंट के ऊपर से पकड़ कर सहलाने लगी।
उसका लंड बाहर आने को तड़प रहा था.

मैं उसके लिंग का सिर पकड़ कर दबा रही था जिससे वह भी कराहने लगा।
उसे चूची पिलाते हुए मैंने उसकी पैंट की बेल्ट उतार दी.
जब मैंने अपनी पैंट खोली और उसमें हाथ डाला तो मैं उत्तेजना से पागल हो गया।

उसका लिंग लोहे की तरह गर्म था और अचानक कठोर हो गया था।
लंड को छूते ही मेरे शरीर में इतनी गर्मी आने लगी कि मुझे ऐसा लगा जैसे मैं जल रहा हूं.
मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पाया और उसकी पैंट उतार दी.

उसका काला लंड अँधेरे में सलामी दे रहा था.
उसके लंड से पेशाब की गंध आ रही थी. उसके नितम्ब बहुत बड़े थे मानो उनमें पूरा वीर्य भरा हो।

मैंने उसके लिंग के टोपे की चमड़ी खींच कर उसे पूरा नंगा कर दिया.
टोपा वीर्य से सना हुआ था और अगले ही पल मैंने उसे अपनी जीभ से चाट लिया.
एक बार जब मैंने लंड का स्वाद चखा तो मैं अपने आप को रोक नहीं पाई और उसका लंड चूसने लगा .

मैं उसके लिंग को मजे से चूसने लगा जैसे उसका लंड लॉलीपॉप से भी ज्यादा स्वादिष्ट हो.
उसके हाथ मेरे सिर पर आ गए और मैं पागलों की तरह कराहने लगा- आह्ह… डार्लिंग… चूसो मुझे… आह्ह… हाआ… आह्ह… स्स्स… ओह्ह… म्म्म्म!

फिर अचानक उसने मेरा सिर पकड़ा और अपना लिंग मेरे गले तक घुसा दिया।
मैं पहली बार किसी लंड को चूस रही था .
मुझे कोई अनुभव नहीं था.
इस हरकत ने मानो मेरी जान ही छीन ली!

लेकिन वो वासना से पागल हो चुका था.
उसने मुझे दीवार से सटा दिया और मेरे हाथ दीवार से चिपका दिए और मेरा सिर पकड़कर मेरा मुँह चोदने लगा।

अब उसके लिंग का रस मेरे होंठों से बहने लगा और उसके साथ-साथ मेरे मुँह की लार भी मेरे गले तक बहने लगी.
मैं उसके प्यार में पूरी तरह खोता जा रहा था.

कभी-कभी मुझे उल्टी जैसा महसूस होता था लेकिन मुझे भी इतना मज़ा आ रहा था कि मैं अपना मुँह आगे-पीछे करने लगा।

फिर उसने लंड मुँह से निकाला और उसके अंडकोष मेरे होंठों पर रख दिये.
मैंने उसके बड़े बड़े आंडों को मुँह में ले लिया और चूसने लगा.
मुझे उसकी गांड चूसने में बहुत मजा आ रहा था. मुझे लंड का स्वाद अच्छा लगा.

ऐसा लग रहा था जैसे वो मेरे अंदर घुसने को तैयार हो.
कुछ देर तक लिंग चूसने के बाद उसने फिर से लिंग को मुँह में डाल लिया.
मैं फिर से उसके लंड के प्रीकम का स्वाद चखने लगी.

दो-तीन मिनट तक उसके मुँह को चोदने के बाद वो बोला- जान कहाँ निकालूँ अपना वीर्य?
मैंने कहा- मुँह में निकाल लो मेरे राजा!
फिर वो कुछ पल तक मेरे मुँह को चोदता रहा और फिर मुझे पास की टेबल पर लेटने को कहा.

मैं मेज़ पर लेट गया.
उसने मेरी शर्ट पूरी उतार दी और अपना लंड मेरे मुँह में डाल कर मुझे लिटा कर चोदने लगा.
मैं लेटा हुआ उसकी जाँघों और नितम्बों को सहला रहा था।

मुझे लंड चुसाई सेक्स का बहुत मजा आ रहा था.
अब वो पूरी ताकत से अपना लंड मेरे मुँह पर दबाने लगा.
मैं समझ गया कि उसका निकलने वाला है.

फिर उसने अचानक से मेरे मुँह में वीर्य छोड़ना शुरू कर दिया.
उसके वीर्य का एक अजीब सा स्वाद मेरे मुँह में आने लगा.
मैंने पहली बार लंड चूस कर माल का स्वाद चखा.
मैं उसके सामान का स्वाद कभी नहीं भूल सकता.

फिर मैंने उसके लंड को चाट कर पूरा साफ़ कर दिया.
मैंने कहा- ठीक है, अब हमें जाना होगा.
उसने कहा- हां ठीक है. नहीं तो कोई आकर देख लेगा.

उस दिन के बाद संतुष्टि के साथ मेरा लंड चूसना लगभग हर दिन का नियम बनने लगा।
हम उनके छोटे से कमरे में जाते थे और खूब मस्ती करते थे.
जब मेरे घर पर कोई नहीं होता था तो मैं भी उसे बुला लेता था.

कई बार तो हमने कमरे में पूरे नंगे होकर भी मस्ती की.
वो कहानी मैं आपको फिर कभी बताऊंगा कि कैसे मैंने मनोज को नंगा किया और उसका लंड पिया.

आपको ये लंड चुसाई सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे जरूर बताएं.
मेरी ईमेल आईडी है

दोस्तों मुझे मेरी कहानियों पर बहुत अच्छी प्रतिक्रिया मिल रही है. मुझे उम्मीद नहीं थी कि आप सबको मेरी कहानी इतनी पसंद आएगी. तो देखा आपने मेरा लिफ्टमैन का लंड चूसने का पहला अनुभव ,दोस्तों कैसी लगी मेरी स्टोरी मैंने कहा था आपकी पैंट गीली होने वाली है , तो चलिए मिलते है अगली स्टोरी मैं तब तक के लिए अपना दिन रखिये | और हिंदी सेक्स स्टोरी पढ़ने के लिए हिंदी सेक्स स्टोरी पर क्लिक करे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds