July 16, 2024
principal ne mari gand

आज की कहानी में पढ़े परीक्षा में पास करने के लिए प्रिंसिपल ने मारी गांड और बना लिया मुझे अपनी पर्सनल रैंड

हाय फ्रेंड्स मेरा नाम देवांगना है और मैं जयपुर से हूं, मेरा फिगर 34 बूब्स, 29 कमर, 38 गांड है, मैं एक बहुत ही खूबसूरत और सेक्सी लड़की हूं जो कोई भी मुझे एक बार देख ले उसका लंड खड़ा हो जाता है और पानी निकल जाता है। अब समय बर्बाद ना करते हुए सीदा सेक्स कहानी पर आती हूं

12वीं पास कर के एक इंजीनियरिंग कॉलेज मैं एडमिशन लिया। मेरे घर में मै और मेरे पापा ही थे। और वो बहुत बड़े बिजनेसमैन हैं तो पैसे की तो कमी नहीं थी। तो पापा ने मुझे एक अच्छी कॉलेज में एडमिशन करा दिया, दाखिला कराया और हॉस्टल में रहना अनिवार्य था मैंने भी रहने का बंदोबस्त कर लिया था 

दूसरे दिन सुबह हम दोनों नहा धो के कॉलेज के लिए निकल पड़े। कॉलेज शुरू हो गया था और देखते ही देखते प्रथम सेमेस्टर की अंतिम परीक्षा नजदिक आ गई और मैं और माया ने कुछ तयारी भी नहीं की थी और परीक्षा देने के बाद कुछ दिन की छुट्टी के लिए मैं अपने घर चली गई।

जब कॉलेज शुरू हुआ तो थोड़े दिन खराब परिणाम आया और मुझे हमारे एचओडी (विभाग प्रमुख) ने बुलाया और सर ने मुझे बहुत डांट लगाई और कहा तुमने पूरे साल क्या कियापढ़ाई क्यों नहीं की और उस पुरे दिन मैंने एक डीप कट वाला टॉप और टाइट जींस पहनी हुई था तो सर कि हवस भरी नजर मुझपे ही थी मैंने ये नोटिस कर लिया था।

उसने बोला कि कॉलेज खत्म होने के बाद मुझे मेरे केबिन में अकेले मिल ना और पूरा दिन मेरा मूड ऑफ रहा जब पूरी कॉलेज अपने घर जा चुके थे। तब मैं सर के केबिन में गई तो सर अकेले केबिन में मेरा वेट कर रहे थे। जैसे तैसे मैं केबिन में गई सर ने बोला डोर को लॉक करो मैं ने ऐसा ही किया और सर ने उसके सामने बैठने को बोला।

सर ने फिर से मुझे डांटा और फिर कहा कि मैं तुम्हारा रिजल्ट सुधार सकता हु लेकिन इसके लिए तुम्हें कुछ करना होगा और ये बोल के वो खड़े हो के मेरे पास आकर मेरा हाथ पकड़ लिया और बोला कि मैं तुम्हारे साथ एक पूरी रात बिताना चाहता हूं तो मैं सर का हाथ छुड़ाके खड़ी हो गई और जाने लगी।

तो सर ने मुझे पकड़ लिया और मुझे एक जोर का चांटा मारा और कहा कि अगर मैंने हां नहीं किया तो वो मुझे हर परीक्षा में फेल कर देंगे और मेरी पूरी लाइफ खराब कर देंगे, मै डर गयी कि अब मेरा क्या होगा और सर मेरे टॉप के ऊपर से मेरे स्तन दबाने लगे और मेरे नैक पे किस कर ने लगे।

मैंने बोला सर ये गलत है आप जितने पैसे बोलेंगे उतने मैं दे दूंगी प्लीज मुझे जाने दो सर ने कहा मुझे पैसे नहीं तेरे सेक्सी बदन में दिलचस्पी है और मुझे लिप किस करने लगे और मुझे भी थोड़ा मजा आने लगा किस करते करते सर ने मेरा टॉप निकाल दीया और स्तन को ब्रा के ऊपर से ही दबाने और चूसने लगे मुझे और भी मजा आने लगा।

फिर सर ने अपने कपड़े उतारे और अपना लंड बाहर निकाला तो मैं डर गई 8 इंच लंबा 3 इंच मोटा और फुल टाइट था सर ने मुझे नीचे बिठाया और मुझे बोला इसे चूसो तो मैंने मना कर दिया तो सर बोले चूस वरना अच्छा नहीं होगा मैंने टोपा मुँह में डाल दी और चूसने लगी पूरा लंड तो मुँह में जा भी नहीं रहा था.. ये कहानी आप readxxstories.com पर पढ़ रहे हैं।

और सर ने मेरा मुंह पकड़ लिया, पूरा लंड अंदर डाल दिया और उसका लंड मेरे गले तक जा रहा था, मैं ठीक से सांस भी नहीं ले पा रही थी और मैं अच्छी तरह से लंड चूसने लगी थोड़ी देर बाद ब्लोजॉब देने के बाद सर ने मेरा सर पकड़ा और जोर जोर से मेरा मुंह चोदने लगे और सर ने अपना पानी मेरे मुंह के अंदर ही डाल दिया और मुझे ना चाहते हुवे भी वो पीना पड़ा।

फिर सर बोले इसे साफ करके फिर से खड़ा करो और सर अपनी कुर्सी पे बैठ गए मैं अपने घुटनो पे बैठ के सर का लंड चूसने लगी और 10 मिनट चूसने के बाद सर का लंड फिर से खड़ा हो गया अब सर बोले अपनी पैंट उतारो मैंने अपनी पैंट और पैंटी सब उतार दियी और सर के सामने पूरी नंगी हो गई सर मेरी चूत देख के पागल हो गये मेरी चूत एक दम टाइट वर्जिन और शेव्ड थी।

सर ने मुझे कुर्सी पे बिठाया और वो अपने घुटनो पे बैठ एम मेरी चूत चाटने लगे और उसमे उंगली डाल ने लागे और मैं आआअहह सस्ससस करने लगी थोड़ी देर बाद सर ने मुझे खड़ा किया और टेबल के सहारे खड़ा किया और लंड मेरी चूत पे सेट किया और अंदर दाल ने लागे लेकिन मेरी चूत बहुत ही टाइट थी सर ने अपनी टेबल मैं से टेल की बोतल निकली और मेरी चूत पे लगाया और फिर अंदर डाल ने लागे

थोड़ा जोर देने पर लंड का टोपा अंदर गया और मेरी चीख निकल गई और मैं रोने लगी और सर को मिन्नते करने लगी सर बाहर निकालो बहुत दर्द हो रहा है लेकिन सर कहा मेरी सुनने वाले थे उसने दूसरा झटका मारा और आधा लंड मेरी चुट चिरता हुवा अंदर चला गया और मैं दर्द के मारे रो रही थी चीख रही थी..

उतने में सर ने एक और धका मारा और पूरा लंड मेरी चूत मैं डाल दिया और मुझे बड़ी बेरहमी से चोद ने लगे थोड़ी देर बाद जब नेरा दर्द कम हुआ तो मुझे भी मजा आने लगा और मैं भी बोल ने लगी और जोर से सर और जोर से आआआह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह ऊओह्ह्ह्ह चोदो मुझे चोदो मुझे जोर से चोदो श्श्शशशश और जोर से और जोर से सर भी मुझे गाली दे रहे थे..

ले रंडी साली ये ले भोसड़ी वाली रंडी साली मैं बोली और जोर से चोदो सर मैं आपकी रखिल हु आब से ये चूत सिर्फ आपकी ही गुलाम है आप जेसा बोलोगे जब बोलोगे जहां बोलोगे मैं आपसे चुदने के लिए तैयार रहूंगी आआआह्ह्ह्ह और हम दो बार जाहद चुकी थी.

सर ने अपनी स्पीड बढ़ा दी, मैं समझ गयी कि सर भी झरने वाले हैं तो मैं बोली, सर प्लीज् अंदर मत झारना फिर भी सर, मेरी स्पीड और बढ़ गई और अंदर ही पानी निकल दिया और मैं और सर जमीन पे सो गए और हाफ रहे और मैं सर को लिपट के सो गयी और सर भी मुझे किस करने लगे।

थोड़ी देर लेटने के बाद मैं उठी और सर के वॉशरूम में जाकर फ्रेश होने लगीजब मैं उठ रही थी तो मैं ठीक से चल भी नहीं पा रही थी सर ने मुझे इतना जोरदार चोदा और बहुत दर्द हो रहा था जब मैंने देखा की सर के टेबल के पास खून था मैं डर गई सर बोले कुछ नहीं है तुम्हारी सील टूटी इस लिए खून निकला है घबराने की कोई बात नहीं है मैंने फ्रेश होकर कपड़े पहने और तैयार हो गई अपनी चूत को भी अच्छे से साफ कर लिया फिर मैं सर को एक लंबी लिप किश दी और फिर मैं जाने लगी।

तो सर ने बोला टेंशन मत लेना तुम्हारा रिजल्ट ठीक हो जाएगा और तुम आराम करो। मैं वहां से सीधे अपने हॉस्टल में आ गई और रूम में जाके सीधे नहाने चली गई नहाके बहार आई तो माया ने पूछा कहा चली गई थी तुम्हारा मोबाइल भी बंद आ रहा था।

तो मैंने बोला कि मेरे रिश्तेदार आये थे तो उससे मिल ने गई थी और मेरे मोबाइल की बैटरी भी लो हो गई थी तो मैं तुम्हें बताना भूल गई थी तो उसने बोला ठीक है और हम खाना खा के रूम में आ गए। 

तब वो बोली hod सर तुम्हारे रिश्तेदार लगते हैं क्या मैं ये सुनकर की डर गई और मेरी गांड फट गई ये सुम के मैं डरती डरती बोली नहीं तो उसने बोला कि फिर मुझसे जूठ क्यों बोला तो मैं उठी और कमरे का दरवाज़ा लॉक करके उसके साथ बैठ गई और बोला कि प्लीज् यार ये बात किसिको मत बताना तो वो बोली ठीक है फिर मैंने पूछा कि तूजे केसे पता चला की मैं Hod के पास गई थी तब उसने बोला कि जब तुम क्लास से निकाल कर वापस जाने लगी तो मैं लाइब्रेरी से निकल रही थी और मैंने तुम्हें देखा।

तो मैंने देखा कि तुम Hod के केबिन में जा रही हो तो मैं तुम्हें बुलाने तुम्हारे पीछे आने लगी तब तक तुम अंदर जा चुकी थी और दरवाजे पर भी लॉक कर दिया था मैंने सोचा था कि मैं पूछ लूंगी कि तभी तुम्हारे रोने की आवाज आई तो मैं वापस आ गई आई और चाबी होल से देखा तो मैं दांग रहे गाई और फिर जो कमरे में हुआ मैंने उसे बताया। 

फिर मैंने बोला कि प्लीज् ये बात किसी को मत बताना तो वो बोली मुझे क्या मिलेगा मैंने कहा जो तू बोलेगी मैं वो देनेको तयार हूं तो उसने मेरी नाइटी के ऊपर से मेरे स्तनों पर हाथ रखा और कहा कि जो मैं मंगू वो तुझे देना पड़ेगा और मेरे स्तन को प्रेस करने लगी और मेरा सर पकड़ के मेरे ऊपर चढ़ गई और मुझे किस करने लगी और मैं भी उसका साथ देने लगी।

हम दोनों न्यूड हो गए और एक दूसरे को चाटने लगे फिर हम 69 की पोजीशन में आ गए और एक दूसरे की चूत चाटने चूसने में फिंगरिंग करने लगे बहुत मजा आ रहा था और हम दोनों एक साथ उलझ गए और एक दूसरे का पानी पी गए और एक दूसरे की चूत चैट के साफ की और एक दूसरे को नंगा ही लिपटा की तो गए दूसरे दिन हमारी नींद खुल गई तो कॉलेज जेन का मूड नहीं था तो मैं बोली आज कॉलेज नहीं जाते हैं फुल मस्ती करते हैं तो माया ने भी हा बोल दिया।

तो दोस्तों ये थी मेरी प्रिंसिपल ने मारी गांड की कहानी, मुझे उम्मीद है कि आपको मेरी कहानी बहुत पसंद आएगी, तो लाइक करना मत भूलिए और मुझे रिप्लाई करिएगा, ऐसी ही और कहानियां पढ़ने के लिए वेबसाइट को सब्सक्राइब करें ताकि ऐसे ही कामसूत्र से भरी और कहानी आप तक जल्द से जल्द पहुंच पाए ।

धन्यवाद…..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escort

This will close in 0 seconds