May 14, 2024
punjabi ladki ki chut chudai

हेलो दोस्तों कैसे हैं आप सब? मुझे आशा है कि आप सभी अच्छे होंगे और अपने जीवन का आनंद लेंगे।

मुझे सेक्स का आनंद लेना चाहिए. दोस्तों आज मैं आपके सामने अपनी एक सच्ची कहानी पेश करने जा रहा हूँ। पंजाबी लड़की की चूत चुदाई की कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देता हूँ.

दोस्तो, मैं Rohit हूं और Noida से हूं. मेरी लम्बाई 6 फुट 5 इंच है और मेरा रंग गोरा है और मेरी बॉडी भी अच्छी है जिससे मैं स्मार्ट दिखता हूँ. दोस्तों मैंने इंजीनियरिंग की पढ़ाई की है.

यह कहानी उस समय की है जब मैंने अपनी पढ़ाई पूरी कर ली थी और मैं नौकरी करने के लिए कनाडा चला गया था।

दोस्तों, मैं आपका ज्यादा समय न लेते हुए सीधे अपनी कहानी शुरू करता हूँ और आशा करता हूँ कि आपको मेरी कहानी पसंद आएगी।

जब मेरी पढ़ाई पूरी हो गई तो मैंने कनाडा में नौकरी के लिए आवेदन किया और मुझे नौकरी मिल गई इसलिए मैं कनाडा आ गया। दोस्तो, जब मैं कनाडा आया तो मैं यहां किसी को नहीं जानता था और न ही किसी को जानता था। फिर मैंने कंपनी में काम करना शुरू कर दिया और कंपनी ने ही मुझे रहने के लिए एक कमरा दे दिया।

मुझे वहां पर सेटल होने में एक महीना लग गया और एक महीने तक वहां रहने के बाद मैंने वहां अपना एक दोस्त भी बना लिया जिसका नाम राहुल था। दोस्तों वो भी Noida से था इसलिए मेरी उससे दोस्ती बहुत अच्छी हो गयी. अब राहुल और मैं एक ही कमरे में रहने लगे और साथ में काम पर भी जाते थे।

जिस कंपनी में मैं काम करता था उस कंपनी में रविवार को छुट्टी रहती थी इसलिए राहुल और मैं रविवार को घूमने के लिए निकल जाते थे। हर रविवार की तरह उस दिन भी मैं और राहुल गये थे और जब मैं और राहुल घूम रहे थे तो मुझे एक कार दिखी. क्या मस्त कार थी दोस्तो. मैंने अपने दोस्त राहुल से इस कार के साथ मेरी एक फोटो लेने को कहा।

मैं फोटो खिंचवाने के लिए कार के पास खड़ा हो गया और फोटो खिंचवाने लगा. दोस्तों मैं फोटो क्लिक करवा रहा था तभी मेरी नजर कार के अंदर गई और मैं कार के अंदर देखता रह गया। दोस्तो, क्या गजब की रांड थी वो, मेरी नज़र उस पर से हटने का नाम ही नहीं ले रही थी।

मैं उसे देख रहा था और उसने मुझे एक सेक्सी मुस्कान दी जिससे मैं पागल हो गया। दोस्तों कहानी को आगे बढ़ाने से पहले मैं आपको उसके फिगर के बारे में बता देता हूँ.

दोस्तों किसी भी लड़की को पहली नजर में देखने के बाद उसके बारे में ऐसा नहीं सोचना चाहिए, लेकिन उस समय मेरे मन में यही बात थी कि अगर मुझे इस परी को चोदने को मिल जाए तो मेरा जीवन सफल हो जाएगा.

दोस्तो, वो दिखने में दूध जैसी गोरी थी और उसके बड़े-बड़े मम्मे टी-शर्ट के ऊपर से बिल्कुल गोल दिख रहे थे। मैं उसे देखता रहा और वो मुझे देखती रही.

जब उसने कहा तो मैं उसकी आँखों में देख रहा था और वो मेरी आँखों में देख रही थी। हम दोनों 5 मिनट तक एक दूसरे को ऐसे ही देखते रहे.

जब मैंने अपनी नजरें नहीं हटाई तो उसने मुझसे पूछा कि क्या हुआ सर?

मुझे कुछ भी नहीं?

वो- तो फिर तुम मुझे इतनी देर से क्यों घूर रहे हो?

मैं- मैंने मौके का फायदा उठाते हुए कहा कि तुम बहुत खूबसूरत हो और मेरी नजर तुम पर से हट ही नहीं रही है.

वो- क्या मैं सच में इतनी खूबसूरत हूँ?

मैं: हाँ तुम किसी परी से कम नहीं लग रही हो.

वो- ठीक है, हां, एक बात बताऊं.

वो- हां.

मैं- क्या तुम मुझसे दोस्ती करोगी?

उसने हँसते हुए हाँ कहा और फिर मैंने उससे उसका नंबर माँगा, उसने अपना नंबर दे दिया और फिर उसने अपने ड्राइवर को फोन किया और फिर चली गई।

फिर राहुल और मैं घूमते हुए वापस अपने कमरे में आ गये और खाना खाने के बाद मैंने उसे फोन किया और बात करने लगी. फिर मुझे पता चला कि वो पंजाब से है और उसने मुझसे भी पूछा तो मैंने बता दिया. फिर कुछ देर बात करने के बाद उसने मुझे गुड नाईट कहा और फोन काट दिया.

उसके बाद जब मैं सुबह उठा तो मैंने उसे गुड मॉर्निंग कहा और काम पर चला गया. दोस्तों उस दिन के बाद मेरे और उसके बीच एक हफ्ते तक ऐसे ही बातचीत चलती रही. फिर जब मैंने उससे रविवार को मिलने को कहा तो उसने मुझसे उसी जगह मिलने को कहा, जहां हम पहले मिले थे.

मैंने हां कहा और वहां पहुंच गया. दोस्तों उस दिन वो जींस और लाल टी-शर्ट पहनकर आई थी. वह उस ड्रेस में बहुत खूबसूरत लग रही थी और उसकी कमर बहुत कमाल की थी. मेरे मन में उसे चोदने की इच्छा थी.

फिर वह और मैं एक रेस्टोरेंट में गए और खाना-पीना किया। उसके बाद वो और मैं बाहर घूमने निकल गये. दोस्तो, मैंने आपको सिर्फ उसका नाम बताया है, तो मैं आपको बता दूं कि उसका नाम प्रीत कौर था और वह एक पंजाबी लड़की थी।

दोस्तो, पहली बार मेरी एक पंजाबी गर्ल फ्रेंड बनी थी जिसे मैं चोदना चाहता था। उस दिन मैं उसके पास रुका और घूमा फिरा, फिर शाम को वो मुझे अपने घर ले गई।

तब उन्होंने मुझे बताया कि मेरे घर में मैं और मेरे पापा रहते हैं लेकिन मेरे पापा अक्सर काम के सिलसिले में विदेश चले जाते हैं, जिसकी वजह से मुझे इतने बड़े घर में अकेले रहना पड़ता है।

फिर मैंने उसके साथ कुछ देर बैठकर बातें की और फिर अपने कमरे में चला गया. उस दिन के बाद वह और मैं अक्सर घूमने जाते थे और अब वह मुझसे बहुत अच्छे से बात करती थी और मुझे गले भी लगा लेती थी जिससे मेरे अंदर आग लग जाती थी। दोस्तों अब मैं उसे चोदे बिना नहीं रह सकता था इसलिए मैं मौके का इंतज़ार करने लगा.

दोस्तों अब वो दिन दूर नहीं था जब मुझे मौका मिला और मैं मौके का फायदा उठाकर उसके घर पहुंच गया. उस दिन उसके पापा घर से बाहर गए हुए थे और वो आने वाले नहीं थे, ये बात उन्होंने मुझे बताई थी. मैं उस दिन उसके घर पहुंचा और देखा कि वहां कोई नहीं है तो मैं जाकर सोफे पर बैठ गया.

दोस्तों जब वो बाथरूम से नहाकर बाहर आई तो में सोफे पर बैठा हुआ था और उसे टावल में देखकर मेरा लंड खड़ा हो गया. दोस्तो, क्या नज़ारा था, मैं तो देखता ही रह गया। उसने मेरी तरफ देखा और बोली- तुम कब आये?

मैं: यार मैं तो अभी आया. वहां कोई और नहीं था, मैं बैठा तुम्हारा इंतजार कर रहा था.

वो- ठीक है जी, आप बैठो, मैं अभी कपड़े पहनती हूँ।

मैं: हाँ जाओ?

दोस्तों जैसे ही वो तस्वीरें कमरे में गई तो मैं भी पीछे से उसके कमरे में पहुंच गया और उसे पीछे से पकड़ लिया. वो मुझे ऐसे देखकर हैरान हो गयी और बोली कि तुम यह क्या कर रहे हो?

मैं- यार, मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूँ और मैं तुमसे और भी ज़्यादा प्यार करता हूँ।

वो- नहीं, कमरे से बाहर आओ, नहीं, मैंने अभी बुलाया है?

मैं: अगर तुम्हें किसी को बुलाना है तो ये मत बताना कि तुम्हें कब बुलाया जाएगा.

दोस्तों इतना कहकर मैंने उसे अपनी तरफ खींच लिया और उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए. तब उसके होंठ क्रिसमस की तरह महसूस हुए। मैं उसके होंठों को चोद रहा था और वो मुझे हटने के लिए कह रही थी.

लेकिन मैं मछली का लाभ उठाए बिना माइक्रोवेव करने वाला व्यक्ति नहीं था। फिर मैंने क्रिसी से उसके होंठ पकड़ लिए और उसकी गर्दन में हाथ डाल दिया। वो कुछ देर तक ये सब करने में मेरा विरोध करती रही, लेकिन कुछ देर बाद वो भी गर्म हो गई और मेरी बात से सहमत हो गई.

जब वो मेरा साथ देने लगी तो मैंने उसे पकड़ कर बिस्तर पर लेटा दिया और 5 मिनट तक उसके पूरे कमरे को छूता रहा, जिससे उसकी सहेली उत्तेजित हो गई और उसने मेरे लंड को पैंट के ऊपर से ही हिलाना शुरू कर दिया. फिर मैंने भी अपने कपड़े उतार दिए और अपना लंड हाथ में पकड़ लिया और वो मेरे लंड को हाथ में पकड़ कर हिलाते हुए उससे खेलने लगी.

वो 5 मिनट तक मेरा लंड ऐसे ही चूसती रही और मैं 5 मिनट तक मेरा लंड चूसता रहा. मैंने उसकी चूत में जगह बनाई और अपना लंड उसकी चूत के मुँह पर रखा और धीरे से अपना लंड उसकी चूत में रखा और धीरे से अपना मुँह उसकी चूत पर रख दिया।

वो हा हा हाँ… उई उई उई उई… मई मई… अ अ अ अ अ… हु हु हु… की आवाज निकालने लगी और चोदने लगी। वो मुझे ऐसे ही चोदता रहा और दोस्तो, आप सब जानते हैं कि आगे क्या हुआ।

दोस्तों उस चुदाई के बाद मैं बार-बार उसे चोदने के लिए उसके घर आता रहा और वो अपने ही घर में मुझसे चुदवाती रही।

दोस्तो, ये थी मेरी कहानी, मुझे उम्मीद है कि आप लोगों को मेरी कहानी पसंद आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds