May 21, 2024
सेक्स फंतासी में चोदा

हमारी आज की हिंदी सेक्स कहानी जिसका शीर्षक है "मैंने अपनी पत्नी को एक सेक्स फंतासी में चोदा" इस कहानी को पढ़ने के बाद आप अपना लंड हिलाने से नहीं रोक पाएंगे।

हमारी आज की हिंदी सेक्स कहानी जिसका शीर्षक है “मैंने अपनी पत्नी को एक सेक्स फंतासी में चोदा” में मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि इस कहानी को पढ़ने के बाद आप अपना लंड हिलाने से नहीं रोक पाएंगे चलिए शुरू करते हैं आज की देसी सेक्स कहानी

नमस्ते, मेरा नाम पीयूष है। मेरी उम्र 26 साल है और मेरी बीवी का नाम पूनम है, वो 24 साल की है। हम बैंगलोर के रहने वाले हैं। आज मैं आपके साथ अपने जीवन की कुछ सच्ची घटनाएँ साझा करना चाहता हूँ।

मेरी शादी को 2 साल हो गए हैं और हमारा एक बच्चा भी है। हमारी सेक्स लाइफ बहुत अच्छी है। मुझे और मेरी पत्नी को चुदाई बहुत पसंद है। और हम सेक्स में नये नये प्रयोग करते रहते है।

आज तक एक भी पोजीशन या जगह ऐसी नहीं होगी जिस पर हमने सेक्स न किया हो।

हम दोनों को वास्तव में किस पसंद नहीं है। हम नाम के लिए किस करते हैं, नहीं तो हम सेक्स की शुरुआत लंड चूस कर और चूत चाट कर करते हैं। मेरी बीवी मेरे लंड को बहुत बढ़िया तरीके से चूसती है।

मैं आपको अपनी पत्नी के बारे में बता दूं, वह दिखने में सामान्य है लेकिन उसका फिगर अच्छा है। मेरी बीवी की गांड बहुत मस्त है। और मेरा लंड 7 इंच का है, हमें सेक्स के दौरान गाली देना और गंदी बातें करना बहुत पसंद है।

पहले तो पूनम को ये सब पसंद नहीं था, अब मैंने धीरे-धीरे उसे गाली देना और गंदी बातें करना सिखा दिया। अब हम सेक्स के दौरान एक-दूसरे को अपने दोस्तों या रिश्तेदारों के नाम से बुलाते हैं।

हम एक दिन भी सेक्स के बिना नहीं रह सकते, हम उसके पीरियड्स में सेक्स करते हैं। बस उन दिनों मैं उसकी चूत नहीं बल्कि उसकी गांड चोदता हूँ। हम दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते हैं। और आज तक हम दोनों ने कभी एक दूसरे को धोखा नहीं दिया।

अब मैं उस घटना पर आता हूँ। मेरी और पूनम की कुछ काल्पनिक सेक्स कहानियाँ पढ़ कर भी सेक्स का मजा लिए था, जैसे आउटडोर सेक्स करना, कार में सेक्स करना, किसी के सामने सेक्स करना, ग्रुप सेक्स करना आदि। जो हमारे शहर में पूरी नहीं हो पाती थीं। एक बार उनके जन्मदिन पर हमने गोवा जाने का प्लान बनाया।

इसलिए हमने अपने बच्चे को मेरी माँ के पास छोड़ा और गोवा के लिए निकल पड़े। हम सबसे पहले मुंबई गए और वहां एक रात रुके, उस दिन हम मुंबई गए, घूमने के लिए मुंबई होटल से निकलने से पहले हम दोनों ने अपनी फंतासी को पूरा करने के बारे में सोचा। (सेक्स फंतासी में चोदा)

तो मैंने पूनम को खुले कपड़े पहनने को कहा, तो उसने एक सेक्सी शॉर्ट स्कर्ट और डीप नेक टी-शर्ट पहन ली और हम घूमने चले गये। हम सावधानी से एक भीड़-भाड़ वाली जगह पर जा रहे थे। जिसके कारण हम भीड़ में फंस गए और लोगों ने इसका फायदा उठाया और पूनम के शरीर के साथ खेला, लेकिन हमें अच्छा नहीं लग रहा था।’

फिर आख़िरकार हमने मुंबई लोकल ट्रेन में यात्रा करने के बारे में सोचा और हम एक बहुत भीड़ भरे डिब्बे में खड़े हो गए, मैं पूनम के पीछे खड़ा था, डिब्बे में भीड़ अधिक होने के कारण सभी लोग एक दूसरे के करीब खड़े थे।

पूनम चारों तरफ से लड़कों से घिरी हुई थीं। मैं पूनम के ठीक पीछे खड़ा था और हम दोनों ऐसे व्यवहार कर रहे थे जैसे हम अजनबी हों। मैं पूनम के करीब खड़ा था और अपना लंड उसकी गांड पर रगड़ रहा था।

मेरे साथ खड़ा एक कॉलेज स्टूडेंट मेरी इस हरकत को देख रहा था, मैंने उसे स्माइल दी।

कुछ देर बाद वो भी पूनम से चिपक कर खड़ा हो गया और आगे की ओर धकेलने लगा, पूनम ने कोई रिस्पांस नहीं दिया, वो अपना हाथ पूनम की गांड पर घुमाने लगा, यह देखकर मैं पीछे हट गया क्योंकि हम तो यही चाहते थे।

और आख़िरकार हमारी योजना सफल रही। पूनम को भी उसके हाथ हाथ छूने से मजा आ रहा था, लेकिन वो कोई रिएक्ट नहीं कर रही थी।

Delhi Escorts Services

इस पर लड़के की हिम्मत बढ़ गई और उसने अपना हाथ पूनम की स्कर्ट में डाल दिया और उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी गांड को मसलने लगा, कुछ देर बाद उसने अपना हाथ उसकी पैंटी के अंदर डाल दिया और

उसकी चूत से खेलने लगा।लेकिन पूनम ने अपनी टाँगें थोड़ी सी खोल दीं ताकि उसका हाथ सीधे उसकी चूत तक जा सके, अब उसने पूनम की चूत में उंगली करना शुरू कर दिया।

ट्रेन में भीड़ होने के कारण मेरे अलावा किसी का ध्यान उन दोनों पर नहीं था। अब तक पूनम यही सोच रही थी कि मैं ये सब कर रहा हूं। अब बारिश भी नहीं रुक रही थी और धीरे से अपना हाथ उससे पीछे ले जाकर पैंट के ऊपर से ही उसका लंड पकड़ लिया और उससे खेलने लगी।

हॉट लड़कियां सस्ते रेट पर इन होटल्स पर बुक करें :

फिर पूनम ने उसकी चेन खोल दी और उसके पैंट के अंदर हाथ डालकर उसका लंड पकड़ लिया, लंड पकड़ते ही पूनम को एहसास हुआ कि उसने मेरा नहीं बल्कि किसी और का लंड पकड़ा है,

क्योंकि उसका लैंड ज्यादा बड़ा नहीं था, लेकिन बहुत मोटा था। ये बात मुझे होटल में पूनम ने बताई थी। फिर जब पूनम ने मेरी तरफ देखा तो मैंने उसे शांत होकर मजे लेने का इशारा किया। (सेक्स फंतासी में चोदा)

फिर बारिश का भी मजा आने लगा। उस लड़के ने मेरी तरफ देखा और मुझे आगे आने का इशारा किया, लेकिन पहले तो मैंने मना कर दिया, फिर उसके बार-बार कहने पर मैं भी आगे आ गया। और

मैंने भी अपना एक हाथ पूनम की पैंटी में डाल दिया और उसकी गांड में उंगली करने लगा। अब पूनम की चूत और गांड दोनों में एक उंगली थी। मैं पूनम के साइड में खड़ा था, तभी उसने भी एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और हिलाने लगी।

वो लड़का अब ज़ोर-ज़ोर से पूनम की चूत में उंगली कर रहा था, जिससे पूनम भी उसके लंड को जोर-जोर से हिलाने लगी। और कुछ देर में वो लड़का पूनम के हाथों पर ही झाड़ गया। अब ट्रेन एक स्टेशन पर रुकने वाली थी तो हमने अपने कपड़े ठीक किये और वो लड़का उस स्टेशन पर उतर गया।

और अगले स्टेशन पर हम भी उतर गये और अपने होटल चले गये। होटल के कमरे में जाते ही हमने कमरा बंद कर लिया और अपने सारे कपड़े उतार कर एक दूसरे से चिपक गये और बातें करने लगे।

मैं:- कैसा लगा?

पूनम :- बहुत मज़ा आया, आज पहली बार मैंने किसी गैर मर्द का लंड पकड़ा और उससे अपनी चूत में उंगली करवाई।

मैं:- क्या तुम्हें यह पसंद आया?

पूनम:- बहुत अच्छा, पहले तो मुझे लगा कि तुम मेरी चूत से खेल रहे हो लेकिन फिर जब मैंने उसका लंड पकड़ा तो पता चला कि कोई और मेरी चूत से खेल रहा है। फिर सोचा कि मैं पहेली हूं जिसने अपने पति के सामने किसी गैर मर्द के लंड को छुआ और अपनी चूत में उंगली करवाने से मुझे और भी ज्यादा मजा आने लगा। और आपका बहुत-बहुत धन्यवाद, आज आपने मुझे अलग महसूस कराया है। मुझे तुमसे प्यार है। (सेक्स फंतासी में चोदा)

मैं:- तुम्हें कैसे पता चला कि कोई और तुम्हारी चूत से खेल रहा है।

पूनम:- उसके लंड के साइज़ से तो उसका लंड तेरे से छोटा था लेकिन मोटा काफी था।

मैं:- क्या तुम्हें उसका लंड पसंद आया?

पूनम:- हां, इसकी मोटाई पसंद आई। वो उस लंड को देख लेती तो अच्छा होता।

मैं:- सिर्फ देखना या कुछ और भी करना?

पूनम:- अगर तुम्हें कोई दिक्कत नहीं है तो में उसे मुँह में ले लेती।

मैं:- और चुदाई?

पूनम:- अगर तुम्हे कोई दिक्कत ना हो तो में चुद भी लेती । हा.. हा.. हा.. वैसे भी ये तुम्हारी कल्पना है कि मैं तुम्हारे सामने किसी पराये मर्द से चुदूँ।

मैं:- हाँ, मेरी यही इच्छा है और जल्द ही इसे पूरा करूँगा।

पूनम:- और अब प्लीज बाते करना बंद करो और जल्दी से अपनी बीवी की चुदाई शुरू करो।

उस लड़के की उंगली की वजह से मेरी चूत में खुजली होने लगी है, अब तुम जल्दी से अपने लंड से मेरी चूत की खुजली मिटा दो। और मुझे रंडी की तरह चोदो और

फिर वो मेरा लंड चूसने लगी। वैसे तो पूनम बहुत अच्छा लंड चूसती है, लेकिन आज वो बहुत अच्छे तरीके से लंड चूस रही थी। शायद ये उस ट्रेन हादसे का असर था।

उस समय शाम के 8 बजे थे और फिर हम 69 पोजीशन में आ गये और मैं उसकी चूत चाटने लगा और उसकी गांड में उंगली करने लगा। इससे वो और भी उत्तेजित हो गयी। और गाली गलौज करने लगे।

पूनम:- वाह क्या चूत चाट रहे हो तुम, मानो तुमने चूत चाटने की ट्रेनिंग ले रखी हो।

मैं:- रांड तुम तो एक प्रोफेशनल चुदक्कड़ की तरह मेरा लंड चूस रही हो। जैसे आज तक न जाने कितने लंड चूस चुकी है तू कुतिया।

पूनम:- भोस्डिके, अब तक तो मैंने तेरे ही लंड लिए हैं, लेकिन अब देख गोवा में तेरे सामने कितने लंड से खेलती हूँ।

मैं:- हां हां, टेंशन मत ले रंडी, मैं खुद तेरे लिए कई लंड का इंतजाम कर दूंगा। देख मैं तेरी ऐसी चुदाई करवाऊंगा कि बहन की लौड़ी फिर कभी तुझे कभी कही और चुदने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

पूनम:- बहनचोद तू मेरा क्या कर लेगा, मेरा बस चले तो मैं रोज 10-10 लंड अपनी चूत और गांड में लूंगी। साले, अब क्या इसकी चूत चाटता ही रहेगा या चोदेगा भी।

फिर मैंने उसे लिटाया और उसके ऊपर चढ़ गया और एक ही झटके में पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया, इस अचानक हमले से वो जोर से चिल्ला उठी।

Aerocity Escorts Services

पूनम:- चोद साले, फाड़ दी मेरी चूत, कुत्ते आराम से नहीं कर पाता, मैं कहाँ भागी जा रही हूँ। चल अब मुझे जोर से चोद।

फिर 10 मिनट तक उसी एंगल में चोदने के बाद मैंने उसे अपने ऊपर बैठाया और फिर चोदना शुरू कर दिया, हमें सेक्स करते हुए 25 मिनट हो गए थे और हम दोनों थक गए थे, अब तक वो झाड़ चुकी थी लेकिन मैं अभी भी टिक्का हुआ था।

फिर मैंने उसे डॉगी स्टाइल में चोदा और थोड़ी देर बाद कमर हिलाते हुए उसके ऊपर गिर गया, हम कुछ देर ऐसे ही लेटे रहे, फिर मैं खड़ा हुआ और सारा वीर्य उसकी कमर और गांड पर मल दिया।

अब तक 9 बज चुके थे और हमें भूख भी लगने लगी थी। इसलिए हमने डाइनिंग रूम में ऑर्डर करने के बजाय नीचे रेस्टोरेंट में जाने का प्लान बनाया। तभी बारिश होने लगी और वो बाथरूम जाने लगी तो मैंने उसका हाथ पकड़ लिया और बोला।

मैं:- वीर्य को साफ मत करो, इसके ऊपर कपड़े पहन लो, ये ऐसे ही नीचे चला जायेगा। (सेक्स फंतासी में चोदा)

और बिना पैंटी और ब्रा के एक अच्छी सेक्सी ड्रेस पहनें। मेरे कई बार कहने पर वो मान गई, उसने बिना पैंटी के सेक्सी शॉर्ट ब्लैक कलर की स्कर्ट पहनी थी।

वो स्कर्ट इतनी छोटी थी कि अगर वो थोड़ा भी नीचे झुकती तो पीछे वालों को उसकी गांड और चूत दिख जाती। और उसके ऊपर उसने एक सफ़ेद रंग का डीप नेक टॉप लिया,

वो टॉप इतना डीप था कि अगर वेटर उसके पास खड़ा होकर ऑर्डर लेता तो उसे रेन के 80% मम्मे दिख जाते। फिर उसने थोड़ा सा मेकअप किया और हाई हील्स पहनी और हम नीचे चले गये।

आपको हमारी ये चुदाई की कहानी किसी लगी।

यदि आप ऐसी और सेक्सी कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “Readxstories.com” पर पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds