May 21, 2024
Bahan Ko Chod Kar Pregnant Kiya

हेलो दोस्तों मैं आप की काजल एक बार फिर से हाजिर हूं नई कहानी लेकर readxxstories.com पर। मैं आप सब के लिए एक ऐसे Hindi Sex Story लेकर आई हूँ। जिसे पढ़ने के बाद आप भी किसी की मदद किये बिना रह नहीं पाओगे।
तो चलिए आज की Desi Hindi Sex Story को शुरू करते है और
जिसका शीर्षक हैं- ऑफिस की मुँह बोली बहन को चोद कर प्रेगनेंट किया ( Bahan Ko Chod Kar Pregnant Kiya )

हमारी आज की देसी सेक्स कहानी राहुल जी की जुबानी। 

मेरा नाम राहुल है और मैं दिल्ली के Vasant Kunj से हूँ। 

तो शुरुवात करते है इस कहानी की।

बात 2017 की है, जब मैंने एक कंपनी जॉइन की थी। वाहा मेरी मुलाकात सीमा नाम की लड़की से हुई और वो मेरे से उम्र 2 साल बड़ी थी, और शादी-शुदा थी।

क्योंकि वो मेरी सीनियर थी, इसलिए मुझे पहले दिन उसके साथ बिठा दिया गया काम सीखने के लिए।

वो प्रकृति में काफी अच्छी थी, और केहर की सुंदर लड़की थी। हमने साथ में ही लंच किया। मैं उसको सीमा माँ  कह के बुलाता था। कुछ ही दिनों में हमारी दोस्ती अच्छी हो गई, और मैं उसको सीमा कह के बुलाने लगा।

एक दिन उसने मुझसे कहा कि वो मुझे अपने भाई की तरह मानती थी, हलाकि तब तक मेरे मन में भी उसके लिए कोई गलत ख्याल नहीं था। तो मुझे भी बुरा नहीं लगेगा.

उसके बाद से ही हम भाई-बहन की तरह रहने लगे। हम ऑफिस में साथ में खाना खाते हैं, साथ में उठते-बैठते सब कुछ। वो मुझे अपने घर की बातें भी शेयर करती थी।

मैं भी उसको अपनी हर चीज़ बताता था। ऐसा ही टाइम निकलता गया, और 6 महीने बीत गए।

फिर एक दिन मुझे नई कंपनी में नौकरी मिल गई अच्छी सैलरी पे, तो मैंने अपनी ये वाली कंपनी छोड़ दी। मुझे कंपनी छोड़ने से ज्यादा दुख इस बात का था, कि मैं सीमा से दूर हो जाऊंगा।

पर कहते हैं ना बाप बड़ा ना भैया, सबसे बड़ा रुपैया।

मैंने वो कंपनी छोड़ दी, और सीमा और मेरी शुरुआत में फोन पर बात हो जाती थी। एक दिन उसने मुझे बताया कि उसने भी वो कंपनी छोड़ दी थी। फिर काफी दिन तक उसने कहीं नौकरी नहीं की, और फिर वो किसी और कंपनी में नौकरी करने लगी।

मैं किसी और कंपनी में था.

फिर हमारी बात लगभग बंद हो गई। मैं जहां नौकरी कर रहा था, मैंने वहां से नौकरी छोड़ दी, और दूसरी कंपनी ज्वाइन कर ली। पर मुझे वहां मजा नहीं आ रहा था, तो मैंने 2 महीने में ही वो जॉब भी छोड़ दी।

अब मैं घर बैठ गया बिना नौकरी के। फ़िर एक दिन मेरी बात एक पुराने दोस्त से हुई। उसने मुझे बताया के उसकी कंपनी में ओपनिंग थी। तो मैने कहा मैं आ जाऊंगा.

जब मैं वहां इंटरव्यू देने गया तो मैंने वहां सीमा को देखा। मैं बहुत खुश हो गया उसको देख के, और वो भी मुझे देख के काफी खुश हो गई। वो पहले से थोड़ा बदल गई थी फिगर के हिसाब से, और पहले से ज्यादा सुंदर हो गई थी।

मैंने वहां जॉइन कर लिया, और इत्तेफाक से सीमा और मैं एक ही टीम में थे, और आमने-सामने बैठे थे। क्योंकि हम एक-दूसरे को पहले से जानते थे, तो मैं काफी आरामदायक था पहले ही दिन से।

फिर वहा भी वही सिलसिला चालू हो गया। साथ में उठना-बैठना, खाना-पीना, वगैरा-वगैरा। फिर एक दिन मैंने उससे पूछा कि उसकी शादी को अब 4 साल हो गए थे, तो उसने अभी तक बच्चा क्यों नहीं किया।

ये सुन कर वो थोड़ा उदास हो गई, और कुछ नहीं बोली। मुझे लगा मैंने उसका दिल दुखा दिया। तो मैंने उसको सॉरी बोला, और उसने कहा यह ठीक है। फिर हम नॉर्मल बात करने लगे.

कुछ दिन ऐसे ही निकल गये. एक दिन उसने आके बताया कि वो दो हफ्ते की छुट्टी पर जा रही थी। तो हम सब ने बोला ‘ठीक है, कोई बात नहीं’। फिर मैंने उससे चाय पीने का समय पूछा-

मैं: सब ठीक है? तुम इतनी लंबी छुट्टी ले रही हो।

तो उसने बताया कि उसकी एक सर्जरी थी।

मैंने कहा: किस चीज़ की?

तो उसने थोड़ा शर्माते हुए बताया कि उसका बच्चा नहीं होता इसलिए।

मैंने कहा: ठीक है.

फिर वो अगले हफ्ते से छुट्टी पर चली गई, और मेरा मन नहीं लगता था बिल्कुल भी। क्योंकि कोई था ही नहीं उसके अलावा बात करने वाला। फिर जैसे-तैसे 2 हफ्ते कट गए, और वो वापस आ गई।

दिन गुज़रने लगे. मैंने एक दिन उससे पूछ लिया-

मैं: सब सही है? ऑपरेशन कैसा हुआ और सब? ख़ुशख़बरी कब सुनाओगी?

तो उसकी आँखों में आँसू आ गये। फिर मैंने उसको चुप करवाते हुए पूछा-

मैं: क्या हुआ?

तो उसने बताया कि उसके पति में समस्या थी, और वो कभी बाप नहीं बन सकता था। पर उसके घर वाले इस बात को मानने को तैयार नहीं थे। मैंने उसको समझा-

मैं: तुम लोग बच्चा गोद लेलो।

पर उसको अपना बच्चा चाहिए था, तो उसने मना कर दिया। फिर ऐसे ही दिन बीतने लगे तो एक दिन उसने बताया कि वो लोग आईवीएफ ट्राई करेंगे, पर उस पर काफी खर्च आएगा तो कोई गारंटी नहीं है।

तो मैंने उसे कहा: इससे बेहतर गोद लेलो एक बच्चे को। इससे उसको अच्छी जिंदगी मिल जाएगी।

पर वो हमारी बात के लिए राजी नहीं हो रही थी।

उन्होंने  आईवीएफ ट्राई किया, पर उसमें भी उन्हें कोई सक्सेस नहीं मिली, और पैसे भी लग गए तो वो और टूट गई।

मैंने उसको समझा: देखा , अब एक ही रास्ता है। अगर तुझे अपना ही बच्चा चाहिए तो तू किसी और से सेक्स कर ले।

इस बात पर वो गुस्सा हो गई, और चली गई वाहा से। मुझे भी लगा शायद मैंने गलत बोल दिया। अगले दिन जब वो आई तो मैंने उसको सॉरी बोला।

उसने कहा: ठीक है, और अगर मैं तेरी बात मान भी लू, तो भी मैं किसपे भरोसा करु, जो इस बात को सीक्रेट रखे हमेशा?

हम लोग बहुत देर सोचते रहे, और कुछ समझ नहीं आया ।

पर उसके घर वाले उसको रोज़ ताने देते थे बच्चे के लिए। वो बहुत परेशान हो चुकी थी। एक दिन वो मेरे पास आई और बोली-

सीमा: मेरी एक मदद करेगा तू?

मैने कहा: हा बोल क्या हुआ?

तो उसने जो कहा, उसको सुन के मैं हैरान रह गया।

उसने कहा: तू देदे मुझे बच्चा। ये तेरे मेरे बीच में सीक्रेट भी रहेगा हमेशा, और मुझ तुझ से ज्यादा भरोसा किसी पर नहीं है।

मैंने उसको कहा: तू पागल है क्या?

और मैं वहां से चला गया.

मैंने घर जाके बहुत देर इस बात को सोचा, और लगा कि मुझे उसकी मदद करनी चाहिए। पर मैं उसको बहन मानता था।

फिर मैंने उसकी फोटो देखी अपने फोन में, और मुझे पहली बार उसकी बहन की जगह एक लड़की दिखी, एक सेक्सी लड़की। क्योंकि सीमा का फिगर काफी अच्छा था।

उसके स्तन का आकार 34″ होगा, और गांड 36″ की थी।

मैं अगले दिन ऑफिस गया. हम दोनो चाय पी रहे थे। वो मुझसे नजरें नहीं मिला रही थी। फ़िर मैंने उसके हाथ पे अपना हाथ रख के उसको कहा-

मैं: मैं तैयार हूं तेरी मदद करने के लिए।

ये सुन कर उसकी आँखों में चमक आ गई। वो बहुत खुश हो गई, और उसने मुझे धन्यवाद बोला।

फिर हम वापस अपने डेस्क पर आके काम करने लगे। शाम को घर जाने के बाद उसकी कॉल आई।

उसने कहा: कब करेंगे हम?

मैंने उसे कहा: उससे पहले ये नहीं समझ आ रहा कि क्या करेंगे?

तो उसने कहा: किसी होटल में सही रहेगा।

मैंने कहा: होटल बहुत जोखिम भरा है। वाह कैमरे हो सकते हैं.

तो हम सोचने लगे की कहा करे.

फिर मैंने उसे कहा: हम तुम्हारे घर में कर सकते हैं। तुम्हारे पति के ऑफिस जाने के बाद।

क्योंकि वो और उसका पति अलग फ्लोर पे रहते थे, और सास-ससुर अलग फ्लोर पर। और उसको भी ये आइडिया अच्छा लगा। फिर हमने एक दिन तय किया, और इंतजार करने लगे उस दिन का।

आख़िरकार वो दिन आ गया। मैं सुबह 11 बजे सीमा के घर गया। उसने सूट-सलवार पहना था क्रीम कलर का। और बहुत सुंदर लग रही थी वो हमेसा से।

मैं अन्दर गया. हम लोग बैठे और चाय पीये। हम थोड़ी बातें करने लगें ताकि वो कंफर्टेबल हो जाएं। फिर मैंने उससे आंखों-आंखों में पूछा, क्या तुम  तैयार हो। उसने भी आँखों में जवाब दिया हा का। फिर हम बिस्तर पर आ गये.

मैंने उसको आरामदायक बनाने के लिए उसके हाथ पे अपना हाथ रख दिया, और सहलाने लगा। फिर धीरे-धीरे उसको अपनी तरफ झुकाओ। अब हम दोनों काफी करीब थे. एक-दूसरे की सांसे हमें महसूस हो रही थी।

फिर मैंने देर न करते हुए उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये, और चुंबन शुरू किया। पहले वो साथ नहीं दे रही थी, पर फिर उसने भी मुझे किस किया। फिर मैंने अपना एक हाथ उसके बिग बूब्स ( Big Boobs ) पर रख दिया,

और हल्का सा प्रेस किया तो वो सिसक उठी। मैंने किस करते-करते हुए उसको लिटा दिया, और खुद उसके ऊपर आ गया।

अब हम एक-दूसरे को किस कर रहे थे खुल के, और मेरे हाथ उसके कॉटन जैसे मुलायम-मुलायम स्तनों को दबा रहे थे। जिसे वो और भी ज्यादा मदहोश होती जा रही थी। फ़िर मैं उसके गले पर किस करने लगा।

अब बारी थी उसकी कमीज़ उतारने की। मैंने उसकी कमीज उतारी, तो वो शर्मा गई, और अपने स्तनों पर हाथ रख दिया और उन्हें छुपाने लगी। मैंने उसका हाथ हटा दिया, और उसकी काली ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तन दबाये, और उन पर अपना मुँह लगा के चूमने लगा।

फिर मैंने उसकी ब्रा के हुक खोल के उसके स्तनों को आज़ाद कर दिया। वो पूरी तरह से शरम से लाल हो गई, और अपने स्तन ढक दिए। मैंने उसके हाथ हटाये, और पागलो की तरह उसके स्तन चूमने लगा।

उसकी शर्म अब सिसकियों में बदल गई। वो पूरी तरह से अपने आप को मुझे सॉम्प चुकी थी।

अब मैं किस करता-करता उसके पेट पे आ गया। उसके पेट पे किस करते-करते उसको चाटने लगा। मेरे हर कदम से वो मदहोश होती जा रही थी। फिर मैंने उसकी सलवार उतार दी, और अब वो सिर्फ पैंटी में मेरे सामने लेटी थी।

उसकी पैंटी बिल्कुल गीली हो चुकी थी, जिसकी खुशबू मुझे आ रही थी।

मैंने उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चाटा, तो वो बहुत तेज़ सिसक उठी। फिर उसने मेरा सर  अपनी रसीली चूत ( Rasili Chut ) में दबा दिया। मैंने उसकी पैंटी को एक झटके में उसके बदन से अलग कर दिया, और उसकी नंगी चूत को चाटने लगा। अब पूरा रूम उसकी सिसकियों से गूंज रहा था।

अब मेरी पूरी जीभ उसकी चूत में थी, और पागलों की तरह मैं उसको चाट रहा था। तभी अचानक उसकी चूत ने अपना पानी  छोड़ दिया, और वो निहाल पड़ी रही वही पे।

अब बारी थी हमारा काम जिसके लिए हम आये थे। हालाकि मैं चाहता था कि वो भी मेरा लंड चूसे , पर अगर वो चाहे तो। फिर मैंने उसके ऊपर जाकर उसको किस किया, और उससे पूछा, कि क्या वो मेरा लंड चूसेगी।

तो उसने कहा: अगर तुम बुरा ना मानो तो मैं ऐसा नहीं करना चाहती। मुझे अच्छा नहीं लगता.

मैने  कहा: कोई बात नहीं. जैसा तुम चाहो.

अब बारी थी उसकी चूत चुदाई ( Chut Chudai ) की की. तो मैं उसको किस करके दोबारा नीचे आया। फिर अपना लंड बाहर निकाल के चूसेगी उसकी चूत पे थूक लगाया, और उसे उसकी चूत पर रखा।

फिर आराम-आराम से उसकी चूत सहलाने के बाद, एक झटके में अपना पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया, और झटके मारने लगा।

सीमा : आआह भाई आआह आआह भाई

मैं: आआह सीमा आआह, बहुत मजा आ रहा है.

सीमा: हा भाई, मुझे भी बहुत मजा आ रहा है. और तेज़-तेज़ करो.

मैं: आआह हा बेहन आआआह ले आआह

सीमा : आआह भाई, मुझे अपने बच्चे की माँ  बना दो । डाल दे अपना बीज मेरे अंदर।

मैं: आआह बहन आआह, आज तुझे अपने बच्चे की माँ  बना कर रहूँगा आआह।

ऐसे ही बहुत देर तक चोदने के बाद मैंने अपना पानी उसकी चूत में छोड़ दिया, और उसके ऊपर लेट गया। हमने तीन बार अलग-अलग पोजीशन में सेक्स किया।

4 बार सेक्स करने के बाद एक दिन उसकी कॉल आई मेरे पास और उसने रोते-रोते कहा-

सीमा: भाई तूने मुझे वो दे दिया, जो मुझे चाहिए था। मैं गर्भवती हूँ भाई, मैं गर्भवती हूँ।

उसके बाद हम मिले, और मैंने उसे कहा मैं एक बार उसके साथ सेक्स करना चाहता हूँ । तो उसने कहा मैंने उसको वो चीज दी थी, जो सबसे अमूल्य थी, तो मैं जो चाहता हूं वो मुझे देगी।

फिर हमने एक बार और सेक्स किया ज़ोरदार। कुछ वक्त बाद उसने नौकरी छोड़ दी। आज उसके दो बच्चे हैं एक बेटा, एक बेटी जुड़वा, और वो अपने घर में बहुत खुश हैं।

आपको मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे कमेंट करके जरूर बताये। ऐसी और Free Hindi Sex Kahani पढ़ने के लिए readxxstories.com पर जाए।


धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds