May 14, 2024
हॉट लड़की को चोदा

आज की हिंदी सेक्स कहानी है "हॉट लड़की को चोदा मिलो का सफर करने के बाद" इस कहानी को पढ़ने के बाद आप अपना लंड हिलाने से नहीं रोक पाएंगे।

आज की हिंदी सेक्स कहानी है “हॉट लड़की को चोदा मिलो का सफर करने के बाद” इस कहानी को पढ़ने के बाद आप अपना लंड हिलाने से नहीं रोक पाएंगे।

हेलो दोस्तों… मेरा नाम दीप है। मेरी उम्र 30 साल है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ। मैं एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता हूँ। मैंने आज तक कई लड़कियों को चोदा है। सेक्स मेरा शौक है।

मुझे अलग-अलग उम्र…और अलग-अलग फिगर वाली महिलाओं के साथ सेक्स करना पसंद है।

ये बात आज से 2 साल पहले की है। मैं अपने मामा के घर आदर्श नगर गया था। उनके मोबाइल पर मुझे एक लड़की का नंबर मिला।

तो मैंने वो नंबर अपने मोबाइल में सेव कर लिया। उसका नाम कृतिका था।

सबसे पहले मैंने उससे टेक्स्ट मैसेज के ज़रिए बात करना शुरू किया। फिर जब वो मुझे पसंद करने लगी तो हम कॉल पर बात करने लगे। मैं भी उसे पसंद करने लगा।

जब मैंने कृतिका से बात की तो उसने मुझे बताया कि वह शादीशुदा है और उसका पति काम के सिलसिले में बैंगलोर में रहता है।

वह मुंबई के एक कॉलेज में टीचर का काम करती हैं। वह मुंबई में अकेली रहती थीं।

एक दिन घर पर मेरे पिता और मेरे बीच झगड़ा हो गया। इसलिए मैं गुस्से में घर से बाहर भाग गया। लेकिन जाता कहां है?

मैंने कृतिका को फ़ोन किया और उससे कहा- मैं तुमसे मिलने आ रहा हूँ।

वह भी घर पर अकेली रहती थी। उसने मुझे आने के लिए हां केह दिया।

मैंने ट्रेन का टिकट लिया और मैंने मुंबई जाने वाली ट्रेन पकड़ी।

कृतिका मुझे रेलवे स्टेशन लेने आने वाली थी। करीब एक घंटे बाद वहां पहुंचा।

मैं स्टेशन से बाहर निकला और कृतिका को ढूंढने लगा। थोड़ी दूर पर सूट पहने एक मस्त लड़की खड़ी थी।

एकदम गोरी और क्या सेक्सी फिगर था उसका। मैं सोच भी नहीं सकता था कि वो कृतिका हो सकती है।

फिर मैंने मोबाइल से कृतिका के नंबर पर कॉल किया। उस वक्त भी मेरी नजर उस लड़की पर ही थी।

रिंग बजते ही उसी लड़की ने कॉल रिसीव किया। मेरे मुँह से शब्द नहीं निकल रहे थे।

उसने मेरी तरफ देखा और हाथ हिला कर मुझे इशारा किया। मैंने मोबाइल जेब में रखा और उसके पास आ गया। वह काफी खुश नजर आ रही थीं।

फिर हम दोनों उसके घर की ओर चल दिये। उसका घर कुछ ही दूरी पर था।

उनका घर सबसे ऊपर की मंजिल पर था इसलिए वहां कोई आता-जाता नहीं था।

उसने मुझसे डिनर के लिए पूछा तो मैंने कहा- चलो बाहर से कुछ ले आते हैं।

उसने कहा ठीक है। (हॉट लड़की को चोदा)

फिर हम दोनों बाहर गये और खाना पैक करवा कर ले आये।

मुझे आज शराब पीने का मन हो रहा था, मैंने झिझकते हुए कृतिका से पूछा तो वो हंस पड़ी और बोली- हाँ ले लो, मुझे कोई दिक्कत नहीं है।

मुझे उसकी बात सुनकर मजा आया। मैंने सिगरेट की एक डिब्बी पी और शराब की बोतल ले ली।

कृतिका घर में अकेली रहती थी इसलिए उसके पास एक ही बिस्तर था। उसने मुझसे कहा कि हम दोनों बिस्तर शेयर कर लेंगे।

मैंने कहा- ठीक है।

मैंने उससे एक गिलास और बर्फ माँगी, तो वह रसोई से दो गिलास और नमकीन बर्फ आदि ले आई।

मैंने दो गिलास देखे तो उसने बिना पूछे ही एक पैग बना दिया। हम दोनों चियर्स बोलकर शराब का मजा लेने लगे। एक पैग लेने के बाद मैंने कृतिका को दूसरा पैग बनाने को कहा और सिगरेट जलाने लगा।

कृतिका ने दोनों गिलास भरे और मेरे हाथ से सिगरेट ले ली। वह भी सिगरेट का मजा लेने लगी।

दिल्ली और मुंबई के आसपास के इलाकों में दिनभर की थकान के बाद शराब का आनंद लेने वालों में महिलाएं और पुरुष दोनों हैं।

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में यह आम बात है। अकेलेपन के कारण कृतिका को शराब पीने की भी आदत थी।

अभी रात के कोई 11:00 बजे होंगे। हम दोनों बिस्तर पर लेटे हुए एक दूसरे से बातें कर रहे थे। शराब का नशा हम दोनों को कामुक बना रहा था। (हॉट लड़की को चोदा)

कृतिका ने क्रीम कलर की नाइटी पहनी हुई थी। मैंने टी-शर्ट और शॉर्ट्स पहने हुए थे। कमरे की लाइटें बंद थीं। हम दोनों बातें कर रहे थे।

मैं बार-बार उसकी तारीफ कर रहा था। वह जितना मैंने सोचा था उससे कहीं अधिक सुंदर थी। उसके मादक बदन की खुशबू मुझे कामुक बना रही थी।

वो भी मेरी तारीफ करके बहुत खुश हो रही थी। अचानक वो मुझसे लिपट गयी और मुझे चूमने लगी। मैं भी उसके होंठों को चूसने लगा। हम दोनों एक दूसरे के मुँह में अपनी जीभ डाल रहे थे।

कुछ देर किस करने के बाद मैं उसकी गर्दन पर किस करने लगा। मेरे हाथ उसके चूचों पर आ गये।

दिल्ली में सस्ती और सेक्सी लड़कियां चुदाई के लिए बुक करें:

कृतिका बहुत ज्यादा गरम हो चुकी थी। वो मेरा पूरा सहयोग कर रही थी। मैं धीरे-धीरे उसकी नाइटी को ऊपर करने लगा और पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को रगड़ने लगा।

उसकी चूत पूरी गीली हो चुकी थी और इस वजह से उसकी पैंटी भी गीली हो रही थी। मैंने उसकी नाइटी उतार दी।

अब वो सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी। लाइट बंद थी, लेकिन मैं अंधेरे में भी उसका गोरा बदन साफ़ देख सकता था। कृतिका बहुत खूबसूरत थी।

मैंने अपने कपड़े उतार कर साइड में रख दिये और कृतिका की ब्रा और पैंटी भी उतार दी। मुझे अच्छा लग रहा था कि कृतिका मेरा पूरा साथ दे रही थी।

मैं उसे ऊपर से लेकर नीचे तक हर जगह चूम रहा था। मैंने उसकी ऐसी कोई जगह नहीं छोड़ी होगी, जहां मैंने अपनी जीभ से ना चटा हो। कृतिका बहुत हॉट थी।

वो अपने हाथों से मुझे ऊपर की ओर खींच रही थी। मैं समझ गया कि अब ये भी बर्दाश्त नहीं होगा।

मैं किस करते हुए ऊपर गया और उसके होंठों को चूसने लगा। मैंने एक हाथ नीचे करके अपना लंड उसकी चूत पर सेट किया और एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर चला गया।

उसकी उम्म्ह… अहह… हय… याह… निकल गयी। उसने मुझसे धीरे धीरे चोदने को कहा।

मैंने उससे पूछा- तुम्हें कैसा लग रहा है?

वो बोली- बहुत दिनों बाद चुद रही हूँ। मेरे पति का लंड भी तुम्हारे जितना बड़ा नहीं है। वह मुझे बिस्तर पर बहुत ही कम चोदता है।(हॉट भाभी को चोदा)

मैं समझ गया कि कृतिका की चूत प्यासी है और उसे जोरदार चुदाई की जरूरत है।

मैंने अपना लंड उसकी चूत में धीरे धीरे लंड डाला। उसकी चूत बहुत टाइट थी। कृतिका की चूत अंदर से बहुत गर्म थी। मुझे तो ऐसा लग रहा था कि शायद यह जिन्दगी में दस बीस बार चुदी हुई चूत है।

कुछ देर बाद मेरे लंड ने कृतिका की चूत में जगह बना ली। अब उसने मुझे अपनी गांड उठाकर चोदने का इशारा किया।

मैंने अभी शुरुआत की है।

उसकी चूत ने प्रीकम छोड़ दिया था, जिससे चूत में पानी रिसने लगा था। चूत चाटते ही मैं लंड को अन्दर-बाहर करने लगा।

उसकी चूत बहुत टाइट थी, मेरा लंड सटासट अंदर-बाहर हो रहा था।

मैंने उसके दोनों निपल्स को बारी-बारी से मुँह में भर कर चूसा। हम दोनों की चुदाई अब पूरी स्पीड से चल रही थी।

करीब 20 मिनट तक मैं उसे उसी पोजीशन में चोदता रहा। उसकी चूत एक बार झड़ चुकी थी, जिससे लंड इंजन के पिस्टन की तरह चूत में लंड अन्दर-बाहर होने लगा था।

कुछ देर बाद मुझे लगा कि मैं बेहोश हो जाऊँगा तो मैंने उससे कहा- मैं निकलने वाला हूँ।

उसने कहा- अन्दर ही छोड़ दो। मुझे एक बच्चा चाहिए।

मैं समझ गया कि कृतिका की आस बच्चे को लेकर है। मुझे भी वीर्य बहार निकालना पसंद नहीं है.. इसलिए मैंने सारा वीर्य उसकी चूत में ही निकाल दिया।

फिर हम दोनों फ्रेश होने के लिए बाथरूम में गए और एक-एक पैग लेकर फिर से बिस्तर पर लेट गए।

आज की चुदाई से हम दोनों बहुत खुश थे। मैं भी ऐसा मौका छोड़ना नहीं चाहता था। कुछ ही देर में हम दोनों फिर शुरू हो गये।

उस रात हमने अलग-अलग पोजीशन में चार बार सेक्स किया। मैं उसकी गांड भी मारना चाहता था। लेकिन उसने मना कर दिया।

मैं भी उसे परेशान नहीं करना चाहता था इसलिए पूरी रात उसकी चूत चोदता रहा।

सुबह 4 बजे हम दोनों नंगे ही एक दूसरे की बांहों में सो गये।

सुबह 11 बजे जब मेरी नींद खुली तो मैं बिस्तर पर अकेला सो रहा था और मेरे ऊपर चादर पड़ी हुई थी।

मैंने उठ कर किचन में देखा तो कृतिका वहां भी नहीं थी। मैं बाथरूम की ओर चला गया। मैंने कृतिका को बाथरूम में बुलाया। वो नहा रही थी.. तो मैंने उससे दरवाज़ा खोलने को कहा।

उसने दरवाज़ा खोला और मैं अंदर चला गया। वह पूरी तरह नग्न थी। दिन के उजाले में उसका सेक्सी बदन देख कर मैं होश खो बैठा। मैं उसे चूमने लगा और उसके शरीर से खेलने लगा।

काफी देर किस के बाद वो भी गर्म हो गयी और मेरा साथ देने लगी। हम दोनों ने बाथरूम में एक घंटे तक जम कर चुदाई की।

मैंने अपना मोबाइल बंद कर दिया था। दोपहर को कृतिका खाना बना रही थी, तभी मैंने मोबाइल ऑन किया।

मुझे अपने दोस्तों और परिवार से संदेश मिल रहे थे कि मेरा फोन काम नहीं कर रहा है और वे चिंतित हैं। क्योंकि मैंने गुस्से में घर छोड़ दिया था।

मैं कुछ सोच रहा था तभी मेरी माँ ने मुझे कॉल किया था। मेने जब कॉल उठाया तो माँ थोड़ी इमोशनल हो गई थीं, तो मैंने उन्हें बताया कि मैं एक दोस्त के घर पर हूं और कुछ दिनों में घर आऊंगा।

मैं कृतिका के साथ सात दिनों तक रहा और हम दोनों ने हर पोजीशन में और हर जगह सेक्स का आनंद लिया।

फिर मैं वहां से लौट आया। उसके बाद हम कभी नहीं मिले। बस फोन पर बात होती रहती थी।

यह मेरी पहली कहानी थी इसलिए कुछ ग़लतियाँ तो होंगी ही। कृपया मुझे क्षमा करें, आपको अपने विचार मुझ तक अवश्य पहुंचाने चाहिए।

तो दोस्तो, आपको मेरी यह कहानी कैसी लगी, जरूर बताएं।

अगर आपको यह हॉट लड़की को चोदा कहानी पसंद आई तो हमें कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं।

यदि आप ऐसी और चुदाई की सेक्सी कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “Readxstories.com” पर पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds