May 21, 2024
कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा

मेरा नाम सचिन है और मेरी उमर 21 साल की है। मैं कॉलेज में पढ़ रहा हूं, और मेरा लंड 7 इंच लंबा है। मैं जो चुदाई चूत की कहानी आप के साथ शेयर करने जा रहा हूँ। इस कहानी में मैंने कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा

इस हिंदी सेक्स कहानी को पढ़ने से पहले ये मन जरूर बना लीजिये, की कहानी के बीच में आपको आपने लंड का पानी नहीं निकाला है। हाँ कहानी के बाद या अंत में आप जरूर अपने लोड़े को हिला कर उसका पानी निकल सकते हैं।

काम वाली का नाम शबाना था, और उसकी उम्र 26 साल है। उसका सेक्सी फिगर साइज़ 34-30-36 था, जब वो सफ़ाई करती थी तो वो बहुत मस्त लगती है। गीली कमीज में उसका हुस्न और भी ज्यादा मस्त और खूबसूरत दिखता है।

अब आप सब को ज्यादा बोर ना करते, मैं सीधी कहानी पर आता हूं। माँ की नौकरी की वजह से उन्होंने घर पर कामवाली लगाई हुई थी।

मम्मी काम वाली को बार-बार बदलती रहती थी, वैसे कभी काम वाली अब आती भी थी तो जब घर पर माँ होती थी। मेरे मॉम डैड दोपहर को घर आते थे, तो एक दिन मैं अपने रूम में लेटा था।

क्योंकि मैं कॉलेज से जल्दी घर आ गया था। तभी किसी ने दरवाजा खटखटाया तो मैंने दरवाजा खोला।

मैं – क्या हुआ मम्मी अभी तो मैं कॉलेज से पढ़कर आया था, और अभी मैं सोर रहा था।

दोस्तो सच बताऊँ उस समय मैं पोर्न देखता हुआ लंड हिला रहा था, मेरा पानी निकलने ही वाला था। माँ ने आ कर सारा काम ख़राब कर दिया।

काम करने आई कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा

माँ – मैंने तुझे बताया था कि मैं एक काम वाली लगाई हूँ, वो दोपहर में तेरे कमरे की सफ़ाई करेगी। तो तू उसे बता दिया कर कि क्या करना है, वो अपना आप कर देगी।

कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा

🎀चुदाई के लिए कॉलेज गर्ल बुक करे: College Girls Escorts in Delhi🎀

मैं- अच्छा मां मैं उसे बता दूंगा। 

उसके बाद माँ चली गयी और मैं फिर से कंप्यूटर पर पोर्न देखता हूँ लंड हिलाने लग गया। मेरा लंड अब एक दम ढीला हो गया था, अब मुझे पोर्न देख कर मुठ मारने में ज्यादा मजा नहीं आ रहा था।

अगले दिन।

मैं कॉलेज से आया और ट्राउजर डाल कर लेट गया, और मैं लैपटॉप पर पोर्न लगा कर देखने लग गया। तभी दरवाज़ा खटखटाया गया तो मैंने दरवाज़ा ही खोला तो मेरे सामने शबाना खड़ी थी। (कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा)

उसको देख कर तो मैं उसे ही देखता रह गया, उसके कपड़े ऊपर से नीचे तक पसीने से गीले हो गए थे। उसके बाल बंधे हुए थे, और उसके बूब्स उभरे हुए थे।

💝सस्ती और सेक्सी लड़किया चुदाई के लिए अभी बुक करे💝

Aerocity Escorts

Mahipalpur Escorts

Dwarka Escorts

शबाना की ब्रा में से उसके बूब्स बहार आने को तड़प रहे थे। उसकी कमीज़, बूब्स और कमर के पास से गीली हो राखी थी। उसकी सलवार में से उसकी गांड साफ नजर आ रही थी।

उसने दुपट्टा नहीं डाला था, जिस वजह से मुझे उसकी लाल रंग की ब्रा साफ दिख रही थी। उसका रंग इतना गोरा था, कि वो मुझे कामवाली नहीं लग रही थी।

मैं- तुम कौन हो?

शबाना- मैं नई कामवाली हूं साहब। 

मैं- अच्छा आ जाओ अन्दर। 

फिर मैंने उसको सारा काम बता दिया, अब मैं बिस्तर पर लेट कर उसे घूरने लग गया। जब वो झुक कर झाड़ू लगा रही थी, तो उसके 34 के बूब्स मचल रहे थे।

वो भी मुझे झुक कर अपने बूब्स मुझे दिखा रही थी, मेरा लंड पतलून में खड़ा होने लग गया था। मैंने अपने लंड पर चादर डाल ली, पर चादर भाला 7 इंच का लंडकैसे छुपा पता। 

फिर शबाना पलटी और अपनी मोटी गांड दिखा दिखा कर झाड़ू लगाने लग गई। मैं लैपटॉप चला रहा था। फिर वो काम करके चली गई।

अगले दिन जब मैं उठा तो मैंने देखा कि मेरे वॉलेट से कुछ पैसे गायब थे। मैंने बहुत ढूंढे पर मुझे पैसे नहीं मिले, अब मेरा शक सीधा शबाना पर गया।

जब वह दोपहर को अपने कमरे की सफ़ाई करने आई, तो मैंने उसे आने दिया और उसके साथ सामान्य व्यवहार किया। आज उसने सफेद ड्रेस में नीली ब्रा पैंटी पहनी हुई थी। जो मुझे उसके कपड़ों में से साफ नजर आ रही थी।

मैं थोड़ी देर बैठा रहा और वहा से उठ कर नीचे मम्मी के कमरे की तरफ जाने लग गया, और जाते-जाते वॉलेट मैंने वहीं पर उसके सामने छोड़ दिया। (कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा)

मैं बाहर जा कर विंडो में से झांकने लग गया, और उसको देखने लग गया। उसने 1000 के दो नोट निकाले और अपनी ब्रा में डाल लिए। फिर मैं कमरे में आया और कमरे को लॉक करके एक दम से पीछे से उसके हाथ से मैंने अपना वॉलेट ले लिया।

इस से वो एक दम से शॉक हो गई, और वो बोली- साहब ये गिर गया था, मैं तो इसे ऊपर टेबल पर रख रही थी।

मैंने वॉलेट खोला और उसमें से पैसे गिने तो 2000 रुपये कम थे।

मैं- पैसे कहां हैं शबाना?

शबाना- साहब मुझे नहीं पता है। 

मैंने उसे घुमाया और उसे मैंने जोर से पकड़ लिया, अब मेरा लंड उसकी गांड पर लग रहा था। उसकी गांड को छूते ही मेरा लंड तुरंत खड़ा हो गया। और उसकी सलवार के बाहर से ही उसकी गांड के अंदर घुसने की कोशिश करने लगा। 

शबाना – साहब ये कह रहे हो, मैंने ऐसा कुछ नहीं किया। मुझे छोड़िए और मुझे जाने दीजिए। (कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा)

पर मैंने उसकी एक ना सुनी और सीधा मैंने उसके बूब्स को पकड़ लिया, उफ्फ इतने मुलायम बूब्स थे कि मैंने उन्हें और जोर से दबा दिया। मैंने अपना एक हाथ उसकी कमीज़ के गले से अंदर डाला और नोट निकलते हुए, मैंने उसके निपल्स को भी दबा दिया।

शबाना – साहब मुझे माफ करो गलती हो गई, आगे से ऐसा नहीं करूंगी। आप जो बोलोगे वो मैं करूंगी, कृपया ये किसी को मत बताना।

मैंने कुछ नहीं बोला, और उसको अपनी तरफ घुमा कर मैंने उसकी कमीज को फाड़ दिया। अब उसके बूब्स मेरे सामने ब्रा में लटक गए, और वो बोली।

शबाना – आहह आहह शबाह अगर आप ये करना चाहते हैं तो कर लो पर चोरी वाली बात किसी को मत बताना। वर्ना आंटी मुझ पर चोरी का इल्ज़ाम लगा कर बाहर निकल देंगी।

मैं – कल तूने मुझे बहुत तड़पाया है, कल बहुत काम करते हुए तू मुझे अपना जिस्म दिखा रही थी ना?

ये कहते हुए मैंने 1000 का नोट उसके मुंह में डाल दिया, और मैं बोला – साली अब तू चुप रह, मैंने आज तक इतनी खूबसूरत लड़की नहीं देखी थी।

फिर मैंने उसे गले से पकड़ा और दरवाजे के साथ लगा दिया, अब उसकी ब्रा को एक झटके से उतार दी। मेरी आँखों में अब उसका सेक्सी बदन देख कर नशा हो गया। 

अब उससे भी नहीं रहा गया, और उसने मेरे लंड को ट्राउजर के ऊपर से ही पकड़ लिया। लंड पकड़ाते ही वो मुझे हैरानी से देखने लग गई, वो बोली- इतना बड़ा लंड। (कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा)

जेसे ही उसने ये बोला तो उसके मुँह से 1000 का नोट नीचे गिर गया। मुझे अब गुस्सा आया और मैंने एक हाथ उसकी गर्दन पर ही रहने दिया। और मैंने दूसरे हाथ से उसके बूब्स को मसलना शुरू कर दिया।

अब मैं उसके निपल्स पर आ गया, और अब मैंने उसके बूब्स पर थप्पड़ मारने शुरू कर दिये। मैंने उसके बूब्स एक दम लाल कर दिये थे।

शबाना की बॉडी में करंट और आग दोनों लग रही थी। अब वो समझ गई कि आज उसका अंजाम अच्छा नहीं होगा, और अब जो मैंने अपने हाथों से उसकी गर्दन को पकड़ा हुआ था। 

कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा

🎀जीजा साली चुदाई कहानी: प्यासी चूत को जीजू ने शांत किया🎀

साथ ही नीचे से वो मेरे लंड को ट्राउजर के ऊपर से दबा दबा कर हिलाने लग गई।

शबाना – उफ्फ साहब मारो इस कुतिया को बहुत प्यासी है इसकी चूत और ये बहुत तड़प रही है। और लोग तो मेरे जिस्म को कुछ ही मिनट में ही देख कर पागल हो जाते हैं, पर आपने तो मेरा ये हाल कर दिया है।

ये कहते ही उसने अपने हाथ अपनी गर्दन से हटा कर अपनी सलवार में डलवा लिया। तभी मेरा हाथ उसकी गिली चूत पर लग गया, और मेरे हाथ में उसकी गीली चूत के पानी से भीगे हुए एक 1000 के नोट पर लग गया।

शबाना – साहब आपने ये मेरा क्या हाल कर दिया है, अब मुझे और मत तड़पाओ मुझे चोद, चोद, चोद कर मुझे अपनी कुतिया बना लो।

मैंने वो नोट उसकी पैंटी से निकाल कर उसके मुँह में डाल दिया। अब वो कुतिया की तरह अपनी जीब बाहर निकल रही थी, उसके मुँह से थूक नीचे गिर रही थी। (कामवाली को चोरी करते पकड़ कर चोदा)

शबाना – बहुत दिनों बाद इतने दमदार लंड वाला कोई मिला है, जिसने मुझे इतना तड़पाया है।

मैं- तेरी जैसी कुतिया मैंने आज तक नहीं देखी, मैं रोज पोर्न देखता हूं। पर आज तक मेरा लंड इतना टाइट नहीं हुआ। 

फिर मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया। और वो निचे गिर गई। अब मैंने उसकी पैंटी को साइड में किया, और उसकी चूत में अपनी उंगली डाल दी।

अब उसकी आंखें बंद हो गई, और मैं उसकी चुत मसलते हुए उसकी चुत पर हल्का सा थप्पड़ मारा। इससे उसकी चीख निकल गई, और तभी दरवाजे की दस्तक होने वाली आवाज आई।

तो दोस्तो ये चूत की चुदाई की कहानी का पहला भाग, मुझे उम्मीद है कि आपको यह पढ़ कर बहुत मजा आया होगा। अगर मुझे कोई गलती हुई हो तो मुझे माफ़ कर देना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds