May 21, 2024
Kamwali Ki Virgin Chut

नमस्कार मेरे सभी साथियो मैं साक्षी हिंदी सेक्स स्टोरीज (Hindi Sex Stories) की दुनिया में आप सभी का स्वागत करती हूँ। मेरी आज की आज की कहानी का शीर्षक कामवाली की वर्जिन चूत (Kamwali Ki Virgin Chut) और मेरा मचलता लंड है।  

हेलो दोस्तों, मेरा नाम कमलेश है, और मैं दिल्ली के द्वारका में मेरा अपना खुद का घर है। 

ये xxx सेक्स कहानी उस समय की है, जब हमारे घर में एक कामवाली काम थी। उसकी बेटी का फिगर बहुत ही मस्त और सेक्सी था। उसे देख कर किसी के भी मुँह से पानी आ जाता था।

एक बार वो झाड़ू बैठ कर लगा रही थी, जब मैं उसके पीछे से जा रहा था। तब मेरे पैर गलती से उसके कोमल चूतड़ों को छू कर निकल गया, इससे वो एक दम से चौंक गई। 

पर वो कुछ नहीं बोली थी, इस तरह अब हमेंशा करने लग गया। मुझे इस बात का डर नहीं था, की वो इस बारे में मेरी माँ को कुछ कह देगी।

एक बार मेरे घर के सब लोग बाहर थे और मैं कमरे में थे। वो झाड़ू लगाने आई तो मैंने उसे पकड़कर किस करना शुरू कर दिया। वो हैरान हो गई और वो बोली – मैं आपकी मम्मी को बता दूंगी।

ये सुनते ही मैंने उसके मुँह में थूक दिया, और मैं उसके होठों को चूसने लग गया। फिर मैंने अपना एक हाथ उसके बूब्स पर रखा और उसे कस कर दबाने लग गया।

तभी मुझे किसी के आने की आवाज आई, तो मैंने उसे छोड़ दिया। एक बार मुझे फिर से ऐसा मोका मिल गया। उस दिन मैंने उसे पीछे से पकड़ा कर उसके साथ सेक्स करने लग गया।

वो थोड़ा मुस्कुरा रही थी, फिर वो ज़मीन पर बैठ कर पोछा लगाने लग गई। फिर मैंने एक हाथ उसके कुर्ते के अंदर गर्दन की तरफ से अपना हाथ डाल कर उसका एक बूब्स बाहर निकाल दिया।

इसे वो छटपटा गई, तो उस समय उसने समीज पहनी थी। उसके निपल्स को देख कर मैं जोश में आ गया।

एक बार मैं हिंदी सेक्स स्टोरी पढ़ रहा था, मैं ज्यादातर पहली सेक्स वाली कहानीया पढ़ता था। इसलिए मेरे दिमाग में सब ये सब चलता रहता था, और घर में उसे अकेला देख कर उसको किस करने लग जाता था।

एक बार मैंने उससे पूछा – तुम अपनी चूत की शेव करती हो।

वो – ये क्या होता है?

मैंने उसकी चूत पर हाथ रख कर कहा, तो वो शर्मा गई और अंदर चली गई। हमारे घर में दो बाथरूम थे, एक बाथरूम मेरे कमरे में था और एक बाहर था।

फिर जब वो बाथरूम में कुछ लेने जाती थी, तो कमरे में आ कर उसको पकड़ कर किस करने लग जाता था। मैं अपना लंड बाहर निकाल कर पकड़वाने की कोशिश करता था।

फिर मैंने एक दिन सोचा मैं इसे भी हिंदी चुदाई की कहानी वाली किताब क्यों न इसे दे दूं, ताकि ये भी इसे पढ़ सके। मैने वो किताब घर के दरवाजे के गमले के पीछे छिपा रखी थी।

ये मैंने उसे बता दिया था, कि मैंने एक किताब वहा पर रखी है तो उसे तुम ले जाना। फिर जब वह बाहर गई तो मैंने सोचा कि उसने किताब ली होगी या नहीं, इसलिए मैंने बाहर जा कर देखा तो वह किताब वहा नहीं थी।

दो दिन बाद जब वो आई तो उसकी आँखों में चमक थी, और अजीब सा नशा था। मैने अकेले मुझे उससे पूछा – कैसी लगी किताब?

वो – बहुत गंदी किताब थी। 

मैं – तो लाओ मेरी किताब वापस दे दो।

वो – मैने उस किताब को फेंक दी। 

मुझे ये सुन कर गुस्सा आया तो मैं उसको पकड़ कर किस करने लग गया, मैंने एक हाथ से उसके बूब्स को दबा दिया।

इस बार उसने कोई भी विरोध नहीं था, शायद इसका उसे मजा आ रहा था। और थोड़ा सा मजा लेने के बाद मैंने उसे छोड़ दिया। 

एक बार घर के सब लोग बाहर गए थे और वो सब शाम से पहले नहीं आने वाले थे। तभी डोर बेल बजी और मैंने दरवाजा खोला तो वो दरवाजे के सामने खड़ी थी।

वो- मेम साहब हैं?

मैं- हां है। 

फिर वो अंदर आ गई, और मैंने दरवाजा बंद कर दिया। फिर मैं अंदर आ गया और जब वह कमरे में आई तो मैं उसपर टूट पड़ा। मैं उसको किस करने लग गया, और वो भी पूरा मेरा साथ दे रही थी।

मैं उसके चुचो को मसलने लग गया, और वो मस्त हो गई थी। तबी वो चौंक गई वो बोली – मैम साहब आ जायेंगी।

मैं- आज घर पर कोई नहीं है।

वो डर गई और बाहर जाने लगी, तभी मैंने उसे पकड़ लिया तो वो रोते हुए बोली- मुझे छोड़ दो प्लीज।

मैं – इतने दिनों बाद तो मेरे हाथ आई हो, अब कैसे जाने दूं।

फिर मैंने अपना हाथ उसके कुर्ते के अंदर डाला और उसके नंगे चुचो को मैं प्यार से मसलने लग गया।

वो चिल्ला रही थी, पर मुझे मजा आ रहा था। फिर मैंने उसका कुर्ता उतार दिया, वो मेरा विरोध कर रही थी।

मैं – देखो चुप चाप करवा लो, वरना मैं जबरदस्ती भी कर सकता हूं। इससे तुम्हारे ही कपड़े फटेंगे मेरा कुछ नहीं होगा।

इससे सब को पता चल जाएगा, और तुम किसी को मुंह दिखाने लायक नहीं रहोगी। और अगर चुप चाप करवाओगी तो किसी को पता नहीं चलेगा, ऊपर से मजा-ही-मजा मिलेगा। 

उसका विरोध कम हो गया और मैंने उसकी सलवार उतार दी, अब मैं उसकी पैंटी को चूमने लग गया। मैं उसके चुचो को भी चूसने लग गया, जैसे की मैं उसका बेटा हूं जो उसका दूध पी रहा हो।

वो बहुत गर्म हो गई और उसके मुँह से आह्ह आह्ह कि आवाजें आने लगी।

वो – मेरे निपल्स को जोर से चूसो ना। 

मैं हैरान हो गया और मैं बोला – ये तुमने कहां से सिखाया है?

वो – जो आपने मुझे किताब दी उसमे से।

मैं बहुत खुश हो गया, फिर मैंने उसकी पैंटी उतारी तो वो बोली- मुझे बाथरूम आ रहा है।

मैं उसे बाथरूम में ले गया, जब मैंने उसे मेरे सामने पेशाब करने को कहा तो वो पानी पानी हो गई। फिर मैंने उसके पेशाब से अपने हाथ धोये, और मुझे ऐसा लगा कि मैं गर्म पानी से हाथ धो रहा हूँ।

फिर मैं उसको बिस्तर पर ले आया, अब हम दोनों 69 की पोजीशन में हैं। मैं उसकी चूत को चूस रहा था, और वो मेरा लंड चूस रही थी। उसकी चूत एक दम क्लीन शेव थी, थोड़ी देर बाद वो झड़ गई।

मैंने उसका स्वाद वाला पानी पी लिया, फिर मैं भी झड़ गया। वो मेरा पानी अपने मुँह में ले कर गटक गई। पर उसको थोड़ा अजीब लगा पर बहुत अच्छा लगा। फ़िर मैंने अपना लंड पकड़ कर उससे कहा – चल अब इससे खेल कर इसे बड़ा कर।

फिर वो मेरा लंड पकड़ कर उससे खेलने लग गई, मेरा कुछ ही देर में फिर से खड़ा हो गया। फिर मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और मैंने एक धक्का मारा, जिसके मेरे लंड का टॉप उसकी चूत में चला गया।

इसे वो चिलाने लग गई और वो बोली – हाय माँ मैं मर गई प्लीज़ इसको बाहर निकालो, मुझे बहुत दर्द हो रहा है।

मैंने उसका मुँह बंद कर दिया और उसके मुँह को बंद करके जोर-जोर से धक्के मारने शुरू कर दिया। अब उसकी आंखों से आंसू निकलने लग गए, और अब वो मुझे गुस्से से देख रही थी।

मैंने उसका मुँह बंद किया हुआ था, जिसके मुँह से आवाज़ नहीं आ रही थी। नीचे से मैं जोर जोर से धक्के मार रहा था, तभी मैंने अपने फोन में एक छोटा सा वीडियो शूट कर लिया।

उसकी गोरी गुलाबी चूत से खून निकल रहा था, कुछ देर बाद वो थोड़ी नॉर्मल हो गई। अब उसे मजा आ रहा था और वो बोली- आह साले फाड़ दे मेरी चूत को आह और जोर से चोद न फाड़ दे और जोर से मुझे चोद दे।

आज से ये चूत तुम्हारी है, मुझे पता नहीं था कि मुझे इतना मजा आएगा। अब से मैं तुमसे रोज चुदुँगी आअहह आअहह आहाह और जोर से मुझे चोद। 

ये कहते हुए वो झड़ गई, मैं उसको चोदता रहा और कुछ देर में मेरे लंड का पानी निकल गया। मैंने अपना सारा पानी उसकी चूत में ही निकाल दिया, उसकी चूत से खून और मेरे लंड का पानी निकल रहा था।

मैंने ये सब वीडियो शूट कर लिया था, उस दिन मैंने उसे 2 बार चोदो। उसके बाद मैंने उसे दर्द निवारक दवा दी और उसकी चूत की सिकाई कर दी। मैंने देखा कि उसकी चूत पूरी फट गई थी।

उसने इस बारे में किसी को नहीं बताया था, और फिर हमारी चुदाई ऐसे ही चलने लग गई। उसके बाद उसकी शादी हो गई, अपने शादी वाले दिन भी उसने मुझे अपनी चूत की चुदाई करवाई थी।

उसके बाद वो मेरे बच्चे की माँ बन गई है, आज वो मेरे बच्चे के साथ मेरे घर आती है। वो मुझे अपने बच्चे के साथ अपना दूध पिलाती है।

दोस्तो आपको मेरी ये रियल हिंदी सेक्स स्टोरी (Real Hindi Sex Story) कैसी लगी, मुझे कमेंट करके जरूर बताए। धन्यवाद। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds