May 14, 2024
Randi Bana Kar Chudi

हिंदी सेक्स स्टोरी ( Hindi Sex Story )को पढ़ने वालो को काजल का नमस्कार 

मैं फिर से एक और Desi Hindi Sex Story ले कर आई हूँ  readxxstories.com पर 

जिसका शीर्षक है-  बुआ के लड़के के साथ रंडी बनकर चुदी  ( Randi Bana Kar Chudi )

आज की कहानी को कोमल जी बतायेंगी 

पहले मैं आप को आपने बारे मैं बता देती हूँ ,

मेरा नाम है कोमल शर्मा और मेरी उम्र 23 साल की है.और मैं दिल्ली के Chanakyapuri की रहने वाली हूँ और

मेरा फिगर 36-24-36 है, और रंग गोरा है। मेरा सबसे अच्छा हिस्सा मेरी उबरी हुई गांड और मेरे बिग बूब्स ( Big Boobs ) है। जिसे देखर हर किसी के लंड से पानी निकल जायेगा  

चलो फिर आज की सेक्स की कहानी को शुरू करते है ,

ये कहानी है 2 साल पहले की, जब मैं सिर्फ 12वीं की परीक्षा खत्म करके बुआ के घर आई थी। मेरी बुआ के लड़के का नाम राहुल  है। और हम दोनों काफी फ्रैंक थे एक दूसरे के साथ।

वो मेरे से उमर में 2 साल बड़ा था।

बुआ के घर पर बस भाई और बुआ ही रहते थे, क्योंकि फूफा के साथ तलाक हो गया था। तो वो दोनों अकेले ही रहते थे। बुआ का काम पूरा दिन बाहर ही रहता है, और भाई भी नौकरी कर रहे थे।

अभी थोड़े दिनों के लिए वो घर से काम कर रहे हैं। तो पूरा दिन वो मेरे ही साथ घर में रहते थे। हम दोनों पूरा दिन बहुत मस्ती करते थे।

बुआ का घर छोटा था, और एसी भाई के कमरे में ही था। तो मैं भाई के साथ सोती थी। एक दिन हम दोपहर को बैठ के टीवी देख रहे थे। तभी मैं सीरियल देख रही थी।

भाई आये, और भाई ने बोला-

भाई: ये चेंज कर, कुछ दूसरा लगा.

मैंने बोला: मुझे ये ही देखना है।

तो भाई ने मुझसे रिमोट छीनने की कोशिश की। लेकिन वो चीन नहीं पाये। अब मुझे लग रहा था कि वो रिमोट छीन लेंगे, तो मैं अपने मुंह के बल लेट गई, और रिमोट को मैंने अपने चुच्चो के बीच छुपा लिया।

अब भाई मेरे से रिमोट छीनने के लिए मेरी मोटी गांड ( Moti Gand )पर बैठ गए। तभी मैंने जींस और टी-शर्ट पहनी हुई थी। भाई जैसे ही मेरी गांड पे बैठे, मुझे कुछ महसूस हुआ।

पहले तो मैंने  इग्नोर किया. फ़िर भाई ने मेरे हाथो से रिमोट छीनने के लिए हाथ आगे बढ़ाये। तभी उनके हाथ मेरे स्तनों पर स्पर्श हुए, और मुझे एक करंट सा लगा।

मैंने रिमोट को और ऊपर से ले-जाते हुवे पूरे स्तन में छुपा लिया। अब भाई भी अपने हाथ से मेरे स्तनों को छूते हुवे रिमोट की तरफ बढ़ रहे थे। तभी मुझे मेरी गांड की दरार में कुछ महसूस हुआ।

मैं गरम हो रही थी, शायद वो भाई का लंड था।

अब भाई रिमोट को लेने की नाकाम कोशिश करते-करते मेरे स्तन को आपने हाथों में भर कर दबाने लगे। मैं अब और भी गरम हो रही थी, और मुझे मेरी गांड की दरार में भाई का एक दम तन्ना हुआ लंड महसूस हो रहा था।

तभी अचानक डोरबेल बजी. हम फटाफट उठ गये. मैं गई और दरवाजा खोला, तो बुआ थी। भाई ने पूछा-

भाई: इतनी जल्दी कैसे आना हुआ?

बुआ बोली: तेरी नानी की अचानक से तबीयत खराब है तो आज ही मुझे जाना पड़ेगा।

तभी मैं बोली: मैं भी चलती हूं साथ मैं.

तो बुआ बोली: नहीं तुम यही रुको और भाई का ख्याल रखना। क्योंकि आने में शायद महीना भी हो जाए।

तो मैने हमी भारी, और थोड़ी देर में बुआ निकल गई। फिर शाम हो चुकी थी. मैंने रसोई में खाना बनाना शुरू कर दिया। फिर रात को खाना खाने के बाद हम सोने चले गए।

मेरे दिमाग में अभी भी वो दोपहर वाली बात घूम रही थी, और अब मुझे सेक्स करने की इच्छा हो रही थी।

मैं रात को सो नहीं पा रही थी, तभी तकरीबन 12 बजे होंगे तभी अचानक से भाई का हाथ मेरी कमर पे आ गया। मैंने कुछ प्रतिक्रिया नहीं दी। फ़िर भाई ने धीरे से अपने हाथ आगे बढ़ाये, और मेरे स्तनों पर रख दिये।

तब मैंने एक छोटी सी स्कर्ट और ऊपर स्लीवलेस टी-शर्ट पहनी थी।

मेरा भाई ने मेरे चुच्चो को टी-शर्ट के ऊपर से ही सहलाने लगे मैं गरम होने लगी, और तेजी से सांसें भरने लगी। तभी भाई को पता चल गया कि मैं जाग रही थी। भाई ने तुरत मुझे पलटा, और मुझे बोला-

भाई: मैं जानता हूँ तुम जाग रही हो। आंखें खोल दो.

मैंने आंखें खोली और भाई ने मुस्कुराते हुवे मेरे होठों को चूमना शुरू किया। मैंने भी उनका साथ दिया. अब भाई ज़ोर-ज़ोर से मेरे स्तन दबा रहे थे, और मेरे होठों को कस के चूम रहे थे।

अब भाई ने मेरी टी-शर्ट उतार दी, और मेरी काली ब्रा के साथ मेरे स्तनों को चूस रहे थे। मैं सिसकियाँ भर रही थी.

अब भाई नीचे गए, और उन्होंने मेरी स्कर्ट उतार दी। अब मैं सिर्फ पैंटी और ब्रा में थी। फ़िर भाई ने पैंटी के ऊपर से हाथ सेहलाते -सेहलाते  पैंटी भी उतार दी। अब भाई मेरी गीली चूत ( Gili Chut ) देख के एक दम खुश हो गया।

वो बोले: अभी तक तुम वर्जिन हो.

मैंने बोला: हा मैंने अभी तक किसी के साथ चूत चुदाई ( Chut Chudai ) नहीं की है। 

भाई ये सुन कर खुश हो गए. वो ज़ोर से मेरी चूत पर टूट पड़े। मैं भी सिसकियाँ भरती जा रही थी। थोड़ी देर में मैं झड़ गई, और भाई ने मेरा सारा पानी पी लिया।

अब भाई मेरे ऊपर आये, और मेरे स्तनों को ब्रा से आज़ाद किया, और ज़ोर से स्तनों पर टूट पड़े और काटने लगे।

मैं बोली: भाई धीरे से करो , मुझे दर्द हो रहा है।

तो भाई बोले: चुप साली रंडी, आज तेरी एक नहीं सुनूंगा। आज तुझे मेरी रंडी बना के ही रहूँगा।

ये सुन कर मैं थोड़ी हैरान हो गई. लेकिन पता नहीं क्यों मैं और भी गरम हो रही थी, और ज़ोर-ज़ोर से सिसकियाँ भर रही थी। अब भाई ने मुझे घुटनो के बाल बैठने को बोला।

मैं जल्दी से बैठ गयी. भाई ने मेरे स्तन पर एक ज़ोर का थप्पड़ मारा, और लंड को मुँह के पास लाके बोले-

भाई: चल चूस रंडी.

मैं मना करने लगी, तो वो बोले-

भाई: साली रंडी चूसती है की नहीं.

मैंने लंड को मुँह में लिया, और फिर भाई ज़ोर-ज़ोर से मुँह चोदने लगे। मेरी सांसे भी अटक रही थी. पर मैं कुछ कर नहीं पा रही थी। भाई ने मेरे बालों को पकड़ के मेरे मुँह की ज़ोर-ज़ोर से चुदाई की।

थोड़ी देर बाद वो और तेजी से चोदने लगे, और मेरे मुँह में ही झड़ गये।

उनका लंड बाहर निकला, और बोले: रंडी, इसे थूकना मत। और अभी पीना भी मत, रुक.

फ़िर भाई ने फ़ोन उठाया, और बोले: चल मादरचोद, मुँह खोल।

तो मैंने मुँह खोला, और भाई ने ऐसी ही मेरी तस्वीर ली। फ़िर भाई बोले-

भाई: चल अब पि जा इसे.

मैंने पिया, तो उसका स्वाद कुछ अजीब सा था। लेकिन मजेदार था.

जानिये आगे कैसे फिर भाई ने मेरी चूत और गांड फाड़ दी।

तो दोस्तों कैसे लगी  Bhai Bahan Sex Story

कॉमेंट करके बताये 

ऐसे और Hindi Porn Stories पढ़ने के लिए readxxstories.com पर जाए। 

Next Part पड़ना मत भूलना, अगला भाग जल्द ही ले कर आऊंगी।

धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds