May 21, 2024
लंड के मजे नए देश में

मेरे प्यारे पाठकों मैं आपका मिन्टू। एक नई गे सीरीज के साथ, ये सीरीज मेरे एक दोस्त की जिंदगी पर आधारित है। मैं और मेरा दोस्त, दोस्त से कम भाई ज्यादा है। ये कहानी एक लम्बी सीरीज है जिसका शीर्षक लंड के मजे नए देश में है।

मेरे दोस्त का नाम सिराज है, और वह एक 22 साल का जवान लड़का है। ये गे सेक्स कहानी की सीरीज उसकी जीवन की घटनाओं और सेक्स रोमांच के बारे में है।

सिराज, गोरा, लंबा और पतला और दुबला सा है। जिम जा जा कर उसने अच्छी बॉडी बना ली है। जिम कर के उसकी गांड एक दम कमाल की हो गई है।

शुरू से ही उसमे एक अजीब सा यौन आकर्षण है।जिस से वो दूसरे को अपनी तरफ आकर्षित कर रहा है।

सिराज को बचपन से ही लड़कों में दिलचस्पी है, और हमारे स्कूल के जमाने में भी सभी लड़के सिराज पर फ़िदा थे।

वो सब उसकी गांड को बजाना चाहते थे, पर सिराज उन से शुरू से बचता रहा। फिर बारहवीं क्लास पास करने के बाद सिराज ने दुबई जाने के लिए अप्लाई किया।

उसका परिवार बहुत आमिर था, इसलिए उसे आसानी से एडमिशन मिल गया और वो दुबई चला गया। दुबई आ कर सिराज के लिए यहां सब कुछ नया था।

बांग्लादेश जैसे रूढ़िवादी देश से निकल कर के अब सिराज एक खुले विचारों वाला और उदार देश में था। शुरू में तो सब ठीक चला, फिर सिराज ने देखा कि यहां गे होना कोई बुरी बात नहीं है। और यहां बहुत से लोग एक गे रिलेशनशिप में थे।

एक दिन उसको लोकल ट्रेन से जाना, उसको बहुत जल्दी में था, तो उसने उबर करने की सोची। सिराज की उबर जल्दी ही आ गई, उबर का ड्राइवर तो एक देसी बंदा निकला।

शकल से वो बंदा पठान लग रहा था। कार में बैठे हुए सिराज ने ड्राइवर को बस एक नजर देखा, और वो पिछली सीट पर बैठ गया। ड्राइवर सिराज को ऊपर से नीचे तक देख रहा था।

उसने अपने शीशे को सिराज पर एडजस्ट किया, और वो मुस्कुराते हुए बोला।

ड्राइवर- और भाई जान क्या हाल है? आप अपने बंदे लगते हो, बांग्लादेशी हो या भारतीय?

सिराज – जी मैं बांग्लादेशी हूं, और मैं यहां पढ़ाई के लिए आया हूं।

ड्राइवर- मेरा नाम सलीम है, मैं भी यहां स्टूडेंट ही आया था। अब पढ़ाई खत्म हो गई है, और अब मैं यहां उबर चला रहा हूं। क्या नाम है तुम्हारा, और तुम कहाँ से हो?

सिराज – मैं ढाका से हूं, मेरा नाम सिराज है।

सलीम – बहुत ख़ुशी हुई तुम से मिल कर सिराज, कहीं काम से जा रहे हो या घर पर?

सिराज- नहीं यार वीकेंड है, कोई जरूरी काम नहीं है। मेरा अभी कोई दोस्त भी नहीं है यहां पर, बस घर ही जाऊंगा।

सलीम- यार मैं हूं ना, चलो आज की शाम मेरे साथ चलो एन्जॉय करेंगे।ये कहते ही सलीम ने बहुत प्यार से सिराज की तरफ देखा।

फिर सिराज बेचारा यहां नया आया था, और वो काफी बोर भी हो रहा था। इसलिए सलीम को अपना समझ कर मान गया।सलीम ने अभी उबर आईडी ऑफलाइन की और कार को एक पब की तरफ मोड़ लिया।

फिर वो दोनों कार से उतर कर पब की तरफ गए, अंदर से म्यूजिक और शोर की आवाज आ रही थी। सिराज कुछ शर्मीला महसूस कर रहा था, पर सलीम के पीछे-पीछे वो अंदर चला गया।

अंदर का नजारा एक एकदम हैरान करने वाला था, यहां लड़की बस एक या दो थी। वह ज्यादा करके लड़के ही थे, और वो भी एक दूसरे के साथ। ये एक गे पब था।

लंड के मजे नए देश में

जहां सलीम सिराज को ले आया था, दोनों ने बार का रुख किया। सलीम ने अपने लिए व्हिस्की ऑर्डर किया और सिराज ने अपने लिए बस एक रेड वाइन का ग्लास ऑर्डर किया।

सिराज – यार यहाँ तो सारे समलैंगिक(गे) हैं।

सलीम- तो क्या हुआ यार, हमारे ढाका में भी तो सब लंड बाज हैं। कम से कम ये लोग छुपते तो नहीं हैं, जो है सो है।

सिराज- हां ये तो है। सिराज ने अब सलीम को गोर से देखा, तो वो एक हैंडसम मर्द था। छोड़ी छटी और उसके चेहरे पर हल्की हल्की दाढ़ी और मूंछें भी थीं। उसने जींस और एक सफेद टी शर्ट पहन रखी थी।

उसके मस्कुलर बाइसेप्स और छोड़ी छटी इस बात का सबुत थी, कि वो एक बॉडी बिल्डर है। और उसकी जींस ऊपर से उसकी मर्दंगी साफ दिखा रही थी। ये तो सिराज के ड्रीम मैन टाइप था।

खैर सिराज ने अपनी परेशानी पर काबू पाया, पर उधर सलीम का दिल तो कब का सिराज पर आ चुका था। और अब 3 पैग व्हिस्की के बाद उसका मन बस सिराज पर चढ़ने का था।

लंड के मजे नए देश में

🎀गे चुदाई की कहानी: लंड चूसने की चाहत🎀

सलीम- मेरा फ्लैट इसी बिल्डिंग के पांचवें फ्लोर पर है, चलो ऊपर चलते हैं। तुम्हें आज मैं एक स्पेशल डिश का स्वाद चखाता हूं।

सिराज उसका इशारा समझ नहीं आया, पर वो उसके साथ ऊपर वाले फ्लैट पर चलने को मन गया। लाइफ में बस सिर्फ वो ही डोनो थे, और लाइफ में अचानक सलीम ने सिराज को पकड़ कर किस करना शुरू कर दिया।

सिराज को तो कुछ समझ ही नहीं आया, उसके साथ ये क्या हुआ है। होश तब आया जब एक दम से जिंदगी का दरवाजा खुल गया। सिराज तुरंत सलीम से दूर हट गया।

सलीम ने आगे चलना शुरू कर दिया, और सिराज शर्मिंदगी की हालत में उसके पीछे उसका फ्लैट तक गया, और फिर वो दोनों अंदर चले गए।

💝दिल्ली में सस्ती और हॉट कॉल गर्ल्स आपके लिए💝

Aerocity Escorts

Dwarka Escorts

Paharganj Escorts

सलीम डोर बंद करते हुए बोला- सॉरी यार मैं अपने आप पर काबू नहीं कर सका, तुम चीज ही इतनी हॉट हो। तुम्हें देखते ही मैं तुम पर फ़िदा हो गया था।

सिराज- क्या? तुम कैसी बात कर रहे हो यार?

सलीम- अब बस भी करो यार, ये बांग्लादेश नहीं है। जिस तरह तुम अपनी गांड हिला कर चलते हो, उसे साफ पता चलता है कि तुम एक गे हो। अब तुम्हें डरने की ज़रूरत नहीं है।

सिराज- यार आप गलत समझ रहे हो।

सलीम – अच्छा तो फिर पूरे 10 मिनट तक तुम निचे मेरी बॉडी और मेरी पैंट में खड़े मेरे लंड को, अपनी भूखी नजरों से क्यों घूर रहे थे।

अब सिराज के पास कोई जवाब नहीं था, वो सारा झुके बैठा था। सलीम फ्लोर पर सिराज के सामने घुटने टेक दिए, और वो उसका फेस पकड़ कर बोला – मुझ पर भरोसा करो।

सिराज ने कुछ नहीं बोला और सलीम ने फिर से उसके होठों को चूसना शुरू कर दिया। इस बार सिराज ने भी शुद्ध जोश से जवाब दिया, और अपने मुंह को सलीम की जिंदगी के लिए खोल दिया।

अब वो दोनों जल्दी से एक दसरे के कपड़े उतारने लग गए। सिराज की शर्ट, सलीम की शर्ट, सिराज की पैंट, सलीम की पैंट और फिर सलीम फुल न्यूड और सिराज ब्लू अंडरवियर में खड़ा था।

सिराज ने सलीम की तराशी हुई बॉडी को एक नज़र देखा, उफ़ क्या मस्त बॉडी थी। छोड़ी छटी, एब्स और मजबूत जांघें और उनके बीच में खड़ा हुआ उसका फौलादी लंड।

उसके लंड की मोटाई करीब 4 इंच होगी, और उसकी लम्बाई करीब 7 इंच होगी। उसका लंड देख कर सिराज से रहा नहीं गया, और उसने पहले सलीम की छत पर चुंबन की बरसात कर दी।

वो उसके निपल्स को एक करके चाटने लग गया, सलीम के मुँह से सिस्कारिया निकलने लग गई। सलीम ने सिराज के सर पर हाथ रख के उसको नीचे धकेल दिया।

सिराज उसका इशारा समझ गया था, और उसने नीचे बैठ कर सलीम का लंड पकड़ लिया। लंड एक दम गरम था, मदीद ने अपनी जुबान निकल कर पहले लंड का टोपा चाटा।

फिर उसने शुद्ध लंड को चाटा, और उसके बाद धीरे-धीरे उसने लंड को पूरा अपने मुँह में ले लिया। आज बरसो के दबी सिराज की ख्वाहिश पूरी हो रही थी, और वो भी इतने बड़े लंड के साथ।

हमने जितनी गे पोर्न मूवी देखी थी, वो उसका लंड अपार निकाल दी। और वो सलीम के लंड को बस चूस जा रहा था, कभी वो लंड को पूरा अंदर लेता तो कभी बाहर निकल कर जोर जोर से लंड पर जीभ फेरता।

तो कभी सलीम के गोल्फ बॉल के आकार के टैटू को चूसता था। सलीम तो सात आसमान पर था, जब उसको लगा कि मुझे चूसने में काफी मजा ले लिया है।

तो उसने सिराज को रोका और उसको उसने उठाया, फिर उसने सिराज को बिस्तर पर ढक दिया।और उसकी टांगे उठे हुए एक दम से उसने सिराज का अंडरवियर उतार दिया।

सिराज का लंड भी इस सेक्स मस्ती से खड़ा हो गया था, और हमसे उसका पर्कम भी हो गया था।सलीम ने फोरन आला झुका और वो सिराज के लंड को मुँह में ले कर चूसने लग गया।

सिराज बिन पानी की मछली की तरह तपड़ रहा था, सलीम ने बिस्तर की साइड से तेल की बोतल निकाली।फिर उसने तेल में एक उंगली डुबोई, और वो उंगली को सिराज की गांड में डालने लग गया।

पर उसकी उंगली स्लिप कर गई, और जिसकी मदद से एक दम उछल पड़ा। फ़िर सिराज ने अपने आप उसकी उंगली को पकड़ कर अपनी गांड में एडजस्ट करवा लिया।

सलीम उठा और सिराज को उल्टा करके उसने ले लिया। सिराज अब समझ नहीं आ रहा था कि वो उसे कैसे मना करे। सेक्स डोनो के सर पर सवार हो गया था। सलीम भी दराज से कंडोम निकाल कर लंड पर लगाने लग गया।

फिर उसने हमें पर तेल लगाया, और फिर उसने खूब सारा तेल सिराज की गांड पर डाला। सिराज बस इतना ही बोल पाया – आराम से करना पहली बार है।

सलीम समझ गया, वो सिराज के ऊपर पूरा लेट गया। ताकि सिराज हिल भी न सके, और उसने अपने लंड को सिराज के छेद पर एडजस्ट किया।

फिर उसने एक जोर डर मारा, तेल की मदद से सलीम का मोटा लंड सिराज की गांड में चला गया।

सिराज की गांड फट गई और वो जोर जोर से हाथ चलने लग गया और वो बोला – बस निकल दो, मुझे नहीं करना। नहीं नहीं आहा माँ प्लीज़ रुक जाओ।

सलीम ने उसकी एक ना सुनी और एक और धक्का मारते हुए, उसने अपना पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया। सिराज की हालत ख़राब थी, और वो सलीम से रुकने की भीख मांग रहा था।

सलीम अब रुक गया, और सिराज की कमर और गर्दन पर चुंबन करने लग गया। कुछ समय में सिराज की गांड रिलैक्स हो गई, तो सलीम ने हल्के-हल्के झटके मारने शुरू कर दिए।

झटके के जवाब में सिराज के मुँह से भी सिस्कारिया निकलने लग गई। सलीम ने जोर की चुदाई चालू कर दी और वो बोला।

सलीम- ओह यार क्या टाइट गांड है तेरी, कभी मैंने किसी पेशावरी की भी ऐसी टाइट गांड नहीं मारी है।

सिराज – वाकाई आअहह हां कम-ऑन फक मी फक मी आअहह। ये सुन कर सलीम ने और जोर से सिराज की गांड बजाना शुरू कर दिया, इतने जोर के धक्के मारे कि सिराज की सिस्कारियां चीखों में बदल गईं।

फिर अचानक सिराज के लंड में से वीर्य निकल गया। ये देख कर सलीम ने भी तीन चार विशाल धक्के मारे, और उसने अपने लंड का पानी उसकी गांड में खाली कर दिया।

सिराज को अपनी गांड में बहुत सारा गरम पानी महसूस हो गया। सलीम पीछे हटा और उसका लंड बाहर निकल गया, तो सिराज की गांड से खून निकला और उसके साथ ही सलीम के लंड का पानी भी निकल रहा था।

जोरदार चुदाई के कारण कंडोम भी फट चुका था। सलीम ने सिराज की गांड को कपड़े से साफ किया, पर सिराज हिलने की हालत में नहीं थी। फिर उसकी आंख लग गई और वो सो गई।

आगे क्या हुआ, ये मैं आपको अपनी इसी गे सेक्स कहानी के अगले हिस्से में बताऊंगा। आप मुझे आप मुझे कमेंट करके अपना प्यार दे सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds