May 14, 2024
मोहल्ले की हॉट गर्लफ्रेंड को चोदा

नमस्कार दोस्तो मेरा नाम राज है आज में आपको बताने जा रहा हु की कैसे मेने "मोहल्ले की हॉट गर्लफ्रेंड को चोदा उसी के घर में जाकर"

नमस्कार दोस्तो मेरा नाम राज है आज में आपको बताने जा रहा हु की कैसे मेने “मोहल्ले की हॉट गर्लफ्रेंड को चोदा उसी के घर में जाकर”

मैं मुंबई का रहने वाला हूँ। सबसे पहले मैं आप सभी को अपनी हॉट गर्लफ्रेंड के बारे में बता रहा हूँ. मेरी गर्लफ्रेंड का नाम कृतिका है.

कृतिका एक बहुत ही सेक्सी, हॉट और मस्त लड़की है जिसके पीछे मोहल्ले के सभी लड़के थे। कृतिका का फिगर 30-28-32 है.

उसकी गांड बहुत गोल है और उसके नुकीले स्तन बहुत मुलायम हैं. उसकी चूचियों को दबाने में बहुत मज़ा आता है. कृतिका का रंग बिल्कुल दूधिया सफेद है.

ये घटना तब की है जब मैं ग्रेजुएशन कर रहा था और वो भी ग्रेजुएशन कर रही थी. हम शुरू से ही साथ पढ़े हैं. जब से हम दोनों जवान हुए, उसके प्रति मेरी भावनाएँ बदल गयीं।

उस वक्त वो मेरे साथ पढ़ती जरूर थी, लेकिन मैं कृतिका से बात नहीं करता था. बात उन दिनों की है. एक बार मुझे उसकी मदद की जरूरत थी तो मैंने उसे फोन करके पूछा.

उसने तुरंत हाँ कह दी और हम रोज़ बातें करने लगे। उसकी बातों से मुझे लगने लगा कि वो भी मेरी तरफ आकर्षित हो गयी है.

कृतिका के माता-पिता नहीं हैं. वह अपने मामा के साथ रहती है। उसे एक हमदर्द की ज़रूरत थी, जब से मैंने उससे बात करना शुरू किया, वह मुझे अपने घर के बारे में सब कुछ बताने लगी।

उसकी मौसी उससे घर का सारा काम करवाती थी, जिससे कृतिका बहुत परेशान रहती थी. कृतिका मुझसे ये सब बातें शेयर करके और अपना दुख मुझसे शेयर करके बहुत हल्का महसूस करती थी.

इसी तरह मैसेज के जरिये भी कृतिका और मेरी धीरे-धीरे काफी बातें होने लगीं. फ़ोन पर बहुत कम बातचीत हो पाती थी. एक दिन मैंने कृतिका से कहा- मैं तुमसे कुछ कहना चाहता हूं.

उसने भी कहा- हां, मैं भी तुमसे कुछ कहना चाहती हूं. मैंने उससे कहा- ठीक है, पहले तुम अपनी बात कहो. मुझे लगा कि पहले मुझे कृतिका की मानसिक स्थिति जाननी चाहिए और फिर उसके अनुसार अपने विचार व्यक्त करूंगा.

वो बोलीं- नहीं, मैं अपनी बात बाद में कहूंगी … पहले तुम बोलो, क्या कहना चाहते हो. हम दोनों के बीच ‘पहले तुम…पहले तुम…’ वाली स्थिति बन गई। वो हंसने लगी और बोली- ऐसे तो हम दोनों बात नहीं कर पाएंगे.

जब मैंने उसकी हँसी सुनी तो मैं समझ गया कि कृतिका इस समय अच्छे मूड में है। मैंने उससे एक बार फिर कहा कि लेडीज फर्स्ट के मुताबिक आपको पहले बोलना चाहिए.

उन्होंने कहा- मैं जो भी कहना चाहती हूं, लेडीज फर्स्ट का चलन नहीं है. तो आप कहें…उसके बाद मैं अपनी बात कहूंगा.

मैं समझ गया कि वो भी वही कहना चाहती है जो मैं कहने वाला था. मैंने उससे कहा ‘आई लव यू’. तो वो भरे गले से बोली- न जाने कब से मेरे कान ये लाइन सुनने के लिए तरस रहे थे.. राज, मैं भी तुमसे बहुत प्यार करती हूँ।

इस तरह हम दोनों ने एक दूसरे से अपने प्यार का इजहार किया. मैं काफी देर तक उससे अपनी भावनाओं के बारे में बात करता रहा और वह भी मुझसे ऐसे बात करने लगी जैसे वह मेरी जीवन साथी हो।

हमारे बीच प्यार पर मुहर लगने के बाद हमारे बीच बहुत सेक्सी बातें होने लगीं. एक दिन उसने मुझसे कहा- मैं तुमसे अकेले में मिलना चाहती हूँ। मैंने भी हां कर दी क्योंकि मुझे भी चूत चाहिए थी.

फिर वो रात आई, जिस रात हम दोनों एक हुए, मैंने गर्लफ्रेंड सेक्स किया। उस दिन कृतिका के घर के सभी लोग शादी में गये हुए थे. लेकिन कृतिका ने कोई बहाना बना दिया और जाने से इनकार कर दिया.

वह घर पर ही रह रही थी. शाम होते ही उसने मुझे बुलाया और मैं उसके घर आ गया. उसने दरवाजे पर जल रहे बल्ब को बंद कर दिया था, ताकि कोई मुझे अन्दर आते हुए न देख सके.

मैं उसके घर गया तो उसने दरवाज़ा खुला रखा था. उन्होंने मुझसे फोन पर ही कहा था कि तुम घर में यह ख्याल रख कर आना कि कोई पड़ोसी तुम्हें देख न सके. मैंने इस बात का ख्याल रखा और सीधे खुले दरवाजे से उसके घर में घुस गया.

मैं घर में घुसा तो कृतिका ने तुरंत दरवाजा बंद कर लिया. मैंने पीछे मुड़कर देखा तो देखता ही रह गया. आज कृतिका बहुत सेक्सी लग रही थी. उसने लेगिंग्स और टॉप पहना हुआ था, जो बहुत टाइट था.

मैं उसे प्यार से देखने लगा, तो वो मुस्कुरा दी और बोली- अन्दर आओ, बाद में देखेंगे… अभी तो पूरी रात बाकी है. यह कह कर उसने दरवाज़ा बंद कर दिया। मैंने अपनी बाहें उसकी ओर बढ़ा दीं. वो कटे पेड़ की तरह मेरी बांहों में आ गिरी.

हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे क्योंकि हम दोनों प्यासे थे. दस मिनट तक चूमने के बाद मैं उसकी गर्दन पर चूमने लगा और ऊपर से उसके मम्मे दबाने लगा। वो कराहने लगी- आह आह उस्स्स्स उम्म्ह!

उसकी मादक कराहें हॉल में गूंजने लगीं. मैंने उसे गोद में उठाया और बेडरूम में ले गया. वहां पहुंचते ही मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया. साथ ही मैं खुद उसके ऊपर चढ़ गया और उसे चूमने और चूसने लगा.

उसके पूरे शरीर को सहलाने लगा. मेरा लंड कृतिका की चूत फाड़ने के लिए तैयार था. मैंने उसे इशारा किया तो उसने मेरे कपड़े उतार दिये. मैंने भी उसके कपड़े उतार दिये.

अब वो सफ़ेद ब्रा और काली पैंटी में रह गयी थी। जबकि मैं पूरा नंगा खड़ा होकर अपना लंड हिला रहा था. मेरा खड़ा लंड देख कर वो एक पल के लिए डर गयी. उसके मुंह से कुछ भी नहीं निकल रहा था.

मैंने उससे पूछा- क्या हुआ? वो मरी सी आवाज में बोली- तुम्हारा ये तो बहुत बड़ा और मोटा है. मैंने कहा- हाँ, यह तो तुम्हारी किस्मत है कि तुम इतने बड़े और मोटे हो गये।

वरना कुछ लोग बहुत बदकिस्मत होते हैं…उन्हें आए दिन चूहे मिल ही जाते हैं। यह सुनकर उसे अच्छा लगा और बड़ी हसरत से मेरे लंड को देखने लगी. मैं उसके करीब आया और अपना लिंग उसके मुँह के सामने घुमाने लगा।

उसने मेरी आँखों में देखा तो मैंने उसे मेरा लिंग पकड़ने का इशारा किया। उसने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ा और छोड़ दिया. वो बोली- उसे बुखार आ गया है.

मैंने हंस कर पूछा- तुम्हें कैसे पता… क्या तुम लंड के डॉक्टर हो? मेरे मुँह से पेनिस शब्द सुनकर वो शरमा गई और फिर से पेनिस पकड़ कर बोली- इसमें डॉक्टर की क्या बात है, ये गर्म है.. इसलिए मैंने कहा कि इसे बुखार है.

जब मैंने उसके हाथ का कोमल स्पर्श अपने लिंग पर महसूस किया तो मुझे बहुत मजा आया और मेरा लिंग भी हिनहिनाने लगा। मैंने कहा- आप इसका बुखार उतार दीजिये.

वो लंड सहलाते हुए बोली- कैसे? मैंने कहा- इसे ठंडा होने दो. वो समझ गई, लेकिन मूड में थी तो बोली- इसे ठंडा कैसे करूँ.. इस पर बर्फ मल दूँ क्या?

मैंने कहा- बर्फ़ से तो और भी गर्मी हो जाएगी. इसे अपने शरीर की गर्मी से ठंडा करना होगा. वो आंखें नचा कर बोली- बदन से कैसे? मैंने चिढ़कर कहा- मुँह में ले लो. संभव है कि यह आपके मुंह में थोड़ा ठंडा हो जाए.

ये सुनते ही उसने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. मुझे अपना लंड चुसवाने में बहुत मजा आ रहा था. कुछ मिनट तक कृतिका का मुँह चोदने के बाद मैं उसके मुँह में ही झड़ गया.

वो मेरी सारी मलाई खा चुकी थी और मेरे मुँह में अपनी जीभ डाल कर मुझे अपनी मलाई का स्वाद चखाने लगी. मैंने उसके कान में कहा- अब मेरी बारी है.

वो मुझसे अलग हो गई और बिस्तर पर औंधे मुंह लेट गई. मैंने उसकी ब्रा और पैंटी उतार दी और उसकी चूत चाटने लगा. उसकी चूत पहले से ही गीली थी. अपनी चूत चटवाने से कृतिका बहुत गर्म हो गई.

उसकी चूत को अपनी जीभ से चूसने के बाद मैंने पहले उसकी चूत में एक उंगली डाली, फिर दो और उस उंगली से ही उसकी चूत को चोदने लगा.

मैंने अपनी उंगलियों से जवान चूत को ढीला किया और उसके स्तनों को मुँह में लेकर चूसता रहा। वो बहुत अच्छी आवाजें निकाल रही थी.

मैं उसके दूध चूसते समय उसके निप्पल को काट लेता तो वो जोर से चिल्ला उठती. घर पर अकेले होने के कारण हम दोनों को कोई डर नहीं था. इसलिए हम दोनों खुलकर सेक्स का मजा ले रहे थे.

जब कृतिका ज्यादा गर्म हो गई तो मुझसे बोली- राज अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता. अब तुम अपना लंड मेरे अंदर डालो. मैं उसे तड़पा रहा था, लेकिन जब बहुत देर हो गई.. तो मैंने अपना लंड उसकी चूत पर रखा और धक्का दे दिया।

कृतिका की चूत नई थी.. वो बिना चुदी थी इसलिए उसकी चूत बहुत टाइट थी। हम दोनों समझ गये कि बिना चिकनाई के काम नहीं चलेगा। मैंने कृतिका से तेल या क्रीम लाने को कहा.

कृतिका खुद ही किचन से तेल लेकर आई और मेरे लंड और अपनी चूत पर लगा लिया. वह इस समय बहुत कामुक थी, इसलिए उसने सेक्स पोजीशन में लेटे-लेटे ही मुझे अपने ऊपर खींच लिया.

इससे पहले कि मैं कुछ समझ पाता, उसने खुद ही मेरा लंड पकड़ लिया और अपनी चूत पर सेट कर लिया. फिर उसने मुझे इशारा किया और मैंने पूरी ताकत से धक्का लगा दिया.

मेरा लंड एक ही बार में उसकी चूत को फाड़ता हुआ अन्दर घुस गया. मैंने देखा कि मेरा आधा लंड अन्दर घुस चुका था.

वो दर्द के मारे रोने लगी क्योंकि मेरा लंड 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है. वह मुझसे अपना लिंग बाहर निकालने के लिए कहने लगी तो मुझे उस पर दया आ गई और मैंने अपना लिंग बाहर निकाल लिया।

जब उसने देखा कि उसकी चूत से खून निकल रहा है तो वो डर गयी. मैंने उसे समझाया कि यह सामान्य बात है. पहली बार सेक्स के दौरान ऐसा हर किसी के साथ होता है।

कुछ देर बाद जब वो सामान्य हुई तो मैंने फिर से अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. इस बार उसने दो बार में पूरा 8 इंच लंड घुसा दिया, जिससे वो फिर से तड़पने लगी. लेकिन इस बार मैंने कोई दया नहीं दिखाई.

पूरा लंड घुसाने के बाद मैं कुछ देर के लिए रुक गया. जब उसका दर्द कम हुआ तो वो अपनी गांड उठाने लगी. उसकी गांड की हरकत से मैं समझ गया कि वो अब चुदने के लिए तैयार है.

फिर मैंने धक्के लगाना शुरू कर दिया. मेरा लंड उसकी चूत में पूरा अंदर तक जा रहा था. अब वो पूरी मस्ती में जोर-जोर से चिल्ला रही थी- चोदो मुझे, जोर से चोदो… मेरे बच्चे… और तेजी से चोदो मुझे… उम्म्ह… अहह… हय… याह… फाड़ दो मुझे… यह चूत लंड के लिए बहुत प्यासी है… आह… मेरी जान.

उसकी कामुक आवाजें मुझे और भी उत्तेजित कर रही थीं. मैं और जोर जोर से चोदने लगा. करीब 20 मिनट तक मैंने उसे खूब चोदा. इतने कम समय में कृतिका दो बार चरमसुख प्राप्त कर चुकी थी।

अब मैं झड़ने वाला था तो मैंने कृतिका से पूछा- कहां निकालूं? वो बोली- चूत में ही निकालो. मैंने दस-बारह तेज़ शॉट लगाए और उसकी चूत में ही झड़ गया।

हम दोनों कुछ देर तक ऐसे ही एक दूसरे से चिपके रहे और कुछ देर बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. मैंने कृतिका से कहा- अब क्या सोचती हो मेरी जान..?

वो मेरे लंड की तरफ देखने लगी. इस बार वो घोड़ी बन गई और बोली- मुझे ये पोज पसंद है. मैं भी उसे इस पोजीशन में चोदने के लिए तैयार था.

मैं उसकी गांड की तरफ आया और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया. उसकी मीठी आहें और कराहें निकलने लगीं. मैंने उसके मम्मे पकड़ कर उसे 20 मिनट तक चोदा।

वो बोली- मुझे ऊपर आना है. ये सुनकर मैं लेट गया और वो मेरे लंड पर बैठ गयी और बड़े मजे से मुझे चोदने लगी. कुछ देर की जोरदार चुदाई के बाद हम दोनों स्खलित हो गये और नंगे ही लेट गये।

हमारी थकान ने हम दोनों को बेहोश कर दिया था. चूंकि हम दोनों नंगे ही एक दूसरे से चिपक कर लेटे थे.. तो रात के 3 बजे फिर से शरीर में झुनझुनी हुई और हम दोनों जाग गए।

हम दोनों एक दूसरे को चूमने लगे. जल्द ही मैं सेक्स के मूड में आ गया. मैंने कृतिका से कहा- इस बार मैं तुम्हें कुछ और मारना चाहता हूं. वो हंसने लगी और बोली- अब क्या बचा है?

मैंने कहा- तुम्हारी गांड बहुत सेक्सी है.. मैं उसे भी खोल दूँगा। उन्होंने कहा हाँ। मैंने अपना लंड पकड़ कर उसकी गांड पर रखा लेकिन घुसा नहीं. फिर मैंने उसकी गांड पर तेल लगाया और अपना पूरा लंड उसकी गांड में डाल दिया.

वो दर्द के मारे जोर जोर से रोने लगी और मुझसे छूटने की कोशिश करने लगी. लेकिन मैंने उसे अपनी कमर से कसकर पकड़ रखा था. जब उसका दर्द कम हुआ तो वो मेरा साथ देने लगी.

फिर हम दोनों ने जम कर चुदाई की. उस रात मैंने कृतिका की गांड दो बार चोदी. चार बार आगे से चुदाई की, मतलब हम दोनों ने रात में कुल 6 बार चुदाई की. मैं सुबह 5 बजे अंधेरे में उसके घर से निकला. इसके बाद हम दोनों ने कई बार सेक्स किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds