May 21, 2024
Nayi Girlfriend ki Bur ki Chudai

Readxstories.com के पाठकों को मेरा नमस्कार आज की कहानी नई गर्लफ्रेंड की बुर की चुदाई करके गर्लफ्रेंड की सील तोड़ दी में आपका स्वागत है यह कहानी एक सच्ची घटना पर आधारित कहानी हैबस इसमें पत्रों के नाम चेंज करे हुए हैं

नमस्ते, मैं पंजाब से हूं और मैं ज्यादातर नोएडा में रहता हूं। मैं अपना परिचय दे दूं. मेरा नाम मोहित है, और मैं 22 साल का हूं। थोड़ा सा स्वस्थ हूं, लेकिन डीके नियमित जिम पर्सन हूं। मेरा लंड 6 इंच लंबा है, और 2 इंच मोटा है। किसी भी महिला या लड़की को खुश कर सकता हूँ मैं।

मेरी गर्लफ्रेंड का नाम टीना है, और उसके बारे में आप आगे की कहानी पढ़ेंगे। हम एक कपल हैं, जो कहानी लिख रहे हैं अपनी। हम थ्रीसम हां कपल स्वैप के लिए पार्टनर्स भी ढूंढ रहे हैं। अगर कोई चाहता है तो जरूर मेल करें।

पहचान उजागर नहीं होगी. पहले सब चर्चा होगी और उसके बाद योजना बनाई जाएगी। कृपया मेल करें. . और अगर कोई अकेली लड़की भी इंटरेस्टेड हो, तो जरूर मेल करें।

ये मेरी पहली कहानी है. अगर कोई गलती हो गई तो माफ़ कर देना। अब चलते हैं, और कहानी का आनंद लेते हैं। लड़के अपना लंड हाथ में लेके हिलाने के लिए तैयार हो जाएं, और लड़कियां अपनी चूत में उंगली करने के लिए तैयार हो जाएं।

पहले मैं अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में बता दूं। तो वो मेरे से एक साल बड़ी है, मतलब वो 23 की है। वो हेल्दी है और उसका फिगर 34-30-36 होगा। वो एक दम गोरी और जवान है. हम दोनों एक-दूसरे को एक साल से जानते हैं, और अभी लिव-इन में रहते हैं। पर ये कहानी हमारी पहली सेक्स की है।

जब हम पहली बार मिले, हमने अपना पूरा दिन अच्छे से प्लान किया था, कि हम सुबह 11 बजे एलांते मॉल में मिलेंगे, जो पंजाब का सबसे बड़ा मॉल है। उसके बाद हमने सुबह 12 बजे का शो बुक किया था मूवी का। तो हम अपनी सीटों पर जाके बैठ जाते हैं।

सुबह-सुबह थिएटर में ज्यादा लोग भी नहीं होते, और हमने वैसी भी रिक्लाइनर सीटें ली थीं, तो मूवी स्टार्ट होती ही मैं धीरे से उसका हाथ पकड़ता हूं। फिर धीरे-धीरे हम क्लोज हो जाते हैं और हमारी स्मूच शुरू हो जाती है। मैं पागलों की तरह उसके होंठ चूस रहा हूँ।

फिर मैं धीरे से एक हाथ उसके टॉप में डालता हूं, और उसके नरम-मुलायम स्तन दबाता हूं। उस समय उसका साइज सिर्फ 32″ हुआ करता था। वो आगे करने के लिए मन करती है और बोलती है-

वो: साबर करो, रात का इंतज़ार करो।

फिर फिल्म ख़त्म होने के बाद हम 2 बजे लंच के लिए जाते हैं, जहां पे हमने अच्छे से लंच किया। हम 3 बजे वहां से निकल जाते हैं कसौली के लिए। पंजाब से कसौली 1.5 घंटे से 2 घंटे का रास्ता है, जहां पर हमारा होटल जकूज़ी के साथ बुक था। क्योंकि मुझे जकूज़ी में सेक्स करना बहुत पसंद है।

पहले सेक्स को स्पेशल बनाने के लिए जकूज़ी वाला रूम करवाया था। हम पहले होटल में चेक-इन करते हैं, और फिर सामान रख के मॉल रोड घूमने निकल जाते हैं। फिर वहां से हम 8 बजे वापस होटल आ जाते हैं, और साथ में वोदका भी ले आते हैं। उसके बाद हम रूम में एंटर करते हैं, एक दूसरे को पागलों की तरह किस करने लगते हैं।

लगतार एक-दूसरे को 15 मिनट तक किस और गर्दन पर स्मूच करने के बाद, मुख्य बिस्तर के कोने पर बैठा हूं, और वो मेरी गोदी में बैठी है। फिर मैं किस करता-करते उसका टॉप उतार देता हूं, और फिर ब्रा के ऊपर से ही उसके निपल्स को काटने लगता हूं। वो पागल की तरह बस कराहती है “आह आह, प्लीज चूस लो इन्हें दर्द से”।

फिर मैं उसकी ब्रा भी उतार देता हूं, और उसके स्तन एक-दम से उछल कर बाहर आते हैं, और मैं उन्हें फिर से चुनने लगता हूं। वो मेरी टी-शर्ट और बनियान उतार देती है, और मेरी गर्दन पर किस करने लगती है। उसके बाद वो मुझे बिस्तर पर लिटा कर मेरे ऊपर आती है।

वो मेरी साड़ी बॉडी पर किस करने लगती है, और मेरा लंड बहुत हार्ड हो जाता है। फिर मुख्य उपयोग अपना नीचे करता हूं, और ऊपर से चुंबन करता-करता उसकी पैंट भी उतार देता हूं, और उसकी काली पैंटी भी। मैं उसकी योनि में उंगली डाल के फिंगरिंग शुरू करता हूं, और जीभ से भी चाटना शुरू करता हूं।

उसके मुँह से बस “आह बेबी मुझे चूसो, प्लीज़ मुझे ज़ोर से चूसो। मैं सब तुम्हारा हूँ” निकल रहा है। फिर 10 मिनट चाटने के बाद उसकी बॉडी टाइट हो जाती है, और वो झड़ जाती है। मैं उसका नमकीन रस पी जाता हूं। फिर वो मुझे साइड में लाकर मेरी जींस उतार देती है, और मेरा अंडरवियर भी उतार देती है।

फिर वो हाथ में ले कर मेरे लौड़े को हिलाती है, और फिर मुँह में लेके चुनने लगती है। शुरू-शुरू में थोड़ी दिक्कत आती है, पर फिर वो अच्छे से चुनने लगती है। 5 मिनट की ब्लोजॉब के बाद मुख्य उपयोग लिता देता हूं, और सीधा उसके टैंगो के बीच आके बैठ जाता हूं। मैं अपने लंड से योनि पर रगड़ता हूँ।

वो पागल की तरह बस विलाप करती रहती है, जिसका मेरा जोश और बढ़ जाता है, और मैं बिना इंतज़ार करे एक धक्का लगाता हूं। मेरा आधा लोडा उसके अंदर चला जाता है, जिसकी उसकी चीख निकल जाती है। फिर मैं 2 मिनट रुका हूं, और धीरे-धीरे धक्के लगाना शुरू करता हूं। उसके मुँह से बस आह आह निकलता है, और 5 मिनट ऐसे ही धक्के लगाने के बाद हम डॉगी स्टाइल में आ जाते हैं।

मैं पीछे से धक्के लगाना शुरू करता हूं, और 2 मिनट बाद ही वो झड़ जाती है। फिर वो कहती है कि और हिम्मत नहीं है। मैं फिर लेट जाता हूं, और वो मुझे ब्लोजॉब देना शुरू करती है। मैं 2 मिनट बाद झड़ जाता हूं, और सारा माल उसके स्तनों पर गिरा देता हूं।
फिर वो वॉशरूम से साफ करके आती है, और हम दोनों साथ में लेते-लेते कब सो जाते हैं, हमें पता ही नहीं चलता।

इसके आगे की कहानी मैं आपको अगले हिस्से में बताऊंगा, और मैं उम्मीद करता हूं कि आपको मेरी कहानी पसंद आएगी। तो जरूर मेल करें अपने फीडबैक के साथ। हमें बहुत ख़ुशी होगी आपकी प्रतिक्रिया पढ़ कर।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds