July 9, 2024
paison ke badle mein bur chudai

हेलो दोस्तों, मेरा नाम तुषार है। मैं गुरुग्राम का रहने वाला हूं। मेरी हाइट 5’11” है और मैं काफी हैंडसम हूं। उमर मेरी 27 साल है, और 2 साल पहले मेरी शादी हो चुकी है। ये कहानी मेरी और मेरी बहन की चुदाई की है। तो चलिए शुरू करते हैं।

आज की कहानी में पड़े कैसे पैसो के बदले बहन की बुर चुदाई की और कामवासना को शांत किया। ब्याज के बदले में दी ब्लोजॉब और असल के बदले में दी चूत।

मेरी फैमिली में मैं, मेरी बीवी, मेरा बेटा, मम्मी, पापा और एक छोटी बहन रहती हैं। मेरी बहन मुझसे काफ़ी साल छोटी है। वो सिर्फ 20 साल की है, और कॉलेज में फाइनल ईयर मेरी पढ़ती है। मेरी बहन का नाम तमन्ना है।

तमन्ना जब से जवान हुई है, उस पर ख़ूबसूरती का रंग चढ़ा है। उसका रंग गोरा है, 34-28-36 का टाइट फिगर है। हाइट उसकी 5’6″ है. अब आप ही बताएं कि जब बहन ऐसी सेक्सी हो, तो किस भाई की नजर उस पर नहीं पड़ेगी। हमारे पर से वो हमेशा जींस टी-शर्ट या लेगिंग्स सूट पहनती है।

जींस और लेगिंग में उसकी टाइट गांड और टी-शर्ट और टाइट शर्ट में उसके स्तन देख-देख कर मेरे मन में भी उसके लिए काफी हवस भारी हुई थी। लेकिन वो मेरी बहन थी, तो मैं कुछ नहीं कर सकता था। हा उसके बारे में सोच कर मैं अपनी बीवी की तगड़ी चुदाई जरूर करता था।

लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हुआ, कि मुझे अपनी खूबसूरत बहन के सेक्सी जिस्म को प्यार करना चाहिए, और उसको चोदने का मौका मिल गया। उस दिन मैंने अपनी बहन की पलंग-तोड़ चुदाई की, और उसको लड़की से औरत बना दिया।

तो हुआ यू, कि तमन्ना की किसी दोस्त की बर्थडे पार्टी थी। उस दिन वो जिद करने लगी कि वो कार लेके जाएगी, क्योंकि उसकी सारी दोस्तों की कार लेके आने वाली थी। पापा ने उसको मना किया, क्योंकि उनको डर था, कहीं उसका एक्सीडेंट न हो जाए। लेकिन उसके बार-बार अनुरोध करने पर वो मान गए।
तो हुआ यू, कि तमन्ना की किसी दोस्त की बर्थडे पार्टी थी। उस दिन वो जिद करने लगी कि वो कार लेके जाएगी, क्योंकि उसकी सारी दोस्तों की कार लेके आने वाली थी। पापा ने उसको मना किया, क्योंकि उनको डर था, कहीं उसका एक्सीडेंट न हो जाए। लेकिन उसके बार-बार अनुरोध करने पर वो मान गए।

तमन्ना ने हमें लाल रंग की वनपीस फ्रॉक पहनी थी। उसकी फ्रॉक नीचे से उसकी घुटनो तक थी, और उसकी गोरी तांगे दिख रही थी। फिर वो गाड़ी लेके चली गई. वो शाम के 7 बजे घर से निकली थी। उन दिनों मेरी बीवी भी अपनी मायके गई हुई थी।

रात के 9 बज चुके थे, और मैं डिनर करके अपने कमरे में बैठा मोबाइल चला रहा था। तभी मुझे तमन्ना का कॉल आया।

मैं: हा तमन्ना बोलो.

तमन्ना: भैया एक समस्या हो गई है।

मैं: क्या हो गया.

तमन्ना: मुझसे किसी का एक्सीडेंट हो गया है।

मैं: कैसे? कहां हो तुम?

तमन्ना: भैया मैं पुलिस स्टेशन में हूं. आप प्लीज आ जाओ. और घर पर किसी को कुछ मत बताना।

मैं फिर जल्दी से तैयार हुआ, और पुलिस स्टेशन के लिए निकल गया। वाहा जाके पता चला एक होटल के वेटर को उसने गाड़ी से ठोक दिया था। उसको ज्यादा चोट तो नहीं आई थी, बस जोड़ी में फ्रैक्चर था। फिर मैंने इंस्पेक्टर से बात की तो उसने कहा कि अगर वह आदमी शिकायत नहीं करता, तो वह तमन्ना को छोड़ देंगे।

फिर मैंने उस आदमी से बात की, लेकिन वो मान नहीं रहा था। मैं समझ गया कि वो पैसे चाहता था। फिर मैंने उससे सीधे-सीधे पूछा, तो उसने 30000 रुपये मांगे। ये बात मैंने तमन्ना को बताई तो वो बोली-

तमन्ना: मेरे पास इतने पैसे नहीं हैं। मेरे पास सिर्फ 5,000 है.

मैं पापा को फोन करो, और मांग लो।

तमन्ना: भैया पापा को फोन किया तो वो मुझे जान से मार देंगे। मेरा कॉलेज और बाहर जाना बंद कर देंगे। प्लीज आप पैसे दे दो, मैं आपको वापस कर दूंगी।

मैं: चल ठीक है.

फिर मैंने पैसे दिए और उसको वहां से ले आया। रास्ते में मैंने उसे कहा-

मैं: देख तमन्ना प्यार अपनी जगह है, और हिसाब अपनी जगह। मैने पैसे तो दे दिये। लेकिन ये पैसे मुझे 2 दिन में वापस चाहिए।

तमन्ना: भैया 2 दिन में मैं कहां से लौटोगी पैसे?

मैं: ये मुझे नहीं पता. 2 दिन में पैसे नहीं मिले, तो मैं पापा को बोल कर लूंगा।

ये सुन कर तमन्ना की गांड फट गई. अगले दिन मुझे पैसे नहीं दिए उसने, और अब बस एक और दिन बचा था। फिर आखिरी दिन रात के 9 बजे वो मेरे कमरे में आई। उसने डेनिम शॉर्ट्स और ऑरेंज कलर का लूज़ टॉप पहना था। वो आके बोली-

तमन्ना: भैया मुझे कुछ और टाइम चाहिए।

मैं: मैं पापा को बताने जा रहा हूँ।

तमन्ना: नहीं भैया प्लीज़ ऐसा मत करो।

मैं जाने लगा, तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया। मैं अपना हाथ खींचने लगा, तो उसने मुझे रोकने के लिए अपनी बाहों में भर लिया। जैसे ही उसने मुझे बाहों में भरा, उसके कैसे हुए स्तन मेरी छाती में दब गए। उसके स्तनों को छूने से मैं एक दम से उत्तेजित हो गया, और उसने कर दिया, जो आज तक सिर्फ ख्यालों में किया था।

मैं अपना हाथ उसकी गांड पर ले गया, और उसका गाड़ दबा दिया। मेरे ऐसा करते ही वो मुझसे अलग हो गई। वो मुझसे गुस्से से बोली-

तमन्ना: भाई ये क्या हरकत थी.

मैं: अब ऐसे चिपकोगी, तो ऐसी ही हरकत होगी।

तमन्ना: मैं आपकी बहन हूं, आप मेरे साथ ऐसा नहीं कर सकते।

मैं: मेरा दिल किया, तो मैंने कर दिया। आजा फिर से करते हैं.

ये बोल कर मैंने उसको फिर से अपनी बाहों में भर लिया। वो पीछे हट गई, और बोली-

तमन्ना: नहीं भैया, मुझे कुछ नहीं करना। मैं जा रही हूं यहां से.

मैं: जाना है तो पैसे देके जाओ। और अगर पैसे नहीं देने तो मेरी प्यास मिटा दो।

तमन्ना: छी, आप ऐसा सोचते हो मेरे बारे में?

मैं: अब तुम इतनी सेक्सी हो, तो ऐसी सोच अपने आप आ जाती है।

तमन्ना: मैं आपके साथ ऐसा कुछ भी नहीं करूंगी। फिर चाहे जो हो जाए.

मैं: चलो ठीक है. मैं कोई ज़बरदस्ती नहीं करुंगा तुम्हारे साथ। उसमे मजा भी नहीं है. मैं बस अभी जाऊंगा, और पापा को तुम्हारे एक्सीडेंट वाले कांड के बारे में बताऊंगा। काम से कम मुझे पैसे तो मिलेंगे।

तमन्ना: नहीं भैया, प्लीज ऐसा मत करना।

मै: देखो तुम्हारे पास दो विकल्प हैं। या तो तुम मेरे साथ वो करो जो मैं चाहता हूं। हां मैं पापा के पास जाउ, और सब कुछ बता दूं। अब तुम फैसला करो.

अजीब कशमकश में फंस गई थी मेरी बहन। फिर उसने क्या जवाब दिया, और आगे क्या हुआ, ये पैसो के बदले बहन की बुर चुदाई की कहानी के अगले भाग में पता चलेगा। अगर आपको यहां तक की कहानी पसंद आई है तो इसे अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करें। कहानी पढ़ने के लिए आपका धन्यवाद।

अगला भाग पढ़े:- पैसो के बदले बहन की चुदाई-2 (अंतिम भाग)

अगर आपको ये कहानी अच्छी लगी है? लेखक को खुश करने के लिए अपना फीडबैक जरूर दें, कमेंट सेक्शन में जरूर लिखें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escort

This will close in 0 seconds