May 21, 2024
Sexy Teacher ki Gand Chudai

Sexy Teacher ki Gand Chudai की मसूरी के होटल में! मैम मुझे अपने साथ मसूरी घुमाने ले गयी थी. हमने मसूरी में सेक्स का भरपूर मजा लिया.

दोस्तो, मैं रोहित आपका पुन: स्वागत करता हूँ. आप मेरी Teacher ki Gand Chudai Part 1 का मजा लिख रहा था.
कहानी के पिछले भाग
कॉलेज टीचर के साथ मसूरी टूअर
में अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने मेम से कहा कि जो ड्रेस खरीदी हैं, उनमें से एक को पहन कर दिखाओ. तो वे बाथरूम में ड्रेस बदलने चली गईं.

अब आगे Teacher ki Gand Chudai की कहानी में:

जब वो ड्रेस चेंज करके बाहर आई तो मेरी नज़र उस पर से हट ही नहीं रही थी.
मैं सोच रहा था कि मालिक ने पूरी तसल्ली से मेरा माल तराश कर मेरे लिए बनाया है.

वो मुझसे बोली- क्या सोच रहे हो?
मैंने कहा- बात बस इतनी सी है कि मेरी किस्मत खुल गई … मैं तुमसे मिल गया. भगवान ने भी तुम्हें पूरी तसल्ली से मेरे लिए बनाया है.

वो बोली- लाइन तो अच्छी मारते हो, फिर अब तक कोई गर्लफ्रेंड क्यों नहीं बनाई?
मैं उठ कर उसके पास गया और बोला- अगर गर्लफ्रेंड बनाता तो तुम कहां मिलते, फिर तो गर्लफ्रेंड के चक्कर में ही पड़ा रहता!

वो बोली- हां ये तो सही है. अब बताओ मैं कैसी लग रही हूँ… और यह बिल्कुल भी मज़ाक नहीं है!
मैंने कहा- बात सिर्फ इतनी है कि दिल गले में अटका हुआ है.

वो बोली- कोई बात नहीं डार्लिंग, रात को मैं तुम्हारा कलेजा भी ठंडा कर दूंगी. अभी मुझे बहुत भूख लगी है, चलो बाहर खाना खाने चलते हैं।
मैंने कहा- हां बिल्कुल.. आख़िर मुझे बाहर जाकर सबको जलाना है क्योंकि मेरे पास इतनी शानदार संपत्ति है. ताकि हर कोई ये सोचे कि आखिर उसे ये मस्त माल कहां से मिला.

वो बोली- चल बदमाश … मैं कोई आइटम हूं क्या?
हम दोनों हंसने लगे.

फिर हम डिनर के लिए पास के एक रेस्टोरेंट में आ गए और वहां डिनर करने के बाद हम टहलने के लिए निकल पड़े।

हम रास्ते में हाथ में हाथ डाले चल रहे थे.
हम दोनों ने वहां खूब तस्वीरें भी लीं.

फिर हम 10 बजे वापस रूम पर आ गये.

रोशनी मैम आईं और बिस्तर पर सीधी लेट गईं.
मैं भी तुरंत उसके ऊपर लेट गया और उसे गुदगुदी करने लगा जिससे वो जोर जोर से हंसने लगी.

कुछ ही देर में वो बिन पानी मछली की तरह तड़पने लगी और हम दोनों एक दूसरे को परेशान करते हुए कब सेक्स में डूब गये, हमें पता ही नहीं चला.

हमारे होंठ एक दूसरे से मिल गये.
उसके होंठों को चूसने के बाद मैं उसकी गर्दन पर चूमने लगा.

रोशनी मैम की सांसें भारी होने लगीं और उनके अंदर सेक्स की आग भड़क उठी.
वह मुझे गले लगा रही थी और मुझे चूम रही थी और मेरा हाथ पकड़कर मुझे अपने शरीर पर घुमा रही थी।

मैं उनको किस करते हुए अलग हो गया क्योंकि मुझे किसी का कॉल आया था.
वो उठकर खड़ी हो गयी और मैं फोन पर बात करने लगा.

रोशनी मैडम मेरे सामने खड़ी हो गईं और मुझे अपनी अदाएं दिखाने लगीं.
वह मुझे जानबूझकर परेशान करने लगी क्योंकि मैं फोन पर बात कर रहा था।’

घर से फोन आया था, बात नहीं करता तो उन्हें शक होता।
रोशनी मैडम ने अपनी ड्रेस की ज़िप खोल कर उसे एक कंधे से नीचे खींच लिया और कातिलाना निगाहों से मेरी तरफ देखने लगीं.

उन्होंने टीवी पर गाने भी चलाए.

अब मुझसे भी खुद पर कंट्रोल नहीं हो रहा था तो मैंने तुरंत फोन काट दिया और उसकी तरफ देखा.

उसने मुझे इशारे से अपनी तरफ बुलाया और मैं उठ कर उसके पास आ गया.
वो मेरे साथ डांस करने लगी और मैं अपने हाथों से उसके पूरे शरीर को सहलाने लगा.

मैं उसे चूमने लगा.
उसके आधे नंगे कंधों और छाती को चूमने लगा… अपने हाथों से उसके स्तनों को दबाने लगा।
उन्होंने मेरी शर्ट उतार दी और जींस भी उतारने लगे.

फिर उसने मुझे बिस्तर पर धकेल दिया और अपनी ड्रेस उतार दी और मेरे ऊपर आ गयी.

मेरा लंड पूरे जोश में था. अंडरवियर से बाहर झांकते हुए.

मेरे ऊपर आते ही वो रोशनी मेम की चूत में घुसने को तैयार था.

मैं रोशनी मैम की Moti Gand को मारने के बारे में भी सोच रहा था, लेकिन मुझे लगा कि मैं उसे बाद में मार दूंगा। चलो अब चूत का मजा लेते हैं.

मैंने उसे चूमते हुए उसकी ब्रा निकाल दी और उसके मम्मों को मुँह में लेकर चूसने लगा, उसके मम्मों पर काटने लगा।

फिर अपनी जीभ उसके पेट पर घुमाते हुए उसकी चूत पर आ गया और उसकी पैंटी निकाल कर उसकी चूत को चाटने लगा.
इससे वो तड़प उठी और मेरे मुँह को अपनी चूत पर दबाने लगी.

कुछ ही मिनटों में वे झड़ गये.

मैंने अपना अंडरवियर उतार दिया और फिर वो मेरे ऊपर आकर मेरे लंड को चूमने लगी, उस पर अपनी जीभ फिराने लगी, जिससे मैं और भी उत्तेजित हो रहा था.

फिर वो मेरा लंड चूसने लगी.
उसने 10-12 मिनट तक मेरा लंड चूसा.

वो बोली- जानू, हम कंडोम लाना भूल गये!
मैंने उससे कहा- ओउ… जान, तुम टेंशन क्यों लेती हो, मैं यहीं हूँ… बस मेरा वो बैग उठाओ!

वो मेरा बैग ले आई और मैंने उसमें से सारे कंडोम निकाल कर उसके सामने रख दिए.
मैंने कहा- तुम्हें जो भी फ्लेवर इस्तेमाल करना हो, कर लो!

इतने सारे कंडोम देख कर वो खुश हो गयी और बोली- अब मेरी सालों की प्यास पूरी तरह से बुझ जायेगी.
उसने एक चॉकलेट फ्लेवर का कंडोम लिया और मेरे लिंग पर लगा दिया।

मैंने उसे अपने नीचे लिटाया और अपना लंड उसकी चूत में डाल दिया.
वो थोड़ा उछली और पूरा लंड खा गयी.

उसने हल्की सी ‘आआह आआह उउउउह…’ की आवाज निकालते हुए लिंग को अन्दर ले लिया.

मैंने उसे धक्का देना शुरू कर दिया और कुछ देर बाद वह अकड़ गई और उत्तेजित हो गई।

फिर मैं रुका और अपना लंड बाहर निकाला तो देखा कि उसकी Tight Chut से हल्का सा पानी निकल रहा था.

वो बोली- क्या हुआ बाबू?
मैंने कहा- मुझे डॉगी स्टाइल में करना है.

वो अचानक खड़ी हो गई और मेरे सामने झुक कर बोली- मेरा भी मन कर रहा था डॉगी स्टाइल में करने का… और मैं तुम्हें बताने ही वाली थी लेकिन तुमने मेरी भावनाएं व्यक्त कर दीं.

मैंने अपना लंड उसकी चूत पर सेट किया और एक ही धक्के में पूरा लंड अन्दर डाल दिया.
जिससे वो हल्की सी चिल्लाई लेकिन मैं बिना ध्यान दिए अपना लंड उसकी चूत में पेलता रहा.. और तेज़ तेज़ धक्के मारता रहा।

वो हर धक्के के साथ आह आह की आवाज निकालती थी.
लेकिन आज मुझ पर कुछ अलग करने का जुनून सवार था… मैंने उनकी आवाज़ों पर ध्यान ही नहीं दिया; बस उन्हें तेजी से पेलता रहा.

कुछ देर बाद रोशनी मैडम और मैं एक साथ स्खलित हो गये।

मैं उसके ऊपर लेट गया और उसकी कमर पर हाथ फिराने लगा.

जब मैंने अपना लंड बाहर निकाला तो उसने मुझे जोर से गले लगा लिया और बोली- आज तो मेरे प्यार ने मेरी जान ही निकाल दी.

उसने मुझे गले लगा लिया.
मैंने उसे चूमा और हम वैसे ही लेटे रहे।

उस रात हम दोनों ने 5 बार और Hardcore Sex किया क्योंकि उसे थोड़ा दर्द हो रहा था.
फिर हम सुबह उठे और साथ में नहाने गये.

मैंने शॉवर चालू किया और हम दोनों भीग गये; उन्होंने एक दूसरे को गले लगाया और चूमने लगे.
हम दोनों ने एक दूसरे के शरीर पर साबुन लगाया.

वो इठलाते हुए बोली- क्या मुझे अपनी चूत पर साबुन लगाने के लिए वेटर बुलाना पड़ेगा?
मैं हंसा और उसकी चूत पर साबुन लगा कर रगड़ दिया.

उसने मेरे लंड पर भी अच्छे से साबुन लगा दिया.

मैं उसकी टांगें खोलते हुए थोड़ा नीचे हुआ और अपना लंड उसकी Pink Chut पर रखा और धीरे से अन्दर डाल दिया.

उसे बहुत मजा आया और ऐसे ही 5-7 धक्के देने के बाद मैंने लंड बाहर निकाल लिया.

शॉवर चलाने के बाद मैंने उसे बाथरूम में खड़ा कर दिया और पीछे से उसकी Pussy Licking लगा.

फिर जब मैं गर्भवती होने वाली थी तो मैंने उन्हें बताया।
वो रुकी और लंड बाहर निकालने को बोली- मुझे अब इसका रस पीना है.

मैं सीधा खड़ा हो गया और वो बैठ कर आराम से मेरा लंड चूसने लगी.
कुछ ही मिनट में उसका मुँह मेरे वीर्य से भर गया और वो सारा वीर्य पी गयी.

मैम बोलीं- ये तो बहुत अच्छा जूस है.

हम दोनों बाथरूम से बाहर आये और घूमने के लिए तैयार हो गये.

आज उसने शॉर्ट्स और क्रॉप टॉप पहना हुआ था जिसमें सिर्फ उसके Big Boobs ढके हुए थे.
फिर हम दोनों ने नाश्ता किया और बाहर घूमने निकल गये.
हम वहां खूब मजे कर रहे थे.

शाम को हमने वहां से ढेर सारी शॉपिंग की और कमरे पर आ गये.
आज उसने मेरे लिए भी बहुत सारा सामान खरीदा था.

कमरे में आकर हम बिस्तर पर लेट गए और मैंने टीवी चालू कर दिया.

एक रोमांटिक मूवी लगा दी और जल्द ही हमारा खेल फिर से शुरू हो गया.

हम दोनों फिर से गर्म हो गये और एक दूसरे को चूमने लगे.
मैंने जल्दी से उसका टॉप और अपनी शर्ट उतार दी और ब्रा के ऊपर से ही उसके मम्मे चूसने लगा।

मैंने अपनी जीन्स उतार दी और उसका शॉर्ट्स भी.
वो अपने लंड को उसकी पैंटी के ऊपर से ही रगड़ने लगा, जिससे उसे मजा भी आ रहा था और वो बेचैन भी हो रही थी.

तभी रोशनी मैम का फ़ोन बजा.
पहले तो उसने नजरअंदाज किया और हम एक-दूसरे के शरीर को मसलते रहे।

लेकिन तभी उसका फोन दोबारा बजा तो बोली- पता नहीं कौन कुतिया है.. जो परेशान है। हमें शांति से आनंद भी नहीं लेने देता.
मैंने कहा- पहले देख लो कि कॉल किसकी है?

वो उठकर टेबल के पास गई और फोन उठाने के लिए झुकी तो मेरा ध्यान उसकी गांड पर आया.

ये कॉल कॉलेज से थी किसी जरूरी फाइल की वजह से.
फिर वो नीचे झुकी और कुछ लिखने लगी ताकि मैं उसकी गांड की दरार देख सकूं.

मेरा मन बेचैन हो रहा था.
मैं उठ कर उसके पीछे खड़ा हो गया.

वो इशारे से बोली- एक मिनट.
लेकिन मैं वैसे ही खड़ा रहा… और जैसे ही फोन कट हुआ, उसे वैसे ही पीछे से पकड़ कर उसकी गांड पर लंड रगड़ने लगा.

इससे उसे समझ आ गया था कि मैं उसकी गांड का दीवाना हूं और उसे ले लूंगा.

वो मुझसे बोली- क्या हुआ रोहित?

मैंने फिर से उसकी गांड को अपने लंड से रगड़ा और बोला- क्या तुम्हें नहीं पता कि क्या हुआ? एक तो आपकी गांड इतनी मस्त है… और अब पूछ रहे हो कि क्या हुआ?

वो नकली नखरे में बोली- नहीं, आज नहीं.. फिर कभी. मैं तुम्हारा हूँ मैं कहीं भागने वाली नहीं हूँ।
मैंने कहा- तो फिर आज क्यों नहीं?
वो बोली- बस नहीं.. आज नहीं, आज मेरे पास इसके लिए सामान नहीं है.

मैंने कहा- कल करो तो आज करो… और आज करो तो अभी करो. मैं सारा इंतज़ाम लेकर आया हूँ बेबी.

ये कहते हुए मैंने उसे पीछे से उठाकर बिस्तर पर पटक दिया और उसे पागलों की तरह चूमने लगा.
मैंने उसकी ब्रा भी उतार दी और उसके मम्मे चूसते हुए नीचे आ गया.
उसकी पैंटी और अंडरवियर उतार दिया और सबसे पहले उसकी चूत पर हाथ फेरा.

उनकी चूत में लंड डालो, ताकि रोशनी मैम को लगे कि आज उनकी गांड बच गयी.

लेकिन 8-9 बार मारने के बाद मैंने कहा- चलो Doggy स्टाइल में करते हैं.

मैंने उसे घोड़ी बनाया और धीरे से अपना लंड उसकी चूत में डाला और 6-8 धक्कों के बाद रुक गया.

मैंने कहा- आज मैं तुम्हारी Gand Chudai चाहता हूं.
मैं जिद करने लगा और वो मान गयी.

मैंने अपने साथ लाए बैग से बेबी ऑयल लिया।
मैंने उसकी गांड पर अच्छे से बेबी ऑयल लगा दिया.

थोड़ा सा तेल अपने लिंग पर भी लगा लिया.
वैसे तो मेरा लंड उसकी चूत में जाकर गीला हो गया था, लेकिन फिर भी तेल लगा लिया.
अब मैंने उसकी गांड पर लंड लगाया और बड़े प्यार से गांड के छेद में लंड दबाने लगा.

मेरा लंड अन्दर नहीं जा रहा था इसलिए काफी मोटा है.

मैंने थोड़ा और तेल लगाया, तो वो बोलीं- ये काम नहीं करेगा, ये बहुत गाढ़ा है.

मैंने बिना कुछ कहे फिर से अपना लंड दबाना शुरू कर दिया.
थोड़ा जोर लगाने पर मेरा छोटा सा लंड अन्दर चला गया, जिससे उसकी चीख निकल गई ‘आआ फट गई…’

मैं थोड़ा रुका और फिर हल्के से हिलने लगा और बेबी ऑयल की बोतल से गांड के छेद में तेल टपकाने लगा.
इससे मेरा लंड उसकी गांड में थोड़ा आगे पीछे होने लगा.

वो ‘आआह आआह…’ की आवाजें निकालने लगी.

मैंने धीरे से थोड़ा और जोर लगाया और थोड़ा और जोर लगाकर अपना लंड उसकी गांड में पेल दिया.

वो जोर से चिल्लाई और मैंने उसे चूमना शुरू कर दिया.
जब उसका दर्द थोड़ा कम हुआ तो मैंने धक्के लगाना शुरू कर दिया.

वो ‘आआआह उह…’ की आवाजें निकालती रही और कुछ देर बाद मैं उसकी गांड में ही झाड़ गया. 
फिर लेडी टीचर की गांड चोदने के बाद मैं उनके बगल में लेट गया और सो गया.

अगले 3 दिन तक हम दोनों ने ऐसे ही मजे किए और घर आ गए।

अब मेरा खर्चा बढ़ गया था, ये बात सब समझने लगे थे.
इसलिए मैंने घर पर ये बहाना बनाया कि मैं कुछ बच्चों को होम ट्यूशन पढ़ाता हूं.

लेकिन मैं शाम को रोशनी मैम के पास जाता था और उनके बेटे को पढ़ाने लगता था.
इससे दो फायदे हुए.
एक तो उनके बेटे को भी मेरे घर आने का मकसद पता था और दूसरे मोहल्ले के लोगों ने भी कुछ नहीं कहा.

ऐसा भी हुआ कि अब मैं जो भी खर्च करता या कुछ चीजें लाता या रोशनी मैम मुझे देतीं, मेरे परिवार वाले सोचते कि मैं बच्चों को पढ़ाकर कमाता हूं; उसी से मैं ये खर्च उठा रहा हूं.’

रोशनी मैडम हर महीने मेरे खाते में अच्छी खासी रकम जमा करती थीं और मुझ पर अलग से खर्च भी करती थीं।

अब मैंने भी अपनी पढ़ाई पूरी कर ली है और सरकारी नौकरी की तैयारी कर ली है।

इसका खर्चा रोशनी मैडम ने उठाया और अब मैं अच्छी नौकरी कर रही हूं.
मैं हर महीने रोशनी मैडम के पास जाता हूं और वह भी एक-दो दिन के लिए मेरे पास आती हैं।

वह अब भी मेरा अच्छे से ख्याल रख रही है.’
रोशनी मैडम मेरे लिए सिर्फ एक टीचर या मेरे साथ सेक्स करने वाली महिला नहीं हैं बल्कि वो मेरी पत्नी की तरह मेरा पूरा ख्याल रखती हैं. वह मुझे मेरी हर जरूरत और मेरी वित्तीय जरूरतों के बारे में सब कुछ समझाती है। वह मेरा पैसा भी सही जगह निवेश करती है।’

उनकी वजह से ही मुझे इतनी अच्छी जिंदगी मिली है।’
धन्यवाद
आप मुझे मेल करके जरूर बताएं कि आपको मेरी Sexy Teacher ki Gand Chudai की कहानी कैसी लगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds