May 21, 2024
अनजान लड़के से गांड मरवाई

हेलो, दोस्तों, मैं आपकी पिया, आज फिर आपको एक गे सेक्स स्टोरी सुनाने आई हूँ जिसका नाम "ट्रैन में किसी अनजान लड़के से गांड मरवाई" है।

हेलो, दोस्तों, मैं आपकी पिया, आज फिर आपको एक गे सेक्स स्टोरी सुनाने आई हूँ जिसका नाम “ट्रैन में किसी अनजान लड़के से गांड मरवाई” है आगे की स्टोरी उस लड़के की ज़ुबानी।

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम साहिल सिंह है। मेरी उम्र 30 साल है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ। मैंने इस साइट पर बहुत सारी सेक्स कहानियाँ पढ़ी हैं।

सेक्स कहानी पढ़कर मुझे लगा कि मुझे भी अपना अनुभव शेयर करना चाहिए। अगर कोई गलती हो तो कृपया मुझे माफ़ कर दीजिये।

वैसे मैं शादीशुदा हूँ और मेरी पत्नी भी मुझसे बहुत खुश है। हमारी सेक्स लाइफ भी अच्छी है। करीब एक या दो दिन बाद हम सेक्स करते हैं।

हम दोनों एक दूसरे से संतुष्ट हैं। लेकिन न जाने क्यों अब भी मेरी एक अलग चाहत है… वो चाहत है मुझे लंड की… हाँ दोस्तों, मुझे लंड लेने की बहुत इच्छा है।

शादी से पहले मैंने अपने एक दोस्त के साथ समलैंगिक यौन संबंध बनाए थे। लेकिन शादी के बाद मैंने कभी ऐसा नहीं किया।

इच्छा तो बहुत है लेकिन बदनामी के डर से मैं किसी का लंड नहीं ले सकता। बस जब भी मेरा मन होता है तो मैं टॉयलेट जाकर अपनी उंगलियों से काम करता हूं।

लेकिन अभी कुछ दिन पहले मेरी लंड लेने की इच्छा पूरी हो गयी।

एक दिन मुझे ऑफिस के काम से मुंबई जाना पड़ा। मुझे 11 बजे तक वहां पहुंचना था। इसलिए मैंने सुबह 3:30 बजे वाली ट्रेन से जाना बेहतर समझा।

मैं सही समय पर स्टेशन पहुंच गया। गाड़ी आई और मैं जनरल डिब्बे में चढ़ गया। डिब्बे में बिल्कुल भी भीड़ नहीं थी। और लगभग सभी यात्री अपनी सीटों पर बैठे थे या आधे लेटे हुए सो रहे थे। (अनजान लड़के से गांड मरवाई)

मैंने सोचा कि उन्हें क्यों परेशान करना? उस दिन बहुत गर्मी थी। इसलिए मैं गेट के पास खड़ा हो गया। थोड़ी देर में गाड़ी चलने लगी।

गाड़ी ने कुछ गति पकड़ी ही थी कि मैंने देखा कि एक लड़का ट्रेन की ओर दौड़ रहा है।

उनके साथ एक भारी बैग भी था। डिब्बे के पास आकर उसने अपना बैग मुझे सौंप दिया।

मैंने देर न करते हुए उसका बैग अंदर रखा और उसका हाथ पकड़ने के लिए झट से अपना हाथ बाहर निकाला।

उसने मेरा हाथ पकड़ा और ट्रैन में चढ़ गया। अन्दर आकर वो मुझे धन्यवाद कहने लगा।

मैंने कहा- अरे ठीक है, ये तो मेरी ड्यूटी थी.. ठीक है।

वह अपनी सांसों पर नियंत्रण रखने लगा।

मैंने उससे पूछा- तुम्हें कहाँ जाना है?

तो उसने कहा- मुझे इंदौर जाना है।

फिर हम दोनों इधर उधर की बातें करने लगे। वह बहुत सुंदर लड़का था। उनकी हाइट करीब 5 फीट 7 इंच रही होगी। उन्हें देखकर लग रहा था कि वह जिम कर रहे होंगे।

क्योंकि उनका शरीर एकदम फिट दिख रहा था। लेकिन वह एक गरीब परिवार का लड़का था। मैंने यह अनुमान इसलिए लगाया क्योंकि उसके पास फोन नहीं था। मेरा अनुमान भी सही निकला। (अनजान लड़के से गांड मरवाई)

कुछ देर तक उसे देखने के बाद मेरी दबी हुई इच्छा फिर से जाग उठी और उसे देखकर मेरी इच्छा मुझे कांड करने के लिए उतावला करने लगी।

लेकिन मुझे चिंता थी कि अगर मैं इसे पूरा करने की कोशिश भी करूंगा तो काम कहां पूरा कर पाऊंगा?

एक ही जगह थी, टॉयलेट… टॉयलेट के बारे में सोच कर मेरी गांड का कीड़ा कांपने लगा। मेरे दिमाग़ की बत्ती गुल होने लगी।

मैं उससे बात करने लगा। पहले तो मैं उससे सामान्य रूप से बात करने लगा। लेकिन बाद में अपनी चतुराई से वह उसे सेक्सी बातों में ले आया।

बातें करते-करते मैं उससे उसकी सेक्स लाइफ के बारे में पूछने लगा। साथ ही अपना भी बताया। अभी सुबह के 4:15 बजे थे। सभी यात्री सो रहे थे।

मैंने मौका हाथ से जाने देना ठीक नहीं समझा और बातों ही बातों में उसे अपनी इच्छा बता दी।

वह वैसे ही भूखा था। उसने झट से मेरी गांड पकड़ कर दबा दी। उसकी इस हरकत से मुझे बहुत उत्तेजना महसूस हुई।

उसने कहा- मैं तैयार हूं, लेकिन हमें सेक्स कहां करना चाहिए।

मैंने कहा मेरे पास एक विचार है।

हॉट लड़कियां सस्ते रेट में इन जगह पर बुक करें :

उसने कहा- क्या?

मैंने कहा- मैं अभी टॉयलेट जा रहा हूँ, आप कुछ देर बाद टॉयलेट में आ जाना। क्योंकि अभी सब सो रहे थे इसलिए किसी को पता भी नहीं चलेगा। (अनजान लड़के से गांड मरवाई)

मेरी इस बात से वो खुश हो गये। इधर उधर देखते हुए मैं शौचालय में घुस गया। थोड़ी देर बाद वह भी टॉयलेट में आ गया।

मैंने उससे पूछा कि किसी ने उसे देखा या नहीं।

तो उसने कहा कि अभी तक किसी को पता नहीं चला।

अंदर आते ही उसने मुझे अपने साथ पकड़ लिया। मैं भी उसकी बांहों में आकर खुश हो गया।

सबसे पहले उसने मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया। मैं भी जोश में आकर उसका साथ देने लगी। पत्नी के साथ कई बार लिप किस किया।

लेकिन ये पहली बार था जब मैं किसी लड़के के साथ लिप किस कर रही थी। मुझे ये बहुत पसंद आ रहा था। वो मेरे होठों को चूमने के साथ-साथ मेरी गांड को भी मसल रहा था।

करीब 10 मिनट की लिप किस के बाद हम अलग हुए। मैं उसके सामने घुटनों के बल बैठ गया। उसने अपनी पैंट खोली और नीचे कर दी।

फिर जैसे ही उसने अपना अंडरवियर नीचे किया तो उसका 7 इंच का बड़ा लंड मेरे सामने आ गया।

मेरी तो जैसे रोम-रोम खिल उठी। मैंने उसका लंड पकड़ लिया और उसके सुपारे को चूम लिया। उसने मेरे मुँह में लंड देने का इशारा किया तो मैंने उसका लंड मुँह में भर लिया।

उसके लंड का स्वाद मुझे पागल कर रहा था। कभी मैं उसके गुलाबी सुपारे को अपनी जीभ से चाटती तो कभी उसका पूरा लंड अपने मुँह में ले लेता। (अनजान लड़के से गांड मरवाई)

वो भी आंखें बंद करके लंड चुसाई का मजा ले रहा था। करीब दस मिनट तक मैंने उसका लंड जी भर कर चूसा। मुझे ऐसा लग रहा था जैसे मैं सातवें आसमान पर पहुंच गया हूं।

फिर उसने मुझे खड़ा किया और मेरी पैंट खोल दी। मेरे लंड को थोड़ा हिलाने के बाद उसने मुझे घुमा दिया और मुझे झुकने को कहा।

मैं उनके सामने झुक गया। और मैंने खिड़की का सहारा ले लिया। उसने मेरी क्लिट फैलाए और मेरी गांड चाटने लगी।

कुछ देर तक मेरी गांड चाटने के बाद उसने अपना लंड मेरी गांड के फूल पर टिकाकर एक हल्का सा शॉट मारा।

लंड की चाहत में मैं अपनी गांड में दो-तीन उंगलियां डाल लेती थी.. जिससे मेरी गांड खुल जाती थी।

जैसे ही उसने हल्का सा शॉट मारा तो उसका सुपारा मेरी गांड में घुस गया।

एक तो उंगली डालने से मेरी गांड थोड़ी सी खुल गयी थी और दूसरे उसने चाट चाट कर उसे गीला कर दिया था।

इसलिए मुझे उसका लंड अंदर जाने में कोई दिक्कत नहीं हुई। साथ ही खूब मजा भी किया। ऐसा लगा जैसे कोई खुजली रोधी यंत्र अन्दर घुस गया हो।

फिर उसने एक और शॉट मारा और अपना पूरा लंड मेरे अन्दर डाल दिया। मैं तो मजे से मरा जा रहा था। फिर वो अपने लंड को आगे पीछे करने लगा। मुझे इतना मजा आ रहा था कि मैं बता नहीं सकता।

उसने मुझे करीब 15 मिनट तक चोदा और बाद में मेरी गांड में ही झड़ गया। साथ ही मेरा भी पानी निकल गया। आज मेरी लंड लेने की इच्छा पूरी हो गयी। इसलिए मैं बहुत खुश था।

समय देखा तो 5 बज रहे थे। मैं धीरे से शौचालय से बाहर निकला। थोड़ी देर बाद वह भी बाहर आ गया।

इतने में जब मैं स्टेशन आया तो बदनामी के डर से उस डिब्बे से उतर गया और उस लड़के से बचने के लिए दूसरे डिब्बे में चढ़ गया।

इस तरह मेरी लंड की चाहत भी पूरी हो गयी और लंड देने वाले को खुद मेरे बारे में पता नहीं चला।

यह थी मेरी गे सेक्स कहानी! धन्यवाद।

अगर आपको यह अनजान लड़के से गांड मरवाई गे सेक्स स्टोरी पसंद आई तो हमें कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं।

यदि आप ऐसी और गे सेक्स कहानियाँ पढ़ना चाहते हैं तो आप “Readxstories.com” पर पढ़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Delhi Escorts

This will close in 0 seconds